प्रदूषण की मार, दिल्ली-NCR में अगले आदेश तक स्कूल-कॉलेज बंद, घर से काम करेंगे 50 फीसदी कर्मचारी

By विनीत कुमार | Published: November 17, 2021 08:07 AM2021-11-17T08:07:45+5:302021-11-17T08:16:11+5:30

दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण की स्थिति को देखते हुए CAQM ने मंगलवार रात कई दिशा-निर्देश जारी किए हैं। इसके तहत सभी स्कूल-कॉलेजों को बंद रखने का निर्देश दिया गया है।

Delhi Pollution update schools, colleges Delhi-NCR Closed, offices asked 50 percent WFH | प्रदूषण की मार, दिल्ली-NCR में अगले आदेश तक स्कूल-कॉलेज बंद, घर से काम करेंगे 50 फीसदी कर्मचारी

दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण से बुरा हाल (फाइल फोटो)

Next
Highlightsदिल्ली-एनसीआर के कार्यालयों के 50 फीसदी कर्मचारियों को घर से काम करने के निर्देश।स्कूल-कॉलेज बंद, ऑनलाइन जारी रह सकते हैं क्लास, मंगलवार रात CAQM ने जारी किए निर्देश।ट्रकों की एंट्री बैन की गई, कुछ अपवादों को छोड़ दिल्ली-एनसीआर में निर्माण कार्य पर भी रोक लगाई गई।

नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (दिल्ली-एनसीआर) में खराब हवा और प्रदूषण की वजह से बने चिंताजनक हालात को देखते हुए सभी स्कूलों, कॉलेजों और शैक्षणिक संस्थानों को अगले आदेश तक बंदर रखने के निर्देश दे दिए गए है। ऐसे में कुछ शिक्षण संस्थान जो कोविड-19 महामारी के कारण बंद रहने के बाद खुलने लगे थे, उन्हें अब वापस ऑनलाइन मोड पर निर्भर होना होगा।

कमिशन फॉर एयर क्वालिटी मैनेजमेंट (CAQM) ने मंगलवार रात दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान और उत्तर प्रदेश सरकार को दिल्ली उसके आसपास के इलाकों में प्रदूषण की स्थिति को देखते हुए कई दिशा-निर्देश जारी किए। 

दरअसल, मंगलवार को दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण संकट पर एक आपात बैठक के बाद ये निर्देश दिए गए हैं। इन निर्देशों को तत्काल प्रभाव से लागू किया जाना है। राज्य सरकारों को 22 नवंबर को इसके संबंध में अनुपालन रिपोर्ट भी दाखिल करनी है।

प्रदूषण को देखते हुए क्या है नई गाइडलाइन

घर से काम करेंगे 50 फीसदी लोग: CAQM ने निर्देश दिया है कि दिल्ली-एनसीआर में सरकारी कार्यालयों में कम से कम 50 प्रतिशत कर्मचारियों को 21 नवंबर तक घर से काम करने की अनुमति दी जाए। निजी प्रतिष्ठानों में भी वाहनों के प्रदूषण में कटौती के लिए इसे प्रोत्साहित किये जाने का निर्देश है।

ट्रकों की एंट्री बैन: जरूरी चीजों को लाने वाले ट्रकों को छोड़ सभी अन्य ट्रकों की दिल्ली में 21 नवंबर तक एंट्री पर रोक लगा दी गई है।

निर्माण कार्य बंद: दिल्ली-एनसीआर में अपवादों को छोड़ सभी निर्माण कार्यों पर 21 नवंबर तक रोक लगा दिया गया है। अपवादों में रेलवे सर्विस/ स्टेशन, मेट्रो रेल कॉरपोरेशन सर्विस, एयरपोर्ट और इंटर स्टेट बस टर्मिनल्स, राष्ट्रीय सुरक्षा और रक्षा से जुड़े निर्माण कार्य आदि शामिल हैं।

प्रदूषण फैलाने वाले वाहनों पर नजर: दिल्ली-एनसीआर की सरकारों को स्पष्ट रूप से प्रदूषण फैलाने वाले वाहनों पर नजर रखने को कहा गया है। साथ ही यातायात के सुचारू संचालन के लिए ट्रैफिक टास्क फोर्स की टीमों को तैनात किए जाने के निर्देश हैं।

छह थर्मल प्लांट बंद: दिल्ली के 300 किलोमीटर के दायरे में स्थित 11 थर्मल प्लांटों में से छह को 30 नवंबर तक बंद करने के निर्देश हैं।

दिल्ली की वायु गुणवत्ता 'गंभीर' श्रेणी में

दिल्ली में मंगलवार को वायु गुणवत्ता और खराब होकर ‘गंभीर’ श्रेणी में चली गई, जिसने चिंता बढ़ा दी है।  24 घंटे का औसत वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 403 दर्ज किया गया। यह मंगलवार सुबह तक ‘बहुत खराब’ श्रेणी में था और 396 दर्ज किया गया था। 

वहीं, मंगलवार शाम चार बजे गाज़ियाबाद में एक्यूआई 356, ग्रेटर नोएडा में 361, गुरुग्राम में 369 और नोएडा में 397 दर्ज किया गया। यह ‘बहुत खराब’ श्रेणी में आता है। पृथ्वी विज्ञान मंत्राय के वायु गुणवत्ता निगरानी ‘सफर’ के मुताबिक, एक्यूआई बुधवार को भी ‘गंभीर’ श्रेणी में ही रहेगा। 
 

Web Title: Delhi Pollution update schools, colleges Delhi-NCR Closed, offices asked 50 percent WFH

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे