Government's assurance to keep new agricultural laws postponed: Yechury | नये कृषि कानूनों को स्थगित रखने का ‘खोखला’ है सरकार का आश्वासन :येचुरी
नये कृषि कानूनों को स्थगित रखने का ‘खोखला’ है सरकार का आश्वासन :येचुरी

नयी दिल्ली, 22 जनवरी मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी(माकपा) महासचिव सीताराम येचुरी ने शुक्रवार को दावा किया कि तीन नये कृषि कानूनों को स्थगित रखने का केंद्र सरकार का आश्वासन ‘‘खोखला’’ है। साथ ही, उन्होंने पूछा कि क्या पंजाब विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए यह प्रस्ताव दिया गया है?

उल्लेखनीय है कि सरकार और किसानों के बीच शुक्रवार को वार्ता उस वक्त अटक गई, जब किसान संगठनों के नेता तीनों नए कृषि कानूनों को पूरी तरह वापस लिए जाने तथा न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) की कानूनी गारंटी दिए जाने की अपनी मांग पर लगातार अड़े रहे। हालांकि, केंद्र ने उनसे कहा कि वह इन कानूनों के क्रियान्वयन को 12 से 18 महीने तक स्थगित रखने के अपने प्रस्ताव पर पुनर्विचार करने के लिए तैयार है।

येचुरी ने एक ट्वीट में कहा, ‘‘‘सरकार के हठ के चलते 11वें दौर की वार्ता के बाद भी गतिरोध जारी है। राजपत्रित कानूनों को स्थगित नहीं रखा जा सकता। वे रद्द किये जाने तक लागू रहते हैं। इसलिए, उन्हें स्थगित रखने का आश्वासन खोखला है।

Disclaimer: लोकमत हिन्दी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।

Web Title: Government's assurance to keep new agricultural laws postponed: Yechury

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे