"मैंने सीएम आवास छोड़ा है, लेकिन मेरा संकल्प अभी भी मजबूत है", सियासी संकट के बीच बोले सीएम उद्धव ठाकरे

By रुस्तम राणा | Published: June 24, 2022 05:47 PM2022-06-24T17:47:54+5:302022-06-24T17:54:03+5:30

महाराष्ट्र के सीएम और शिवसेना के अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने कहा कि पार्टी ने पहले जिन विद्रोहों का सामना किया है, उनके बावजूद वह दो बार सत्ता में आई। सीएम ने कहा, मैंने मुख्यमंत्री आवास 'वर्षा' को छोड़ा है, लेकिन मेरा संकल्प अभी भी मजबूत है।

I may have left the CM’s bungalow, but my determination is still strong, says Uddhav Thackeray | "मैंने सीएम आवास छोड़ा है, लेकिन मेरा संकल्प अभी भी मजबूत है", सियासी संकट के बीच बोले सीएम उद्धव ठाकरे

"मैंने सीएम आवास छोड़ा है, लेकिन मेरा संकल्प अभी भी मजबूत है", सियासी संकट के बीच बोले सीएम उद्धव ठाकरे

Next
Highlightsसीएम ने कहा- शिवसेना पहले भी कर चुकी है ऐसी परिस्थिति का सामनाबागी नेता को लेकर सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा- मैंने शिंदे के लिए सब कुछ किया

मुंबई: सियासी संकट का सामना कर रहे महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने शुक्रवार वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए अपनी पार्टी के पदाधिकारियों से संपर्क किया। साथ ही इस मीटिंग में शिवसेना के अध्यक्ष ने कहा, कि पार्टी ने पहले जिन विद्रोहों का सामना किया है, उनके बावजूद वह दो बार सत्ता में आई। सीएम ने कहा, मैंने मुख्यमंत्री आवास 'वर्षा' को छोड़ा है, लेकिन मेरा संकल्प अभी भी मजबूत है।

पार्टी के पदाधिकारियों के साथ चर्चा करते हुए सीएम ठाकरे ने अपनी सेहत के बारे में भी जानकारी दी। सूत्रों के मुताबिक सीएम ने कहा, मेरी गर्दन और सिर में दर्द था, मैं ठीक से काम नहीं कर पा रहा था, मैं अपनी आँखें नहीं खोल सका लेकिन मुझे इसकी परवाह नहीं थी। शिवाजी महाराज हार गए लेकिन लोग हमेशा उनके साथ थे।

बागी नेता एकनाथ शिंदे का नाम लेते हुए शिवसेना के अध्यक्ष ने कहा, एकनाथ शिंदे के बेटे शिवसेना के सांसद हैं, मैंने उनके लिए सब कुछ किया। मेरे पास जो विभाग था वह शिंदे को दिया गया था। लेकिन वह मुझ पर कई आरोप लगा रहे हैं। मैंने एकनाथ शिंदे के लिए सब कुछ किया। 

वहीं महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे से मुलाकात के बाद शिवसेना नेता सचिन अहीर ने कहा कि सीएम के भाषण के बाद पार्टी के सभी पदाधिकारियों में एक नई ऊर्जा है। विधायक भले ही यहां न हों लेकिन पार्टी बरकरार है। पार्टी का पूरा आधार है और इसी भावना के साथ हम लड़ेंगे।

उधर, शिवसेना सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने वर्तमान परिस्थिति को लेकर कहा कि हम शिव सैनिक हैं और हम लड़ेंगे और जीतेंगे। वे (विद्रोही विधायक) जो कर रहे हैं वह कानूनी नहीं है और राजनीतिक रूप से भी संभव नहीं है। शिवसेना के साथ ऐसा पहली बार नहीं हो रहा है। पहले के समय की तरह, विद्रोही फिर सफल नहीं होंगे।

Web Title: I may have left the CM’s bungalow, but my determination is still strong, says Uddhav Thackeray

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे