COVID-19: Nearly 9,000 At Coronavirus Risk From Delhi Nizamuddin Mosque Event, Says Centre | निजामुद्दीन मरकज: तबलीगी जमात के कार्यक्रम से 9 हजार लोगों पर कोरोना का खतरा, 400 पॉजिटिव, जानें गृह मंत्रालय ने और क्या-क्या अपडेट दिए?
प्रतीकात्मक तस्वीर

Highlights दिल्ली में अधिकारियों ने बताया कि कोरोना वायरस के मामले बढ़कर 152 हो गए हैं जिनमें 53 वो लोग हैं जो निजामुद्दीन के आयोजन में शामिल हुए थे।दिल्ली में तबलीगी जमात में शिरकत के बाद तमिलनाडु लौटे 110 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं जिससे राज्य में संक्रमण के मामलों की संख्या बढ़कर 234 हो गई है।

नई दिल्ली:  कोरोना वायरस के सबसे बड़े हॉटस्पॉट बनकर उभरे दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित मरकज में तबलीगी जमात के आयोजन में शिरकत करने वालों के लिए सरकार का सर्च ऑपरेशन तेज कर दिया गया है। गृह मंत्रालय द्वारा जुटाई गई जानकारी के मुताबिक तबलीगी जमात के कार्यक्रम में हिस्सा लेने से देश में तकरीबन 9 हजार लोगों पर कोरोना वायरस का खतरा मंडरा रहा है। निजामुद्दीन में तबलीगी जमात द्वारा आयोजित किए गए कार्यक्रम से कम से कम 7,600 भारतीय और 1,300 विदेशी लोगों के जुड़े होने की जानकारी गृह मंत्रालय ने दी है। इस संख्या में और भी बढ़ोतरी हो सकती है। 

एनडीटीवी की रिपोर्ट के मुताबिक, देश में एक अप्रैल तक 1,051 लोगों को क्वॉरेंटाइन किया जा चुका है।  21 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं जबकि दो की मौत हो चुकी है। तबलीगी जमात के 7,688 कार्यकर्ताओं की पहचान की जा रही है और उनके संपर्क में आए लोगों की भी पहचान की जा रही है। जिसके बाद उन्हें क्वारंटाइन किया जा सके।

तबलीगी जमात से जुड़े 400 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए

तबलीगी जमात से जुड़े 400 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। गृह मंत्रालय द्वारा जारी जानकारी के मुताबिक तमिलनाडु में सबसे ज्यादा 190 लोग, 71 लोग आंध्र प्रदेश में, 53 लोग दिल्ली में, 28 तेलंगाना में , 13 असम,  12 महाराष्ट्र, 10 अंडमान में, 6 जम्मू कश्मीर और दो-दो गुजरात और पुदुचेरी में पाए गए हैं।

जमात में हिस्सा लेने वाले 5,000 से ज्यादा लोगों को पृथक तौर पर रखा गया है । इनमें से कुछ लोगों को राज्यों के विभिन्न अस्पतालों में भर्ती किया गया है । इसके साथ ही गुजरात, तमिलनाडु और तेलंगाना सहित अन्य जगहों पर 2,000 अन्य लोगों का पता लगाया जा रहा है । इस सूची में विदेशी भी शामिल हैं जबकि राज्य के अधिकारियों ने ऐसे कुछ लोगों की पहचान की है जो दिल्ली से अपने अपने गृह नगर नहीं लौटे हैं। प्रशासन का कहना है कि मामलों में इतनी बढ़ोतरी तबलीगी जमात के कारण हुई है। 

जानें भारत में कोराना की ताजा स्थिति क्या है?

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि पिछले 24 घंटे में 437 नए मामलों की पुष्टि करने के साथ कोरोना वायरस के 1834 मामले हो गए हैं और 41 लोगों की मौत हुई है । हालांकि विभिन्न राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों द्वारा घोषित आंकड़ों का योग करें तो कुल 1949 मामले हो चुके हैं और कम-से-कम 59 मौत हुई है। महाराष्ट्र, तमिलनाडु और दिल्ली उन जगहों में शामिल हैं जहां बड़ी संख्या में नये मामलों का पता चला है। दिल्ली में अधिकारियों ने बताया कि कोरोना वायरस के मामले बढ़कर 152 हो गए हैं जिनमें 53 वो लोग हैं जो निजामुद्दीन के आयोजन में शामिल हुए थे। महाराष्ट्र में बुधवार को यह संख्या 33 से बढ़कर 335 हो गई जिनमें अकेले मुंबई के 30 मामले शामिल हैं। संख्या में इजाफा होने की आशंका है क्योंकि पृथक रह रहे करीब 5,000 लोग उच्च जोखिम की श्रेणी में आते हैं। राज्य सरकार ने यह जानकारी दी है।

दिल्ली में तबलीगी जमात में शिरकत के बाद तमिलनाडु लौटे 110 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं जिससे राज्य में संक्रमण के मामलों की संख्या बढ़कर 234 हो गई है। तमिलनाडु में ऐसे 515 लोगों की पहचान हुई है जो निजामुद्दीन के आयोजन में शामिल हुए थे जबकि इनमें से 59 को पृथक रखा गया है। मुख्यमंत्री के पलानीसामी ने बताया कि राज्य से करीब 1,500 लोग कार्यक्रम में शामिल हुए थे जिनमें से 1,131 लोग राज्य लौट आए हैं।

Web Title: COVID-19: Nearly 9,000 At Coronavirus Risk From Delhi Nizamuddin Mosque Event, Says Centre
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे