Haryana Assembly Election 2019: Polling 21 october, BJP eyeing to retain power, Congress trying to return | हरियाणा चुनाव: बीजेपी की नजर सत्ता बरकरार रखने पर, वापसी की कोशिश में कांग्रेस, मतदान कल
Haryana Assembly Election 2019: Polling 21 october, BJP eyeing to retain power, Congress trying to return

Highlights हरियाणा के मुख्य निर्वाचन अधिकारी अनुराग अग्रवाल ने कहा कि 19,578 मतदान केंद्रों पर सुबह सात बजे से शाम छह बजे तक वोट डाले जाएंगे।प्रदेश में एक करोड़ 83 लाख से ज्यादा मतदाता हैं जिनमें से 85 लाख महिलाएं और 252 ट्रांसजेंडर हैं। विधानसभा चुनाव के लिए 27,611 वीवीपीएटी मशीनों का इस्तेमाल किया जाएगा।

हरियाणा की 90 सदस्यीय विधानसभा के लिए सोमवार को मतदान होना है और सत्ताधारी भाजपा का विपक्षी कांग्रेस तथा नवगठित जजपा से कड़ा मुकाबला है। राज्य में पार्टी नेतृत्व में बदलाव के बाद कांग्रेस को जहां वापसी करने की उम्मीद है, वहीं भाजपा ने इस चुनाव में ‘75 पार’ यानी 75 से ज्यादा सीटें जीतने का लक्ष्य रखा है। इस चुनाव में विभिन्न राजनीतिक दलों के 1,169 उम्मीदवार मैदान में हैं।

प्रदेश की 90 सदस्यीय विधानसभा में फिलहाल भाजपा के 48 सदस्य हैं। इंडियन नेशनल लोक दल (इनेलो) से अलग होकर बनी दुष्यंत चौटाला के नेतृत्व वाली जननायक जनता पार्टी (जजपा) भी लोकसभा चुनाव में खराब प्रदर्शन के बाद अपनी स्थिति में सुधार की कोशिश में लगी है। चौटाला परिवार में विवाद के बाद पिछले साल दिसंबर में यह पार्टी बनी थी। हरियाणा के मुख्य निर्वाचन अधिकारी अनुराग अग्रवाल ने कहा कि 19,578 मतदान केंद्रों पर सुबह सात बजे से शाम छह बजे तक वोट डाले जाएंगे।

पुलिस महानिदेशक मनोज यादव ने शनिवार को कहा कि सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं और चुनाव के लिए 75 हजार से ज्यादा पुलिसकर्मियों को लगाया गया है। प्रदेश में एक करोड़ 83 लाख से ज्यादा मतदाता हैं जिनमें से 85 लाख महिलाएं और 252 ट्रांसजेंडर हैं। विधानसभा चुनाव के लिए 27,611 वीवीपीएटी मशीनों का इस्तेमाल किया जाएगा।

प्रदेश में मुख्य मुकाबला भाजपा, कांग्रेस और जजपा के बीच है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने हालांकि दावा किया कि विपक्ष “अव्यवस्थित” है और भाजपा से कोई मुकाबला नहीं कर सकता। बसपा, आप, इनेलो-शिअद गठबंधन, स्वराज भारत और लोकतंत्र सुरक्षा पार्टी भी चुनाव मैदान में हैं। हालांकि, इनमें से किसी भी दल ने सभी 90 सीटों पर अपने उम्मीदवार नहीं उतारे हैं। भाजपा 2014 के विधानसभा चुनाव में पहली बार अपने दम पर हरियाणा में सत्ता में आई थी।

इस चुनाव में जो प्रमुख उम्मीदवार हैं, उनमें मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर (करनाल), पूर्व मुख्यमंत्री एवं कांग्रेस विधायक दल के नेता भूपेंद्र सिंह हुड्डा (गढ़ी सांपला-किलोई), रणदीप सिंह सुरजेवाला (कैथल), किरण चौधरी (तोशाम) और कुलदीप बिश्नोई (आदमपुर) तथा हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष कंवर पाल गुर्जर (जगाधरी) शामिल हैं।

इसके अलावा जजपा के दुष्यंत चौटाला (उचाना कलां), इनेलो के अभय सिंह चौटाला (ऐलनाबाद), प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सुभाष बराला (टोहाना), एक मात्र महिला मंत्री कविता जैन (सोनीपत), मंत्री रामबिलास शर्मा (महेंद्रगढ़), अनिल विज (अंबाला छावनी), ओ पी धनखड़ (बादली) और कैप्टन अभिमन्यु (नारनौंद) भी मैदान में हैं। भाजपा ने चुनाव में तीन खिलाड़ियों बबीता फोगाट (दादरी), योगेश्वर दत्त (सोनीपत के बड़ौदा) और संदीप सिंह (पिहोवा) को भी टिकट दिया है। 


Web Title: Haryana Assembly Election 2019: Polling 21 october, BJP eyeing to retain power, Congress trying to return
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे