पहली बार रेल से अमेजन के माल की ढुलाई, पश्चिम बंगाल में सियालदह से दानकुनी सेवा शुरू, 5537 रुपये का किराया तय

By लोकमत न्यूज़ डेस्क on Tue, October 22, 2019 2:03pm

पायलट परियोजना के तहत रेलवे कम भीड़ भाड़ वाले समय में अपनी ईएमयू सेवाओं पर ई-कॉमर्स के माल की ढुलाई की अनुमति देगा। परियोजना फिलहाल तीन महीने के लिए शुरू की गयी है। रोजाना कुल सात मीट्रिक टन माल ले जाने की अनुमति दी गयी है। सामान के लिए रोजाना 5537 रुपये का किराया तय किया गया है।

Open in App

रेलवे ने सोमवार को रेल से अमेजन के माल की ढुलाई की शुरुआत कर दी। इसके तहत, पूर्वी रेलवे के अंतर्गत सियालदह-दानकुनी ईएमयू लोकल ट्रेन से अमेजन की खेप पहुंचायी गयी।

पायलट परियोजना के तहत रेलवे कम भीड़ भाड़ वाले समय में अपनी ईएमयू सेवाओं पर ई-कॉमर्स के माल की ढुलाई की अनुमति देगा। परियोजना फिलहाल तीन महीने के लिए शुरू की गयी है। रोजाना कुल सात मीट्रिक टन माल ले जाने की अनुमति दी गयी है। सामान के लिए रोजाना 5537 रुपये का किराया तय किया गया है।

अधिकारियों ने बताया कि भारतीय रेलवे में ईएमयू सेवाओं में आरक्षित खेप की पायलट परियोजना पहली बार चलायी गयी है। इसके जरिए अमेजन तेजी से अपना माल पहुंचा पाएगा और रेलवे को भी कम व्यस्तता वाले समय -दिन में ग्यारह बजे से शाम चार बजे के बीच एक निश्चित आमदनी होगी और मौजूदा व्यवस्था में कोई बाधा या असुविधा भी नहीं होगी।

प्रवक्ता ने कहा, ‘‘मौजूदा तंत्र पर कोई अतिरिक्त दबाव या भार के रेलवे को राजस्व सृजन का फायदा होगा वहीं अमेजन को भी सामान पहुंचाने में कम समय लगेगा।’’ उन्होंने कहा, ‘‘अमेजन ने दानकुनी में सुविधा केंद्र के कारण अपने माल को जल्दी पहुंचाने के लिए सियालदह से दानकुनी मार्ग को तरजीह दी। पायलट परियोजना की सफलता से अन्य मार्गों पर भी अमेजन और अन्य ई-कॉमर्स कंपनियां इसमें रुचि ले सकती हैं।’’ 

Open in App

संबंधित

चक्रवात ‘बुलबुल’ का कहर जारी: पश्चिम बंगाल में 10 लोगों की मौत, 2.73 लाख परिवार प्रभावित
Cyclone Bulbul: ​​​​​​पीएम मोदी और अमित शाह ने कहा- बंगाल को हरसंभव मदद, एनडीआरएफ की टीम तैयार 
चक्रवात ‘बुलबुल’ का बांग्लादेश पर कहर, दो की मौत, 21 लाख लोग सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाए गए
अयोध्या विवाद पर फैसला आने के बाद BJP को पश्चिम बंगाल में राजनीतिक लाभ मिलने की उम्मीद, हो सकती है पार्टी की बल्ले-बल्ले
Ayodhya Verdict: ‘मेरे भाइयों के बलिदान को मेरी मां ने 25 साल तक जीया’, कारसेवा में मारे गए थे

भारत अधिक खबरें

दिल्ली में प्रदूषण को लेकर बुलाई गई संसदीय समिति की बैठक रद्द, नहीं पहुंचे कई शीर्ष अधिकारी
चीनी बार्डर पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह,कहा- परमवीर चक्र विजेता सूबेदार जोगिंदर सिंह की स्मृति स्थली के दर्शन करने का सौभाग्य मिला
बिरसा मुंडा जयंती: झारखंड स्थापना दिवस पर पीएम मोदी ने आदिवासी स्वतंत्रता सेनानी को किया याद, दी श्रद्धांजलि
धनखड़ ने कहा- कुछ लोग अपनी ‘जुबान पर लगाम नहीं लगा रहे’, हर गेंद खेलने की आवश्यकता नहीं
अयोध्या मामलाः 5 एकड़ जमीन पर कानूनी राय ले रहा सेंट्रल वक्फ बोर्ड, रविवार को बैठक

और पढ़ें