Coronavirus: Setu app required, but no one is checking government employees smartphone | Aarogya Setu App जरूरी है, लेकिन जांच करने वाला कोई नहीं, सरकारी ऑफिसों में बिना ऐप के पहुंच रहे कर्मचारी
सरकारी ऑफिसों में बिना सेतु ऐप के पहुंच रहे कर्मचारी। (फाइल फोटो)

Highlightsकेंद्र सरकार ने रेलगाड़ी से लेकर हवाई जहाज तक में सफर के लिए आरोग्य सेतु ऐप को जरूरी किया हुआ है. सरकारी भवनों में किसी भी कर्मचारी के मोबाइल में इस ऐप की जांच नहीं की जा रही है. 

नई दिल्ली: केंद्र सरकार ने रेलगाड़ी से लेकर हवाई जहाज तक में सफर के लिए आरोग्य सेतु ऐप को जरूरी किया हुआ है. इसके साथ ही सरकारी भवनों में प्रवेश के लिए भी आरोग्य सेतु ऐप को जरूरी किया गया है. सरकारी कर्मचारियों के लिए यह ऐप डाउनलोड करना आवश्यक है. लेकिन दूसरी ओर सरकारी भवनों में किसी भी कर्मचारी के मोबाइल में इस ऐप की जांच नहीं की जा रही है. 

सरकारी कर्मचारी बिना आरोग्य सेतु ऐप के ही अपने कार्यालय तक पहुंच रहे हैं. रोचक तथ्य यह है कि यह जांच स्वास्थ्य मंत्रालय और केंद्रीय गृह मंत्रालय में भी नहीं हो रही है, जिसने आरोग्य सेतु ऐप को लेकर नियम बनाए हैं. यही नहीं, सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय जिसने इस ऐप को विकिसत किया है, वहां पर भी सरकारी कर्मचारी बिना ऐप दिखाएं ही अपने कार्यालयों तक पहुंच रहे हैं. जिससे इस ऐप को आवश्यक बनाने पर ही सवाल उठने लगे हैं. 

एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि आरोग्य सेतु ऐप कि हर सरकारी कार्यालय में जांच करने में एक तकनीकी समस्या है. अधिकारियों के मोबाइल चैक करना चुनौती मंत्रालयों के गेट पर खड़े सीआईएसफ के जवान के लिए यह संभव नहीं है कि वह निदेशक, संयुक्त सचिव या फिर सचिव स्तरीय अधिकारी से उनका मोबाइल दिखाने के लिए कहे और यह चेक करें कि उनके मोबाइल में आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड है. वहीं, इससे नीचे के कर्मचारियों के ऐप कि अगर जांच शुरू की जाती है तो इससे मंत्रालयों में लंबी कतारें लग जाएंगी. 

इस अधिकारी ने कहा कि यह व्यक्तिगत जिम्मेदारी का मामला अधिक है. यही वजह है कि हर एक कर्मचारी का मोबाइल चेक नहीं किया जा रहा है. लेकिन अगर यह जानकारी हासिल होती है कि कोई कर्मचारी बिना आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड किए ही मंत्रालय आ रहा है तो ऐसी सूचना आने के बाद औचक जांच कर ऐसे कर्मचारियों को चिह्नित करने का नियम प्रभावी किया गया है. 

यह कानूनी बाध्यता या फिर डंडे के जोर पर लागू कराया जाने वाला नियम नहीं है. ऐसे में निश्चित है कि शायद ही ऐसा कोई कर्मचारी होगा जिसने अपने मोबाइल में आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड नहीं किया होगा. यही नहीं कर्मचारियों को समय-समय पर उनके विभाग के माध्यम से भी इस ऐप को डाउनलोड करने की सलाह जारी की जाती है.

Web Title: Coronavirus: Setu app required, but no one is checking government employees smartphone
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे