independence day 2019 celebration PM Narendra Modi speech 73 key points | स्वतंत्रता दिवस 2019: पीएम मोदी ने छठी बार लाल किले से किया देश को संबोधित, पढ़े उनके भाषण की 73 बड़ी बातें
नरेंद्र मोदी के लाल किले से भाषण की 73 बड़ी बातें

Highlightsप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का दूसरे कार्यकाल में लाल किले से पहला भाषणपीएम मोदी ने लगातार छठी बार लाल किले से दिया भाषण, कई बड़ी बातों का जिक्र

भारत आज अपना 73वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा है। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राजघाट जाकर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि दी। इसके बाद पीएम मोदी लाल किला पहुंचे जहां उन्होंने परंपरा के अनुसार तिरंगा झंडा फहराया और देश को संबोधित किया। पीएम मोदी ने लगातार छठी बार लाल किले की प्राचीर से देश को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने अपने सरकार की उपलब्धियां गिनाई और जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाये जाने सहित कई बड़ी बातों का जिक्र किया। पढ़ें उनके भाषण की 73 बड़ी बातें.....  

1. पीएम मोदी ने कहा कि जल्द ही चीफ ऑफ डिफेंस का नया पद बनाया जाएगा। पीएम मोदी ने कहा कि तीनों सेना के प्रमुखों पर एक चीफ नियुक्त होगा। उसे चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) कहा जाएगा।

2. पीएम मोदी ने कहा कि अभी तक हर दल की सरकार ने देश की भलाई में कुछ ना कुछ किया है, लेकिन अभी भी 50 फीसदी लोगों के घरों में पीने का पानी उपलब्ध नहीं है। लोगों को पीने के पानी के लिए कई तरह की मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। पीएम मोदी बोले कि हमारी सरकार अब हर घर में जल की ओर कदम बढ़ा रहे हैं. पीएम ने इस दौरान जल जीवन मिशन का ऐलान किया और साढ़े तीन लाख करोड़ रुपये के बजट का ऐलान किया।

3. सरकार के आने के 10 हफ्ते के अंदर ही अनुच्छेद 370 हटाना सरदार पटेल के सपनों को पूरा करने जैसा है। 10 हफ्ते के अंदर मुस्लिम बहनों को तीन तलाक से छुटकारा दिलाना एक बड़ी उपलब्धि है।

4. साल 2014 में मैं देश के लिए नया था। चुनाव से पूर्व मैं भारत भ्रमण कर देशवासियों की भावनाओं को समझने का प्रयास कर रहा था। लेकिन मैंने अनुभव किया कि लोगों में निराशा थी। लोग सोचते थे कि क्या ये देश बदल सकता है? जब 2019 में 5 साल के कठोर परिश्रम करने के बाद हम जनता के बीच गये तो देश बदल चुका था। लोग की सोच बदल चुकी थी।

5. आने वाले दिनों में जनसंख्या विस्फोट हमारे आने वाली पीढ़ी के लिए बड़ी समस्या खड़ी कर सकता है। हमारे देश में एक जागरूक वर्ग है जो इस बात को समझता है। इस जागरुकता को बढ़ाने की जरूरत है। छोटा परिवार रखकर भी आप देशभक्ति का प्रदर्शन करते हैं, परिवार को सीमित करने में ही देश का हित है।

6. किसान भाइयों को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत 90,000 करोड़ रुपये हस्तांतरित किये गये, किसानों के लिये पेंशन योजना शुरू की गयी।

7. अब 2019 से 2024 के मध्य का कालखंड देशवासियों की आकांक्षाओं और उनके सपनों को पूरा करने का कालखंड है। यह समय 21वीं सदी के भारत और लोगों के सपनों को पूरा करने के बारे में सोचने का समय है।

8. भारत जल संरक्षण के महत्व को समझता है और इसीलिए नया मंत्रालय ‘जल शक्ति’ बनाया गया, स्वास्थ्य संबंधी क्षेत्र को लोगों के अनुकूल और बेहतर बनाने के लिये कदम उठाये गये हैं।

9. हमें लोगों की समस्याओं के समाधान के बारे में सोचना है, बाधाएं हैं लेकिन हमें उनसे पार पाने के लिये काम करना है। समस्याओं का जब समाधान होता है तो स्वावलंबन का भाव पैदा होता है, समाधान से स्वावलंबन की ओर गति बढ़ती है, जब स्वावलंबन होता है तो अपने आप स्वाभिमान उजागर होता है और स्वाभिमान का सामर्थ्य बहुत होता है।

10. प्रधानमंत्री ने देश के विभिन्न हिस्सों में आई हालिया बाढ़ में जान गंवाने वाले लोगों के लिए शोक जताया और पीड़ितों को हर संभव मदद का भरोसा दिया।

11. जम्मू कश्मीर में पुरानी व्यवस्था से भ्रष्टाचार, भाई-भतीजावाद को बढ़ावा मिल रहा था। महिलाओं, बच्चों, दलित समुदाय के साथ अन्याय हो रहा था लेकिन अब ऐसा नहीं होगा।

12. लोगों का भरोसा हमें नई ताकत देता है। वर्ष 2019 का जनादेश दिखाता है कि निराशा ने जनमानस में आशा का रास्ता दिखाया।

13. जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 के कई प्रावधान हटाने और राज्य को दो केंद्रशासित प्रदेशों में बांटने के सरकार के कदम की पृष्ठभूमि में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि ‘हम समस्यों को न टालते हैं, न पालते हैं।’ 

14. जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में पुरानी व्यवस्था ने भ्रष्टाचार को बढ़ावा दिया। जब महिलाओं, बच्चों, दलितों और आदिवासियों की बात होती है तो उनके साथ अन्याय होता था। हम इसे कैसे स्वीकार करते। 

15. हम अलग तरीके से सोचते हैं और हमारे लिये भारत पहले है। राजनीति आती-जाती है लेकिन देश हित में कदम महत्वपूर्ण हैं।

16. प्रधानमंत्री ने जम्मू-कश्मीर पर लिए गए फैसले के बारे में कहा कि विभिन्न सरकारों ने गत 70 साल में कश्मीर मामले से निपटने की कोशिश की, पर कोई नतीजा नहीं निकला, इसलिए नए तरीके की जरूरत थी।

17. अनुच्छद 370 की वकालत करने वालों से देश पूछ रहा है कि अगर यह आर्टिकल इतना अहम था, तो फिर 70 साल तक इतना भारी बहुमत होने के बाद भी आपने उसे स्थायी क्यों नहीं किया, अस्थायी क्यों बनाए रखा: मोदी 

18. हर घर में पीने का पानी उपलब्ध कराने के उद्देश्य से हम जल-जीवन मिशन के लिये आगे बढ़ेंगे, केंद्र और राज्य साथ मिलकर काम करेंगे।

19. भारत के उज्ज्वल भविष्य के लिए हमें गरीबी से मुक्त होना ही है और पिछले 5 वर्षों में गरीबी कम करने की दिशा में, गरीबों को गरीबी से बाहर लाने की दिशा में बहुत सफल प्रयास हुए हैं।

20. राजनीति आएगी और जाएगी, लेकिन देश तथा देशहित हमारे लिए सर्वोपरि है।

21. जनसंख्या की बात करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने देश में आबादी नियंत्रण के लिये छोटे परिवार पर जोर दिया। 

22. जनसंख्या को लेकर बहुत जागरूक होने की जरूरत है। जिन्होंने इस पर ध्यान दिया, उन्हें सम्मान देने की आवश्यकता है। विभिन्न राज्यों की सरकारों को भी इस पर एक साथ आना होगा।

23. हमने 'ईज ऑफ डुडिंग बिजनेस' के लिए बहुत काम किया। दुनिया देख रही है कि भारत किस तरह आगे बढ़ रहा है। यह मेरे लिए ये एक पड़ाव है। हमें और आगे जाने है। हमें इसके लिए अपनी सोच को और बदलना होगा।

24. हमने कई पुराने कानून को खत्म किया। हमने हर दिन करीब एक कानून खत्म किया। देश के लोगों तक यह बात शायद नहीं पहुंची होगी। हमने 1400 से ज्यादा पुराने कानून खत्म किये।

25. हमने देश में गरीबी खत्म करने की दिशा में काम किया। आजादी के बाद सभी सरकारों ने अपने-अपने तरीके से प्रयास किये लेकिन क्या कारण था हमारे गरीबों के घर में शौचालय नहीं था, बिजली नहीं थी। हमारी माताओं-बहनों कई किलोमीटर पानी के लिए संघर्ष करना पड़ता है।

26. मुस्लिम बहनों पर तीन तलाक की तलवार हमेशा लटकती थी। सती प्रथा को खत्म कर सकते हैं तो तीन तलाक को क्यों नहीं?

27. साल 2019 के आम चुनाव का जिक्र करते हुए पीएम ने कहा- इस बार न कोई पार्टी चुनाव लड़ रही थी, न कोई मोदी चुनाव लड़ रहा था बल्कि इस बार जनता खुद चुनाव लड़ रही थी।

28. हम 100 लाख करोड़ रुपये आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए लगाएंगे।

29. भ्रष्‍टाचार और भाई-भतीजावाद से देश को काफी नुकसान हुआ। व्‍यवस्‍थाओं को चलाने वाले लोगों के दिल और दिमाग में बदलाव जरूरी है। भ्रष्‍टाचार और कालेधन को हटाने के लिए किए जाने वाले सभी प्रयासों का स्‍वागत है। इन मुद्दों ने पिछले 70 साल में देश को खोखला किया।

30. अभी 5 ट्रिलियन की अर्थव्यवस्था की बात कई लोगों को मुश्किल लग सकती है, लेकिन मुश्किल काम नहीं करेंगे तो देश कैसे आगे बढ़ेगा। आजादी के 70 सालों में देश 2 ट्रिलियन इकनॉमी तक पहुंचा था। 2014 से 19 तक हमलोग 2 से 3 ट्रिलियन तक पहुंच गए।

31. पहले ये फैसले भी पेपर पर अगर लिये जाते थे कि किसी क्षेत्र में रेलवे स्टेशन बनेंगे तो लोग उसे खुशी-खुशी स्वीकर करते थे। लेकिन अब समय बदला है। अब वे केवल स्टेशन से संतुष्ट नहीं होते। वे तुरंत पूछते हैं कि 'वंदे भारत एक्सप्रेस' हमारे क्षेत्र में कब चलेंगे। लोग ये पूछते हैं कि अब हवाई अड्डा कब बनेगा।

32. आने वाले पांच साल में हमारी अर्थव्यवस्था 5,000 अरब डॉलर की होगी और यह सपना हम सबका होना चाहिए।

33. भारत में आज सरकार स्थिर है। विश्व हमारे साथ व्यापार के लिए आतुर है। हमारे अर्थव्यवस्था का आधार मजबूत है।

34. वे लोग जो आतंकवाद का समर्थन करते हैं उनका चेहरा सामने आना चाहिए। बांग्लादेश, अफगानिस्तान, श्रीलंका भी आतंक से परेशान हैं। आतंक से लड़ने के लिए विश्व के सभी देशों को एक साथ आना चाहिए।

35. चार दिन बाद अफगानिस्तान आजादी का जश्न मनाएगा। यह उसकी आजादी का 100वां साल है। उन्हें शुभकामनाएं देता हूं।

36. पीएम मोदी ने कहा- 'क्या हम अपने देश को प्लास्टिक से आजाद करा सकते हैं? इस विचार को लागू करने का अब समय आ गया है। आईए, इस ओर 2 अक्टूबर तक बड़ा कदम उठाते हैं।'

37. मैं सभी दुकानदारों से आग्रह करता हूं कि दुकानदार अपने दुकान पर अब एक और बोर्ड लगाएं कि 'प्लास्टिक की थैली की अपेक्षा हमसे नहीं करें। 

38. हमें डिजिटल पेमेंट को अब बढ़ावा देना है। हमारा रूपे कार्ड तो अब सिंगापुर में भी चलता है। फिलहाल दुकानों पर आज नकद कल उधार बोर्ड लगा रहता है, अब डिजिटल पेमेंट को हां, नकद पेमेंट को ना का बोर्ड लगाने का वक्त है।

39. पर्यटन उद्योग को बढ़ाने पर पीएम मोदी ने कहा, 'मैं अपील करता हूं कि आप देश वासी 2022 यानी आजादी के 75 साल पूरे होने से पहले तक अपने परिवार के साथ भारत के 15 टूरिस्ट प्लेस पर जरूर घूमने जाएं। दुनिया में घूमने से पहले अपने देश को जानकर जाएं।

40. पीएम मोदी की किसानों से अपील- 'ये धरती हमारी मां है, इसे तबाह करने का हक हमें नहीं है, इसे सूखा, बीमार बनाने का हक नहीं है, क्या हम खेत में केमिकल फर्टिलाइजर का इस्तेमाल बंद कर सकते हैं।'

41. पीएम मोदी ने कहा- 'खेल के मैदानों में हम पहले बहुत कम नजर आते थे। आज दुनिया भर के मैदानों में देश के बेटे-बेटियां तिरंगा फहरा रहे हैं।' 

42. पीएम मोदी चंद्रयान का जिक्र कर कहा- 'वैज्ञानिकों ने नई उपलब्धि हासिल की है। हमारा चंद्रयान तेजी से आगे बढ़ रहा है।'

43. भ्रष्टाचार और कालाधन समाप्त करने के लिये उठाये गये हर कदम स्वागत योग्य हैं, इन समस्याओं के कारण देश को पिछले 70 साल में काफी नुकसान हुआ, हम हमेशा ईमानदारी को पुरस्कृत करेंगे।

44. अब चर्चा एक देश एक चुनाव को लेकर है, यह देश को महान बनाने के लिए अनिवार्य है।

45. पीएम मोदी ने कहा- ‘देशवासियों ने जो काम दिया, हम उसे पूरा कर रहे हैं। जम्मू-कश्मीर के पुनर्गठन को लेकर हर सरकार ने कुछ न कुछ प्रयास किया, लेकिन इच्छा के अनुरूप परिणाम नहीं मिले। जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के सपनों को पंख लगें, यह हम सबकी जिम्मेदारी है।'

46. हम उत्पादन बढ़ाने, निवेश को प्रोत्साहित करने के लिये सभी बाधाएं दूर करेंगे।

47. भारत आतंकवाद के खिलाफ मजबूती से लड़ रहा है, आतंकवाद का निर्यात करने वालों का असली चेहरा दुनिया के सामने लाना है।

48. संपत्ति सृजन देश के लिये महत्वपूर्ण सेवा है, संपत्ति सृजित करने वालों को संदेह की नजर से नहीं देखें। जब संपत्ति सृजित होती है, तभी उसका वितरण होगा। जो संपत्ति सृजित कर रहे हैं, हम उसका सम्मान करते हैं। 

49. देश के उज्ज्वल भविष्य के लिये स्थानीय उत्पादों का उपयोग करें।

50. हमारी प्राथमिकता ‘मेड इन इंडिया’ उत्पाद होना चाहिए, ग्रामीण अर्थव्यवस्था और एमएसएमई क्षेत्र में सुधार के लिये स्थानीय उत्पादों के उपयोग के बारे में क्या हम सोच सकते हैं।

51. हमें दो करोड़ घर बनाने हैं, हर गांव में ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी, 15 करोड़ घरों में पीने का पानी पहुंचाना है।

52. मुझे पता है कि लोग छुट्टियां मनाने विदेश जाते हैं लेकिन क्या हम आजादी की 75वीं वर्षगांठ 2022 से पहले देश के कम-से-कम 15 पर्यटन स्थलों को देखने जा सकते हैं।

53. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत को प्लास्टिक मुक्त बनाने का आह्वान किया।

54. मुझे भरोसा है कि भारत जल्द ही खुले में शौच मुक्त देश बन जाएगा।

55. हमारा सामर्थ्य हिन्द महासागर जितना अथाह है, हमारी कोशिशें गंगा की धारा जितनी पवित्र हैं, निरंतर हैं। सबसे बड़ी बात, हमारे मूल्यों के पीछे हजारों वर्ष पुरानी संस्कृति की प्रेरणा है।

56. हम जानते हैं कि हमारे लक्ष्य हिमालय जितने ही ऊंचे हैं, हमारे सपने अनगिनत-असंख्य तारों से भी ज्यादा हैं। लेकिन हम ये भी जानते हैं कि हमारे हौंसलों की उड़ान के आगे आसमान भी कुछ नहीं है।

57. हमें लकी कल के लिए लोकल प्रोडक्ट पर बल देना है, सुहाने कल के लिए लोकल, उज्जवल कल के लिए लोकल। जो गांव में बनता है पहले उसकी प्राथमिकता, वहां नहीं है तो तहसील में, उसके बाद जिले में और वहां भी न मिले तो राज्य में और मैं मानता हूं कि उसके बाहर हमे जाना नहीं पड़ेगा।

58. हम वेल्थ क्रिएटर को आशंका से नहीं देख सकते। आवश्यकता है कि वेल्थ क्रिएट करने वालों का देश में सम्मान हो। वेल्थ क्रिएट नहीं होगी तो वेल्थ डिस्ट्रीब्यूट नहीं होगी। वेल्थ डिस्ट्रीब्यूट नहीं होगी तो गरीब आदमी का भला नहीं हो सकेगा।

59. गत 5 वर्ष में हमारी सरकार ने रोजाना एक कानून को खत्म किया था, करीब 1450 कानून ख़त्म किए गए ताकि लोगों पर से बोझ कम हो सके। इस सरकार के 10 हफ्तों में भी 60 कानूनों को खत्म किया जा चुका है।

60. क्या आजादी के इतने साल बाद हम सामान्य नागरिक के जीवन से सरकार के दखल को खत्म नहीं कर सकते? आजाद भारत का मेरा मतलब है कि धीरे-धीरे सरकारें लोगों की जिंदगी से बाहर आएं और लोग अपनी जिंदगी जीने के लिए, अपने निर्णय करने लिए आजाद हों।

61. जिस तरह देशवासियों ने स्वच्छता के लिए अभियान चलाया, अब समय आ गया है कि पानी को बचाने के लिए भी कुछ ऐसा ही किया जाए। पानी को बचाने के लिए हमें 4 गुना रफ्तार से काम करना होगा।

62. जीएसटी के माध्यम से हमने वन नेशन-वन टैक्स के सपने को पूरा किया, ऊर्जा के क्षेत्र में वन नेशन-वन ग्रिड को भी पार किया। वन नेशन-वन मोबिलिटी कार्ड की व्यवस्था को हमने विकसित किया। अब देश में व्यापक रूप से चर्चा हो रही है कि एक देश-एक साथ चुनाव।

63. जम्मू-कश्मीर और लद्दाख सुख-समृद्धि और शांति के लिए भारत के लिए प्रेरक बन सकता है और भारत की विकास यात्रा में बहुत बड़ा योगदान दे सकता है।

64. अगर अनुच्छेद 370 इतना ही महत्वपूर्ण था तो 70 साल तक भारी बहुमत के बाद भी पूरानी सरकारों ने उसे स्थाई क्यों नहीं किया। लेकिन आप भी जानते थे ये सही नहीं है, पर इसे हटाने की आपको हिम्मत नहीं थी।

65. अनुच्छेद 370 के कारण घाटी के लोगों को कई सुविधाओं का फायदा नहीं मिल पा रहा था। वहां पर भ्रष्टाचार और अलगाववाद ने अपने पैर जमा लिए थे। वहां के दलितों, गुर्जर समेत अन्य लोगों को उनके अधिकार नहीं मिल पा रहे थे जो अब उन्हें मिलने वाले हैं।

66. पिछले 70 साल की व्यवस्थाओं ने जम्मू-कश्मीर में अलगाववाद तथा आतंकवाद को जन्म दिया है, परिवारवाद को बढ़ावा दिया है और भ्रष्टाचार तथा भेदभाव को मजबूती दी। 

67. हमने हमारी मुस्लिम बहनों को सामान अधिकार देने के लिए ट्रिपल तलाक के विरूद्ध ये महत्वपूर्ण निर्णय लिया। ये निर्णय राजनीति के तराजू से तोलने के निर्णय नहीं होते हैं, बल्कि सदियों तक माताओं-बहनों के जीवन की रक्षा की गारंटी देते हैं।

68. किसानों को आज 90 हजार करोड़ रुपये सीधे उनके खातों में दिए जा रहे हैं। हम मजदूर भाइयों और किसानों को पेंशन देने के लिए भी कदम बढ़ा रहे हैं।

69. साल 2014-19 तक पांच साल आपने मुझे सेवा का अवसर दिया, वह आवश्यकताओं की पूर्ति का दौर था और अब आकांक्षाओं की पूर्ति का कालखंड है।

70. हम ‘सबका साथ, सबका विकास’ का मंत्र लेकर हम चले थे लेकिन 5 साल में ही देशवासियों ने ‘सबका विश्वास’ के रंग से पूरे माहौल को रंग दिया।

71. अभी इस सरकार को 10 हफ्ते भी नहीं हुए हैं, लेकिन इस छोटे से कार्यकाल में भी सभी क्षेत्रों और दिशाओं में हर प्रकार के प्रयासों को बल दिया गया है और नए आयाम दिए गए हैं।

72. आज जब हम आजादी का पर्व को मना रहे हैं तब देश की आजादी के लिए अपना जीवन देने वाले, जवानी जेल में काटने वाले, फांसी के फंदे को चूम लेने वाले, सत्याग्रह के माध्यम से आजादी के स्वर भरने वाले, सभी बलिदानियों, त्यागी-तपस्वियों को मैं नमन करता हूं।

73. देश आजाद होने के बाद से इतने वर्षों में देश की शांति और सुरक्षा के लिए अनेक लोगों ने अपना योगदान दिया है। आज मैं उन सबको भी नमन करता हूं।


Web Title: independence day 2019 celebration PM Narendra Modi speech 73 key points
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे