Delhi Police DCP North Monika Bhardwaj: Rehan, the owner of the building against whom a case has been registered under section 304 IPC, is currently absconding. | दिल्ली: आग लगने से 43 लोगों की मौत के मामले में भवन मालिक के खिलाफ आईपीसी की धारा 304 के तहत दर्ज हुआ केस
शॉर्ट सर्किट के कारण आग लगी थी। बीजेपी उन परिवारों के परिवारों को 5-5 लाख रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान करेगा और घायलों के परिवार को मदद स्वरूप 25000 रुपये दिए जाएंगे। "

Highlights'43 लोगों की मौत हुई है, जबकि घायलों को एलएनजेपी और लेडी हार्डिंज अस्पतालों में भर्ती कराया गया है।इस मामले को क्राइम ब्रांच को ट्रांसफर कर दिया गया है, फॉरेंसिक टीम जल्द ही घटनास्थल पर पहुंचेगी।

दिल्ली पुलिस डीसीपी नॉर्थ मोनिका भारद्वाज ने अनाज मंडी में आग लगने के मामले में भवन मालिक के खिलाफ आईपीसी की धारा 304 तहत मामला दर्ज किया गया है। पुलिस के मुताबिक, आरोपी फिलहाल फरार है। 

बता दें कि दिल्ली के रानी झांसी रोड स्थित अनाज मंडी के पास एक घर में आग लगने से 43 लोगों की मौत हो गई है। इस घटना के बाद नॉर्थ ईस्ट दिल्ली से बीजेपी सांसद, मनोज तिवारी ने दिल्ली अग्नि कांड के घटना स्थल का दौरा किया। उन्होंने कहा, "यह एक दुखद घटना है। शुरुआती जानकारी के अनुसार, शॉर्ट सर्किट के कारण आग लगी थी। बीजेपी उन परिवारों के परिवारों को 5-5 लाख रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान करेगा और घायलों के परिवार को मदद स्वरूप 25000 रुपये दिए जाएंगे। "

आपको बता दें कि इस घटना की खबर सुनते ही मौके पर फायर ब्रिगेड की गाड़ियां पहुंच गई। घर में फंसे करीब 50 लोगों को बाहर निकाला गया है। इस घटना  के बाद घायलों को दिल्ली के चार अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती किया गया है। 
इस घटना के तुरंत बाद दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर दुख जताया है। उन्होंने कहा कि आग लगने की खबर दुखद है। बचाव अभियान चल रहा है, दमकलकर्मी पूरी कोशिश कर रहे हैं। 

इसके अलावा आपको बता दें कि देश के गृह मंत्री ने घटना के बाद दिल्ली के आलाधिकारियों को तत्काल आधार पर इस घटना के पीड़ितों को हर संभव सहायता प्रदान करने के निर्देश दिए हैं।

एएनआई के मुताबिक, दिल्ली पुलिस के पीआरओ एएस रंधावा ने कहा, '43 लोगों की मौत हुई है, जबकि घायलों को एलएनजेपी और लेडी हार्डिंज अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। प्रथम दृष्टया लगता है कि शॉर्ट सर्किट की वजह से आग लगी। वहां रखे हुए प्लास्टिक चीजों की वजह से बहुत ज्यादा धुआं हुआ। इस मामले को क्राइम ब्रांच को ट्रांसफर कर दिया गया है, फॉरेंसिक टीम जल्द ही घटनास्थल पर पहुंचेगी।'

रविवार सुबह करीब 5 बजे लगी इस भीषण आग में 43 लोगों की मौत हो गई। 

इस घटना में मारे गए ज्यादातर लोग इसी फैक्ट्री में काम करने वाले मजूदर थे, जो काम के बाद वहीं सो रहे थे। मृतकों में ज्यादातर लोग बिहार और उत्तर प्रदेश के बताए जा रहे हैं। 

Web Title: Delhi Police DCP North Monika Bhardwaj: Rehan, the owner of the building against whom a case has been registered under section 304 IPC, is currently absconding.
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे