CRPF said- some personnel drowned in 'feelings' and announced boycott of Chinese goods from canteen | CRPF ने कहा- कुछ कर्मियों ने ‘भावनाओं’ में बहकर कैंटीन से चीनी सामान बहिष्कार की घोषणा की
कोरोना वायरस (फाइल फोटो)

Highlightsसीएपीएफ कैंटीन से करीब 50 लाख अर्धसैनिक बल के कर्मी और उनके परिवार सामान खरीदते हैं।सीआरपीएफ के अनुसार, इस वीडियो में ये लोग ‘भावुक’ होकर चीनी सामान के बहिष्कार का संकल्प लेते दिख रहे हैं जबकि यह बल का आधिकारिक रूख नहीं है।

नयी दिल्ली: केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) ने कहा कि उत्तर कश्मीर में उसके कुछ कर्मियों ने चीनी सामानों के बहिष्कार की घोषणा की है, जैसा कि एक वीडियो में दिख रहा है। सीआरपीएफ के अनुसार, इस वीडियो में ये लोग ‘भावुक’ होकर चीनी सामान के बहिष्कार का संकल्प लेते दिख रहे हैं जबकि यह बल का आधिकारिक रूख नहीं है।

सोशल मीडिया पर वायरल हुए एक वीडियो में कथित तौर पर लोगों का एक समूह खुले मैदान में एक पंक्ति में वर्दी पहने हुए दिखाई देता है और खाने, पीने, इलेक्ट्रॉनिक और संचार सामान जैसे चीनी उत्पादों का बहिष्कार करने के लिए हाथ उठाकर हिंदी में शपथ लेता है।

अधिकारियों ने कहा कि उत्तर कश्मीर के सोपोर में बल के एक शिविर में दो जून को यह कथित घटना हुई जिसकी वजह से सीआरपीएफ को एक बयान जारी करना पड़ा।

बयान में कहा गया है, ‘‘सीआरपीएफ के कुछ जवानों के संबंध में सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें वे विदेशी वस्तुओं का उपयोग नहीं करने की प्रतिज्ञा ले रहे हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘यह सीआरपीएफ का आधिकारिक रुख नहीं है और कश्मीर स्थित एक इकाई के कुछ कर्मियों ने भावनाओं में बह कर स्थानीय स्तर पर यह संकल्प लिया।’’

सीआरपीएफ के प्रवक्ता उप महानिरीक्षक एम धिनकरन द्वारा जारी बयान में कहा गया है, ‘‘हम मामले को देख रहे हैं।’

गृह मंत्रालय ने सीएपीएफ कैंटीन से चीनी सामान बहिष्कार के फैसले को वापस लिया-

बता दें कि पिछले दिनों गृह मंत्रालय (Ministry of Home Affairs) ने 15 मई को दिए अपने उस आदेश पर फिलहाल रोक लगा दी है जिसमें कहा गया था कि केंद्रीय अर्धसैनिक बलों (CAPF) की कैंटीन में अब केवल  ही बेचे जाएंगे।

गृह मंत्रालय से मिले आदेश के बाद से CAPF ने देश भर में चलने वाली कैंटीन स्वदेशी सामान के लिए 400 से अधिक वेंडरों से अपनी खरीद के सभी ऑर्डर ‘फिलहाल स्थगित’ कर दिए थे। इन कैंटीन से करीब 50 लाख अर्धसैनिक बल के कर्मी और उनके परिवार सामान खरीदते हैं।

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने 13 फरवरी को घोषणा की थी कि कैंटीन एक जून से केवल स्वदेशी उत्पादों की बिक्री करेंगे ताकि घरेलू उद्योगों को बढ़ावा दिया जा सके। केंद्रीय पुलिस कल्याण भंडारण निकाय ने हाल में आदेश जारी कर हर तरह की सामग्री के ऑर्डर पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी और यह रोक तब तक रहेगी जब तक कि गृह मंत्रालय से स्वदेशी कंपनियों और उत्पादों को लेकर निर्देश प्राप्त नहीं हो जाता है।

Web Title: CRPF said- some personnel drowned in 'feelings' and announced boycott of Chinese goods from canteen
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे