coronavirus cm nitish kumar wrote open letter people bihar regarding protection patna covid | कोरोना के बढ़ते कहर से परेशान सीएम नीतीश, बिहारवासियों के नाम लिखा खुला पत्र, जानें क्या कहा...
10 लाख की जनसंख्या पर अबतक 1 लाख 88 हजार 804 टेस्ट किए गए हैं जो राष्ट्रीय औसत से ज्यादा है.

Highlightsलोगों से कोरोना के नियमों का सख्ती से पालन करने की अपील की है. एक बार फिर से कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. रेलवे स्टेशनों और बस अड्डों पर जांच बढ़ा दी गई है.

पटनाः बिहार में कोरोना के बढ़ते कहर से लोग अब भयभीत होने लगे हैं. राज्य के बाहर से आने वाले लोगों के कारण भी संक्रमण तेजी से बढ़ रह रहा है.

इसे अब सरकार द्वारा काफी गंभीरता से लिया जा रहा है. लोगों की सुरक्षा को देखते हुए आज मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के द्वारा बिहारवासियों के लिए एक खुला पत्र लिखा गया है. उन्होंने अपने पत्र में लोगों को कोरोना से बचने की हिदायत दी है. इसके साथ ही जारी किये गए दिशानिर्देश का पालन करने के लिए कहा गया है. पत्र में मुख्यमंत्री ने लोगों को सरकार की तैयारियों के बारे में बताते हुए आश्वस्त किया है.

साथ ही लोगों से कोरोना के नियमों का सख्ती से पालन करने की अपील की है. उन्होंने लिखा है कि एक बार फिर से कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. इससे लोगों को सुरक्षित रखने की सरकार की चिंता बढ़ गई है. अबतक बिहार ने कोरोना से सफलतापूर्वक लड़ाई लड़ी है. कोरोना एक महामारी, एक आपदा है. हमने हमेशा कहा है कि सरकारी खजाने पर पहला हक आपदा पीड़ितों का है.

उन्होंने कहा कि अब तक करोना को लेकर सरकार ने 10000 करोड़ से ज्यादा रुपए खर्च किए हैं. मुख्यमंत्री ने जानकारी दी है कि अब तक बिहार में 2 करोड 41 लाख से ज्यादा कोविड टेस्ट किया जा चुका है. 10 लाख की जनसंख्या पर अबतक 1 लाख 88 हजार 804 टेस्ट किए गए हैं जो राष्ट्रीय औसत से ज्यादा है. राज्य में रिकवरी रेट 97.58 प्रतिशत है.

मुख्यमंत्री ने कहा है कि हालात को देखते हुए सार्वजनिक कार्यक्रम रद्द कर दिए गए हैं. इसके अलावा रेलवे स्टेशनों और बस अड्डों पर जांच बढ़ा दी गई है. उन्होंने लोगों से नियमों का सख्ती से पालन करने की अपील की है. उन्होंने कहा कि सभी लोग मास्क जरूर लगाएं और बाहर निकलने पर दो गज की दूरी का सख्ती से पालन करें. गर्भवती महिलाओं, बच्चों और बुजुर्गों का विशेष ख्याल रखें.

विशेष परिस्थिति में ही बाहर निकलें. 45 साल से ज्यादा उम्र के लोग वैक्सीन जरूर लगाएं. यहां बता दें कि बिहार में भी कोरोना के मामले में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है. राजधानी पटना के कई इलाके हॉटस्पॉट बन चुके है. ऐसे में लोगों की सुरक्षा को देखते हुए उनसे कोरोना गाइडलाइन्स का सख्ती से पालन करने के लिए कहा गया है. पटना जंक्शन पर कोरोना विस्फोट हुआ है.

बाहर से आने वाले लगभग एक दर्जन यात्री कोरोना पॉजिटिव मिले हैं. रेलवे के कर्मचारियों के बीच भी कोरोना का संक्रमण फैल गया है. रेलवे कर्मी भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. बीते दिन बुधवार को पटना के डीएम डॉ. चंद्रशेखर सिंह ने भी पटना जंक्शन का निरीक्षण किया था. उल्लेखनीय है कि महाराष्ट्र में लगातार बढ़ रहे कोरोना के मामलों की वजह से बिहार के रहनेवाले लोगों को लौटना शुरू हो चुका है.

इसके लिए कई विशेष ट्रेनें भी चलाई जा रही हैं. महाराष्ट्र से लोगों को लेकर पहली विशेष ट्रेन 10 अप्रैल को दानापुर जंक्शन पहुंचेगी. दानापुर में सभी यात्रियों की जांच के लिए टीमों का गठन किया गया है. महाराष्ट्र से आने वाले यात्रियों की जांच के लिए 75 मेडिकल टीम तैनात की गई है. ये टीमें पटना और दानापुर जंक्शन पर जांच करेगी. दानापुर में दो बडे़ आइसोलेशन सेंटर भी बनाए गए हैं, जहां जांच में पाए गए पॉजिटिव मरीजों को रखने का इंतजाम है.

बिहार में कोरोना वायरस से चार और की मौत, 1911 नए मामले आए

बिहार में कोरोना वायरस संक्रमण के कारण पिछले 24 घंटे के दौरान चार लोगों की मौत हो गयी जिससे प्रदेश में मरने वालों की संख्या बढ़ कर बृहस्पतिवार को 1595 हो गयी. स्वास्थ्य विभाग ने इसकी जानकारी दी.

 विभाग से प्राप्त जानकारी में कहा गया है कि प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण के 1911 नये मामले सामने आये जिसके बाद अब तक संक्रमित हुए लोगों की संख्या बढ़कर 2,73,830 हो गयी. इसमें कहा गया है कि सबसे अधिक 743 नये मामले राजधानी पटना में आये हैं. विभाग ने बताया कि प्रदेश के कुल 2,73,830 संक्रमितों में से 2,64,730 मरीज संक्रमण मुक्त हुये हैं.

Web Title: coronavirus cm nitish kumar wrote open letter people bihar regarding protection patna covid

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे