Cyclone Nisarga Brihanmumbai Municipal Corporation BMC advice dos And donts for residents | Cyclone Nisarga: मुंबई में निसर्ग चक्रवात की दस्तक, बीएमसी ने जारी की गाइडलाइन, बताया- क्या करें और क्या नहीं
मुंबई में निसर्ग की दस्तक, जानें क्या करें और क्या नहीं (फाइल फोटो)

Highlightsबीएमसी ने मुंबई के लोगों को इस परिस्थिति में घरों में ही रहने की सलाह दी है, बहुत जरूरत पड़ने पर ही बाहर निकलेबीएमसी के अनुसार अगर कार में हैं तो अपने साथ हथौड़ा या कोई भारी चीज भी जरूर रखें, देखिए पूरी लिस्ट

चक्रवात निसर्ग अगले कुछ घंटों में मुंबई में दस्तक दे देगा। करीब 129 सालों के बाद ये पहला मौका है जब मुंबई इस तरह के शक्तिशाली तूफान का सामना कर रहा है। निसर्ग तेजी से महाराष्ट्र और गुजरात के तटीय क्षेत्रों की ओर बढ़ रहा है और इसका कुछ असर कर्नाटक और गोवा में भी देखा जा सकता है। 'निसर्ग' चक्रवात बुधवार को महाराष्ट्र के समुद्री तट से टकराएगा। तूफान के महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले स्थित अलीबाग में टकराने की आशंका है। 

इस दौरान हवा की गति 100-110 किलोमीटर प्रतिघंटा रहने का अनुमान है। हवाओं की रफ्तार बढ़कर 120 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार तक जा सकती है। इस खतरे से निपटने के लिए एनडीआरएफ समेत सभी एजेंसिया तैयार है। हालांकि सबसे ज्यादा चिंता बेहद घने मुंबई महानगर को लेकर है। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने भी लोगों से अगले दो दिन तक घरों में रहने की अपील की है। वहीं, बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) ने भी नागरिकों के लिए एक एडवायजरी जारी की है, जिसमें बताया गया है कि इस गंभीर स्थिति में क्या करें और क्या नहीं। 

तूफान के खतरे के बीच क्या करें

- अपने घर के बार आपने कोई हल्की चीज रखी है तो उसे अंदर कर लें या फिर मजबूती से बांध दे।

- घर में रहना ज्यादा सही होगा। हालांकि, अगर किसी विशेष परिस्थिति में अपने कार में घर से बाहर निकलते भी हैं तो साथ में हथौड़ा या कोई ऐसी चीज साथ में जरूर रखें जिससे जरूरत पड़ने पर कार के शीशे या दरवाजे को तोड़ा जा सके। 

- अपने पास बत्ती या बैट्री से चलने वाली चीजों को तैयार रखें।

- महत्वपूर्ण दस्तावेज और ज्वेलरी वगैरह प्लास्टिक के बैग में पैक कर दें।

- टीवी और रेडियो की ओर से प्रसारित की जाने वाली सूचनाओं पर हमेशा ध्यान रखें।

- किसी भी इमरजेंसी में उठाए जाने वाले कदमों का अपने घर में अभ्यास करते रहें।

- अगर आप कच्चे घर में या फिर झोपड़ी में रहते हैं तो इस बात की तैयारी कर लें कि घर की जगह का बेहतर इस्तेमाल किस तरह कर सकते हैं।

- इमरजेंसी किट को हमेशा तैयार रखें।

- घर की खिड़कियों से दूर रहें। कुछ खिड़कियों को बंद रखें जबकि कुछ खुली भी रखें ताकि घर में हवा का प्रेशन बराबर बना रहे।

- घर के बीच में रहे और कोनों से दूर रहें। 

- जरूरत पड़ने पर किसी भारी फर्नीचर के नीचे छिपे या उसे मजबूती से पकड़ कर रखे।

- अपने सिर और गर्दन का बचाव करने के लिए हाथों का इस्तेमाल करें।

- बिजली की जिन चीजों का इस्तेमाल जरूरी नहीं है, उसके पावर काट दें।

- पीने के पानी को जमा कर के एक सुरक्षित जगह रख लें।

- जो लोग फंसे हो, उनकी मदद करें। पहले फर्स्ट एड दें।

- अपने गैस के चूल्हे आदि को बंद रखें। बहुत जरूरत पड़ने पर ही इस्तेमाल करें। अगर किसी प्रकार की आशंका हो तो खिड़कियों को खोल दें और गैस कंपनी को इस बारे में फोन कर बताएं।

तूफान के समय क्या नहीं करें

- किसी भी अफवाह पर ध्यान नहीं दे और सूचना के सही स्रोत को देखें

- इस बात का प्रयास करें कि आपको घर से बाहर नहीं जाना पड़े। गाड़ी वगैरह भी ड्राइव करने से बचें।

- जर्जर और पुरानी बिल्डिंग से खुद को दूर रखें

- किसी घायल शख्स को इधर-उधर ज्यादा नहीं ले जाएं। इससे उनको और नुकसान हो सकता है। बहुत जरूरत पड़ने पर ही उनका स्थान बदलें।

- तेल या किसी और ज्वलनशील पदार्थ को फैलने नहीं दें। अगर कुछ ऐसा गिरता है तो तत्काल उसे साफ करें।

Web Title: Cyclone Nisarga Brihanmumbai Municipal Corporation BMC advice dos And donts for residents
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे