Cyclone Nisarga LIVE Updates: 40000 people evacuated in mumbai | Cyclone Nisarga: मुंबई तट पर चक्रवाती तूफान निसर्ग ने दी दस्तक, 40000 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेजा गया
चक्रवात ‘निसर्ग’: बांद्रा-वर्ली समुद्रसेतु पर यातायात निलंबित (लोकमत फाइल फोटो)

Highlightsमुंबई और ठाणे, रायगढ़ तथा पालघर जैसे पड़ोसी जिलों में भारी बारिश की चेतावनी दी गई है.महाराष्ट्र्र और गुजरात ने आपदा से मुकाबले के लिए राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) के दलों को तैनात कर दिया है जिन क्षेत्रों के चक्रवात से प्रभावित होने की आशंका है वहां से लोगों को सुरक्षित निकाला जा रहा है।

महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले में अलीबाग में दस्तक देने वाले चक्रवाती तूफान ‘निसर्ग’ के मद्देनजर मुंबई में समुद्र तट के समीप रह रहे 40,000 से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाया गया है। बृहन्मुंबई महानगरपालिका ने बताया कि जब चक्रवाती तूफान चला जाएगा तो इन लोगों को स्वास्थ्य जांच के बाद घर भेजा जाएगा।

नगर निकाय ने एक विज्ञप्ति में कहा, ‘‘बीएमसी ने समुद्र तटों और भूस्खलन के लिहाज से संवदेनशील स्थानों के समीप वाले इलाकों से 10,840 लोगों को नगर निकाय के 35 स्कूलों में स्थानांतरित किया है, जहां रहने की अस्थायी व्यवस्था की गई है। उन्हें भोजन और पानी मुहैया कराया गया है।’’ उसने कहा कि बीएसमी की अपील के बाद इसके अलावा करीब 30,000 लोग खुद इन अस्थायी शिविरों में गए हैं। बीएमसी को शहर में पेड़ गिरने की 37 शिकायतें मिली हैं लेकिन किसी को चोट आने की खबर नहीं है।

मुंबई पुलिस ने यह भी कहा कि दक्षिण मुंबई में कोलाबा, मध्य मुंबई में वरली और दादर तथा पश्चिमी मुंबई में जुहू और वर्सोवा जैसे समुद्र तटों के समीप वाले इलाकों में रहने वाले सैकड़ों लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाया गया है। पुलिस ने मुंबई में समुद्र किनारों पर सुरक्षा बढ़ा दी है और वहां सीआरपीसी की धारा 144 भी लागू कर दी है।

मुंबई पुलिस ने ट्वीट किया, ‘‘मु्ंबई हमने कई तूफानों का एक साथ मिलकर सामना किया है। यह चक्रवात भी गुजर जाएगा। हमेशा की तरह बस सभी एहतियाती कदम उठाए, दिशा-निर्देशों का पालन करें और किसी अफवाह पर ध्यान न दें। केवल आधिकारिक सूत्रों पर भरोसा करें।’’ बीएमसी आयुक्त इकबाल सिंह चहल ने भी लोगों से अपने घरों से बाहर न निकलने और शहर के प्रशासन का सहयोग करने के लिए कहा है। 

गुजरात में तटीय इलाकों से हजारों लोगों को गया निकाला

चक्रवाती तूफान ‘निसर्ग’ के राज्य में पहुंचने से पहले गुजरात के वलसाड और नवसारी जिलों के तटीय इलाकों में रहने वाले करीब 43,000 लोगों को वहां से हटा कर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। राज्य सरकार ने प्रेस विज्ञप्ति में कहा कि राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) के 13 दल और राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल (एसडीआरएफ) के छह दलों को विभिन्न स्थानों पर तैनात किया गया है।

सरकार ने कहा कि एनडीआरएफ के पांच और बलों को बुलाया गया है। वलसाड के कलेक्टर आर. आर. रवाल ने कहा, ‘‘ हमने अभी तक तटीय इलाकों पर रहने वाले करीब 32,000 लोगों को अस्थायी आश्रय गृहों में भेजा है। अभी बादल छाए हैं लेकिन हवा चलनी अभी शुरू नहीं हुई है।’’

एक अन्य अधिकारी ने बताया कि नवसारी जिले के विभिन्न गांवों से करीब 11,000 लोगों को निकाला गया है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने चक्रवात के गुजरात के तट पर ना पहुंचने का भी संकेत दिया है और कहा है कि राज्य के तटीय इलाकों में तेज हवाएं चलने और भारी बारिश के साथ इसका असर जरूर दिखेगा।

Web Title: Cyclone Nisarga LIVE Updates: 40000 people evacuated in mumbai
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे