enam platform in lockdown becomes helpful, 60 mandis of Maharashtra joined, goods sold on 11 | लॉकडाउन में “enam.gov.in” प्लेटफार्म बन रहा सहारा, महाराष्ट्र की 60 मंडियां जुड़ीं, 11 पर किसानों ने बेचा सामान
ईनाम के पोर्टल से लिया गया स्क्रीनशॉट।

Highlightsलॉकडाउन में “ई-नाम” प्लेटफार्म  किसानों का सहारा बन रहा है. किसानों काे फसल और अनाज के लिए खरीदार मिल सके, इसके लिए केंद्र ने ई-नाम प्लेटफार्म को अधिक सशक्त बनाने पर काम शुरू कर दिया है।केंद्र के ईनाम पोर्टल पर महाराष्ट्र की पांच दर्जन मंडियों को जोड़ा गया है। इनमें से शुक्रवार को 11 मंडियों में किसानों ने घर बैठे अपनी फसलें बेचीं।

लॉकडाउन में “ई-नाम” प्लेटफार्म  किसानों का सहारा बन रहा है. किसानों काे फसल और अनाज के लिए खरीदार मिल सके, इसके लिए केंद्र ने ई-नाम प्लेटफार्म को अधिक सशक्त बनाने पर काम शुरू कर दिया है। केंद्र के ईनाम पोर्टल पर महाराष्ट्र की पांच दर्जन मंडियों को जोड़ा गया है। इनमें से शुक्रवार को 11 मंडियों में किसानों ने घर बैठे अपनी फसलें बेचीं।

केंद्रीय स्वास्थ मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा है कि किसान केंद्रीय कृषि मंत्रालय की ओर से शुरू इलेक्ट्रॉनिक प्लेटफॉर्म राष्ट्रीय कृषि बाजार (ई-नाम) पर पहले से 585 मंडियां जुड़ी हुई हैं। इसमें देश के 16 राज्य और दो संघ शासित प्रदेश की मंडियां शामिल हैं। किसान ई-नाम एप मोबाइल पर डाउनलोड करके इसका लाभ उठा सकते हैं।

लव अग्रवाल ने कहा कि किसान अपना अनाज और फसलें बेच सकें इस लिहाज से यह सुविधा काफी अहम है। यह प्लेटफार्म सामाजिक दूरी बनाए रखते हुए कामकाज करने में भी यह मददगार साबित होगा। उन्होंने कहा कि ये नई सुविधाएं कोविड- 19 के खिलाफ हमारी लड़ाई की दिशा में महत्वपूर्ण कदम है, ताकि इस समय किसानों को अपने खेतों के पास ही बेहतर कीमतों पर अपनी उपज बेचने में मदद की जा सके। किसानों को बिना मंडियों में जाए अपनी फसल बेचने के लिए प्लेटफार्म मिल सके। इसके लिए अन्य राज्यों की 400 मंडियों को ई-नाम से जोड़ने पर काम चल रहा है। इसमें किसानों को ऐसी सुविधा दी गई है कि वे थोक मंडियों न जाकर सीधे भंडारों व वेयरहाउस में ई-नाम प्लेटफार्म से उसे बेच पाएंगे।

30 लाख लोगों ने डाउनलोड किया आरोग्य सेतु एप

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कि कोरोना वायारस से बचाव के लिए आयुष मंत्रालय की ओर से आरोग्य सेतु एप गुरूवार को शुरू किया गया है। इसमें लोगों को बताया गया है कि वह कोरोना संक्रमण की जांच कैसे करें? कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए अपनी रोग प्रतिरधक छमता को कैसे बढ़ाएं? कोरोना वायरस से बचाव और जागरूकता के लिए 24 घंटे में 30 लाख लोगों ने इसे डाउनलोड किया है।

Web Title: enam platform in lockdown becomes helpful, 60 mandis of Maharashtra joined, goods sold on 11
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे