'अपना दल' के संस्थापक सोनेलाल पटेल की मौत के 13 साल बाद उठी सीबीआई जांच की मांग, केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल हैं खामोश

By आशीष कुमार पाण्डेय | Published: August 7, 2022 10:55 PM2022-08-07T22:55:58+5:302022-08-07T23:01:43+5:30

अपना दल के संस्थापक सोनेलाल पटेल की मौत के करीब 13 साल बाद पत्नी कृष्णा पटेल ने की सीबीआई जांच की मांग।

Demand for CBI inquiry arose 13 years after the death of Apna Dal founder Sonelal Patel | 'अपना दल' के संस्थापक सोनेलाल पटेल की मौत के 13 साल बाद उठी सीबीआई जांच की मांग, केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल हैं खामोश

फाइल फोटो

Next
Highlights'अपना दल' की संस्थापक डॉक्टर सोनेलाल पटेल के मौत की सीबीआई जांच की मांग उठीअपना दल कमेरावादी की कृष्णा पटेल ने 13 साल पहले हुई सोनेलाल पटेल की मौत को संदिग्ध बतायावहीं सोनेलाल पटेल की बेटी और केंद्र में मंत्री अनुप्रिया पटेल ने इस मामले में कोई टिप्पणी नहीं की है

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में पटेल समुदाय के उत्थान के लिए 'अपना दल' की स्थापना करने वाले डॉक्टर सोनेलाल पटेल के निधन को संदिग्ध बताते हुए सीबीआई जांच की मांग उठी है। इस मामले में दो तथ्य बेहद दिलचस्प हैं। पहला यह की पटेल के मौत के करीब 13 साल बाद यह मांग उठी है और दूसरा इस मांग को करने वाले और कोई नहीं बल्कि सोनेलाल पटेल की पत्नी कृष्णा पटेल के धड़े ने उठायी है, जिसे 'अपना दल' कमेरावादी कहा जाता है।

यहां एक और बात गौर करने वाली है कि जिस सोनेलाल पटेल की मौत को संदिग्ध माना जा रहा है और सीबीआई जांच की मांग की जा रही है। उन्हीं सोनेलाल पटेल की बेटी अनुप्रिया पटेल अपना दल (सोनेलाल) की प्रमुख होने के साथ-साथ केंद्र की मोदी सरकार में मंत्री हैं। लेकिन आश्चर्य है कि अनुप्रिया पटेल की ओर से न तो इस तरह की कोई मांग की गई है और न ही उन्होंने 'अपना दल' कमेरावादी की मांग का समर्थन किया है।

अगर केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल अपने पिता की मौत की जांच सीबीआई के कराने के लिए कहतीं तो निश्चित ही केंद्र सरकार उनकी मांग को गंभीरता से लेता लेकिन चूंकि मांग सोनेलाल पटेल की पत्नी वाले धड़े ने की है। इसलिए इस मांग को गंभीरता से नहीं देखा जा रहा है। उसके बावजूद अपना दल कमेरावादी की अध्यक्ष कृष्णा पटेल ने केंद्र से अपील की है कि वो उनके पति की मौत की जांच सीबीआई कराई जाए।

इतना ही नहीं कृष्णा पटेल ने कहा कि योगी सरकार में उन्हें और सिराथु विधानसभा से यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य को चुनाव हराने वाली अपनी बेटी की जान को खतरा है। लिहाजा उन्हें सुरक्षा दी जाए और अगर केंद्र उनकी बात नहीं सुनती है तो इस मुद्दे के लेकर अपना दल कमेरावादी 23 अगस्त को उत्तर प्रदेश के सभी जिला मुख्यालयों पर धरना-प्रदर्शन करेगा।

इसके अलावा अपना दल कमेरावादी ने रविवार को बयान जारी करते हुए कहा कि अपना दल कमेरावादी के प्रांतीय पदाधिकारियों, मंडल और जिला अध्यक्षों की लखनऊ के दारुलशफा में हुई बैठक में यह तय किया गया कि पार्टी 22 सितंबर को वाराणसी में अपना दल कमेरावादी का राष्‍ट्रीय अधिवेशन बुलायेगी और पार्टी आगामी नगर निकाय चुनाव में पूरे दमखम के साथ अपने प्रत्याशियों को उतारेगी।

यूपी में सपा के साथ गठबंधन करने वाली अपना दल कमेरावादी की प्रमुख कृष्णा पटेल ने बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि '' हम आगामी 2024 के लोकसभा चुनाव चुनाव के लिए जनहित में मजबूत विपक्षी एकता चाहते हैं। इसके लिए तमाम छोटे-बड़े दलों को एक साथ लाने का प्रयास किया जा रहा है। हम मोर्चा बनाकर अप्रत्याशित रूप से सफलता हासिल करेंगे।’’

मालूम हो कि डॉक्टर सोनेलाल पटेल ने साल 1995 में अपना दल का गठन किया था और साल 2009 में संदिग्ध परिस्थितियों में सोनेलाल पटेल की मौत हो गई थी। इस संबंध में उनकी पत्नी कृष्णा पटेल की अगुवाई वाला अपना दल कमेरावादी आरोप लगाता है कि डॉक्टर सोनेलाल पटेल की मौत साजिश के तहत हुई हत्या थी।

Web Title: Demand for CBI inquiry arose 13 years after the death of Apna Dal founder Sonelal Patel

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे