COVID19 vaccine pm narendra modi Vice President M. Venkaiah Naidu first dose sharad pawar cm nitish kumar  | पीएम मोदी के बाद उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू, एनसीपी प्रमुख शरद पवार और सीएम नीतीश ने टीके की पहली खुराक ली
नायडू ने टीका लगवाते हुए अपनी तस्वीर भी साझा की। (photo-ani)

Highlightsआरोग्‍य सेतु जैसे अन्‍य आई टी ऐप्‍लीकेशन पर अपना पंजीकरण करा सकेंगे।प्रधानमंत्री के एम्स पहुंचने के दौरान किसी भी रास्ते को बंद नहीं किया गया और ना ही यातायात को रोका गया।निजी क्लिनिकों एवं केंद्रों पर उन्हें इसके लिए शुल्क देना पड़ेगा।

नई दिल्लीः प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में कोविड-19 टीके की पहली खुराक ली

इसके साथ ही उप राष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने सोमवार को चेन्नई के राजकीय मेडिकल कॉलेज में कोविड-19 टीके की पहली खुराक लगवाई। एनसीपी प्रमुख शरद पवार, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह और राजस्थान के राज्यपाल ने पहली खुराक ली। 

एनसीपी प्रमुख शरद पवार मुंबई के जेजे अस्पताल में पहली खुराक ली। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को पटना के IGIMS अस्पताल में कोरोना की वैक्सीन लगवाई। केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने भी टीका लगवा ली। बिहार में विधानसभा चुनाव के समय भाजपा नीत राजग ने वादा किया था कि लोगों को निशुल्क टीके मुहैया कराए जाएंगे। कुमार ने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति को मुफ्त टीके दिए जाएंगे। उन्होंने लोगों से भी टीका लगवाने के लिए आगे आने की अपील की।

एम्स के प्रमुख डॉ. रणदीप गुलेरिया ने कहा कि वरिष्ठ नागरिकों और अन्य बीमारियों से ग्रस्त 45 साल से ज्यादा उम्र के लोगों के लिए टीकाकरण अभियान शुरू होने के पहले ही दिन प्रधानमंत्री द्वारा टीके की पहली खुराक लेने से लोगों के मन में टीके के प्रति किसी भी तरह की हिचक दूर हो जानी चाहिए।

सभी ने पात्र लोगों से टीका लगवाने की अपील की। उन्हें 28 दिनों बाद बूस्टर डोज दी जाएगी। नायडू ने टीका लगवाते हुए अपनी तस्वीर भी साझा की। नायडू ने उप राष्ट्रपति सचिवालय के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया, “मैंने राजकीय मेडिकल कॉलेज, चेन्नई में आज कोविड-19 टीके की अपनी पहली खुराक लगवाई। मैं 28 दिनों के बाद दूसरी खुराक लगवाऊंगा।”

ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने भी टीके की खुराक ली। पटनायक ने भी लोगों से इसी तरह की अपील की। पटनायक ने ट्वीट किया, ‘‘आज कोविड-19 का टीका लगवाया। वैज्ञानिकों, स्वास्थ्य कर्मियों का समय से मुकाबला करते हुए लोगों तक टीका पहुंचाने के लिए किए गए प्रयासों को लेकर आभारी हूं। वे सभी लोग भी टीका लगवाएं, जो दूसरे चरण के टीकाकरण अभियान के तहत इसकी पात्रता रखते हैं।’’

नायडू ने ऐसे सभी लोगों से खुद को सक्रियता से टीका लगवाने की अपील की जो सरकार द्वारा निर्धारित मापदंडों को पूरा करते हैं और कहा कि ऐसा कर “नए कोरोनावायरस के खिलाफ लड़ाई में शामिल हों।” इससे पहले सोमवार को ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी राष्ट्रीय राजधानी स्थित एम्स में कोविड-19 टीके की पहली खुराक लगवाई थी।

राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने सोमवार को यहां राजभवन में कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए टीके की पहली खुराक लगवाई। एसएमएस मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ. सुधीर भंडारी की देख-रेख में राज्यपाल को टीका लगाया गया।

पीएम ने सभी लोगों से टीका लगवाने की अपील की, जो दूसरे चरण के टीकाकरण अभियान के तहत इसकी पात्रता रखते हैं। सूत्रों के मुताबिक, पुडुचेरी की रहने वाली नर्स पी निवेदा ने मोदी को भारत बायोटेक के कोवैक्सीन टीके की पहली खुराक लगाई।

मोदी ने ट्वीट किया, ‘‘मैंने एम्स में कोविड-19 टीके की पहली खुराक ली। कोविड-19 के खिलाफ वैश्विक लड़ाई में हमारे डॉक्टरों और वैज्ञानिकों ने बहुत कम समय में असाधारण काम किया है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मैं उन सभी लोगों से कोरोना वायरस का टीका लगवाने की अपील करता हूं, जो इसके पात्र हैं। आइए, हम सब मिलकर भारत को कोविड-19 से मुक्त बनाएं।’’

केंद्र सरकार ने पिछले दिनों घोषणा की थी कि 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों और अन्य बीमारियों से पीड़ित 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों के लिए एक मार्च से टीकाकरण अभियान आरंभ किया जाएगा। नागरिक किसी भी समय और कहीं भी टीकाकरण के लिए पंजीकरण और बुकिंग को-विन 2.0 पोर्टल का उपयोग करके या आरोग्य सेतु जैसे अन्य आईटी एप्लीकेशन के माध्यम से कर सकेंगे।

पात्र व्यक्ति चरणबद्ध प्रक्रिया के माध्यम से अपने मोबाइल नंबर के जरिए कोविन पोर्टल पर अपना पंजीकरण करा सकते हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय ने सोमवार को कहा कि पिछले 24 घंटे में कोविड-19 के 15,510 नए मामले आए। महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा 8293, केरल में 3254 और पंजाब में 579 मामले आए।

प्रधानमंत्री ने ट्वीट के साथ ही टीका लगवाते हुए अपनी एक तस्वीर भी साझा की, जिसमें वह असमिया गमछा पहने दिख रहे हैं और मुस्कुराते हुए टीका लगवा रहे हैं। उनके साथ इस तस्वीर में निवेदा के अलावा केरल की रहने वाली एक अन्य नर्स रोसम्मा अनिल भी दिख रही हैं।

नर्स निवेदा ने बाद में संवाददाताओं से कहा कि टीका लगवाने के बाद प्रधानमंत्री ने उनसे कहा, ‘‘लगा भी दिया, पता भी नहीं चला।’ उन्होंने बताया कि वह गत तीन साल से एम्स में कार्यरत हैं और इस समय टीकाकरण केंद्र में सेवाएं दे रही हैं।

निवेदा ने कहा, ‘‘हमे पता चला कि आज सुबह प्रधानमंत्री टीकाकरण के लिए आ रहे हैं। मैं जब यहां पहुंची तो मुझे यह जानकारी मिली कि प्रधानमंत्री आ रहे हैं। मुझे उनसे मिलकर बहुत खुशी हुई।’’ नर्स ने बताया कि प्रधानमंत्री मोदी को भारत बायोटेक के कोवैक्सीन टीके की पहली खुराक दी गई है और उन्हें 28 दिन में दूसरी खुराक दी जाएगी।

उन्होंने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री ने हमसे पूछा कि वह कहां की रहने वाली हैं।’’ एक अन्य नर्स अनिल ने कहा कि उन्हें प्रधानमंत्री से मिलकर बहुत खुशी हुई। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ‘‘बहुत सहज’’ थे। सरकार ने बुधवार को घोषणा की थी कि 60 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों तथा किसी दूसरी बीमारी से ग्रसित 45 वर्ष से ज्यादा उम्र के लोगों को एक मार्च से कोरोना वायरस रोधी टीका सरकारी केंद्रों पर नि:शुल्क लगाया जाएगा। 

(इनपुट एजेंसी)

Web Title: COVID19 vaccine pm narendra modi Vice President M. Venkaiah Naidu first dose sharad pawar cm nitish kumar 

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे