IITs and IIMs of Indore can become Covid center, number of city infected crosses 3200 | इंदौर के आईआईटी और आईआईएम बन सकते है कोविड सेंटर, शहर संक्रमितों की संख्या 3200 के पार
विश्व स्वास्थ्य संगठन और भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, नई दिल्ली की चेतावनियों के मद्देनजर शहर में दस से पंद्रह हजार मरीजों के इलाज की व्यवस्था की जा रही हैं। 

Highlightsकोविड संक्रमित मरीजों के मामले में देश के 10 प्रमुख शहरों में शुमार इन्दौर में तमाम प्रयासों के बावजूद कोरोना संक्रमण पर काबू नहीं पाया जा सका है। इंदौर के आला अफसरों और जनप्रतिनिधियों ने मिलकर इलाज के लिए कई स्थानों को चिन्हीत किया है जिसमें आईआईटी एवं आईआईएम भी शामिल हैं।

इंदौर: देश के एक ही शहर में आईआईटी और आईआईएम होने के गौरव वाले इंदौर शहर में जल्द ही यह दोनों राष्ट्रीय स्तर के शैक्षणिक संस्थान कोविड सेंटर के रूप में नज़र आ सकते हैं। कोविड संक्रमित मरीजों के मामले में देश के 10 प्रमुख शहरों में शुमार इन्दौर में तमाम प्रयासों के बावजूद कोरोना संक्रमण पर काबू नहीं पाया जा सका है। विश्व स्वास्थ्य संगठन और भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, नई दिल्ली की चेतावनियों के मद्देनजर शहर में दस से पंद्रह हजार मरीजों के इलाज की व्यवस्था की जा रही हैं। 

इंदौर के आला अफसरों और जनप्रतिनिधियों ने मिलकर इलाज के लिए कई स्थानों को चिन्हीत किया है जिसमें आईआईटी एवं आईआईएम भी शामिल हैं। दोनों संस्थानों के डायरेक्टरों से कहा गया है कि वे संस्थान में प्रवेश तथा परीक्षाओं की तिथि को नए सिरे से निर्धारित करें। वइस संदर्भ में सांसद शंकर लालवानी ने बताया कि आईआईटी एवं आईआईएम में कोविड मरीजों के इलाज के लिए व्यवस्थाएँ जुटाई जा रही हैं। पहले चरण में यहाँ मरीजों को कोरेन्टाइन करने व दूसरे चरण में इलाज तक की व्यवस्था की जा रही हैं। दोनों संस्थानों में बड़ी संख्या में मरीज रखें जा सकते हैं।

इंदौर में संक्रमितों की संख्या 3,200 के पार

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (सीएमएचओ) प्रवीण जड़िया ने बृहस्पतिवार को बताया कि कोविड-19 से संक्रमित दो महिलाओं समेत तीन मरीजों की अलग-अलग अस्पतालों में पिछले दो दिन में इलाज के दौरान मौत हो गयी। इसके बाद जिले में इस महामारी की चपेट में आकर दम तोड़ने वाले मरीजों की तादाद बढ़कर 122 पर पहुंच गयी है।

 सीएमएचओ ने बताया कि जिले में कोविड-19 के 1,555 मरीजों को इलाज के बाद संक्रमणमुक्त होने पर अस्पतालों से छुट्टी दी जा चुकी है। कोविड-19 का प्रकोप कायम रहने के कारण मद्देनजर इंदौर जिला रेड जोन में बना हुआ है। जिले में कोरोना वायरस के प्रकोप की शुरूआत 24 मार्च से हुई, जब पहले चार मरीजों में इस महामारी की पुष्टि हुई थी।

Web Title: IITs and IIMs of Indore can become Covid center, number of city infected crosses 3200
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे