भारत में न्याय व्यवस्था का खस्ताहाल, कोर्ट में केवल परतें उधेड़ी जाती, न्याय नहीं मिलता है: पूर्व सीजेआई रंजन गोगोई

By अनुराग आनंद | Published: February 14, 2021 12:31 PM2021-02-14T12:31:53+5:302021-02-14T13:32:53+5:30

पूर्व सीजेआई रंजन गोगोई ने कहा कि आप जजों की नियुक्ति वैसे नहीं कर सकते जैसे सरकार में अफसरों की होती है। ऐसे में न्यायव्यवस्था पर इसका सीधा असर पड़ता है।

Ex-CJI Ranjan Gogoi Says Judiciary Is 'Ramshackle' | भारत में न्याय व्यवस्था का खस्ताहाल, कोर्ट में केवल परतें उधेड़ी जाती, न्याय नहीं मिलता है: पूर्व सीजेआई रंजन गोगोई

पूर्व चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने न्यायव्यवस्था को लेकर बड़ा बयना दिया (फाइल फोटो)

Next
Highlightsपूर्व चीफ जस्टिस रंजन गोगोई नवंबर 2019 में सीजेआई के पद से रिटायर हुए थे।इसके बाद सरकार ने मार्च 2020 में रंजन गोगोई को राज्यसभा के लिए मनोनीत किया था।

नई दिल्ली: भारत के पूर्व मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई व सांसद ने एक टीवी कार्यक्रम के दौरान देश के न्यायवस्था को लेकर एक बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि देश के न्यायव्यवस्था का खस्ताहाल है।

लाइव लॉ के मुताबिक, पूर्व न्यायाधीश रंजन गोगोई ने भी यह माना कि अब कोई भी कोर्ट नहीं जाना चाहता, वह भी कोर्ट नहीं जाना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि जो लोग रिस्क उठा सकते हैं वही अदालत का रुख करते हैं।

पूर्व सीजेआई रंजन गोगोई ने कहा, 'कौन कोर्ट जाता है?

एक न्यूज चैनल के कार्यक्रम में पूर्व सीजेआई ने कहा, 'कौन कोर्ट जाता है? आप अदालत जाते हैं और पछताते हैं।' रंजन गोगोई ने आगे कहा कि बड़े कॉर्पोरेट ही अदालतों का रुख करत हैं क्योंकि ये जोखिम उठा सकते हैं। आम लोग कोर्ट नहीं जाते हैं क्योंकि वह जोखिम को नहीं उठा सकते हैं या फिर जोखिम उठाने में उन्हें डर लगता है।

रंजन गोगोई नवंबर 2019 में सीजेआई के पद से रिटायर हुए

सुप्रीम कोर्ट के पूर्व सीजेआई रंजन गोगोई नवंबर 2019 में सीजेआई के पद से रिटायर हुए थे। इसके बाद नरेंद्र मोदी सरकार ने मार्च 2020 में रंजन गोगोई को राज्यसभा के लिए मनोनीत किया था। लोकसभा में टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा के सवाल के बाद कानून ऐक्शन लेने के सवाल के जवाब में पूर्व चीफ जस्टिस ने कहा, 'अगर आप अदालत जाते हैं तो आप अपने निजी मामलो को कोर्ट में सार्वजनिक करते हैं। आपको कभी भी फैसला नहीं मिलता है।'

पूर्व सीजेआई रंजन गोगोई ने जजों की नियुक्ति पर सवाल उठाया-

पूर्व सीजेआई रंजन गोगोई ने कहा कि आप जजों की नियुक्ति वैसे नहीं कर सकते जैसे सरकार में अफसरों की होती है। इस दौरान भारतीय न्याय व्यवस्था में बड़े बदलावों की बात भी कही। उन्होंने कहा कि आप 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था चाहते हैं लेकिन आपकी न्याय व्यवस्था जर्जर हालत में है।

Web Title: Ex-CJI Ranjan Gogoi Says Judiciary Is 'Ramshackle'

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे