Congress made the state indifferent and chaotic | कांग्रेस ने प्रदेश बदहाल और अराजक बना दिया
कांग्रेस ने प्रदेश बदहाल और अराजक बना दिया

कांग्रेस ने अच्छे-खासे प्रदेश को बदहाल और अराजक प्रदेश बना दिया. कांग्रेस कार्यालय में अधिकारियों की बोलियां लग रही हैं. अफसर तय होते हैं, फिर बदल जाते हैं. प्रशासनिक अराजकता का ऐसा माहौल मध्यप्रदेश में तो क्या देश के किसी राज्य में कभी नहीं रहा होगा.

यह आरोप आज प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने लगाए. उन्होंने आज मीडिया से चर्चा करते हुए प्रदेश की कमलनाथ सरकार पर हमला बोला. उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार में सब अपनी-अपनी पसंद के कलेक्टर बनाने में लगे हैं और मुख्यमंत्री कुछ बोल ही नहीं रहे हैं, जो सरकार भोपाल में कलेक्टर तय नहीं कर सकती, वो प्रदेश का प्रशासन क्या चलाएगी. उन्होंने कहा कि पिछले कई दिनों से भोपाल कलेक्टर की तलाश जारी है. ऐसा मानना है कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं में मतभेद के चलते नाम तय नहीं हो पा रहे हैं. शिवराज का आरोप है कि प्रदेश में आराजकता फैली हुई है. सरकार कोई फैसला नहीं कर पा रही है. कांग्रेस कार्यालय में अफसरों की बोली लग रही है.

राजधानी में बढ़ते अपराध को लेकर भी तंज कसा. प्रदेश में कानून व्यवस्था को सुधारने की सिफारिश कर कहा कि व्यवस्था में बदलाव नहीं किया गया तो बेटियां असुरक्षित ही रहेंगी. पानी पर छिड़े बवाल पर भी सिंह ने निशाना साधा, उन्होंने कहा कि पानी को लेकर जनता में लूट मची है, लेकिन सरकार इस गंभीर मुद्दे पर एक बैठक भी नहीं कर पाई. ऐसा मानना है कि नेता अपने चहेतों को राजधानी का जिम्मा देना चाहते हैं, लेकिन इस बात को लेकर सियासत के सूरमाओं के सुर आपस में मिलते नजर नहीं आ रहे हैं. इसका असर जिले के प्रशासनिक कार्यों पर पड़ता नजर आ रहा है. कई सरकार के कार्य पेंडिंग में जा रहे हैं.

चीफ जस्टिस को पोस्टकार्ड अभियान की शुरुआत

पूर्व मुख्यमंत्री ने आज राजधानी के भवानी चौक पर बलात्कारियों को तत्काल फांसी देने हेतु आयोजित हस्ताक्षर अभियान का शुभारंभ किया. उन्होंने चीफ जस्टिस को लिए इस पत्र में आरोपियों को फांसी देने की मांग की. पूर्व मुख्यमंत्री के अलावा भाजपा के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने पोस्ट कार्ड पर हस्ताक्षर किए चीफ जस्टिस से बलात्कार के दोषियों को तुरंत फांसी देने की मांग की. पूर्व मुख्यमंत्री के इस अभियान में आज राजधानी के लोगों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया. पोस्टकार्ड पर हस्ताक्षर करने वालों की भीड़ कुछ इस तरह जुटी की सड़क पर चक्काजाम लग गया.

हार को पचा नहीं पा रहे शिवराज

पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा कांग्रेस सरकार पर उठाए गए सवालों को लेकर गृह मंत्री बाला बच्चन ने कहा कि शिवराज सिंह चौहान जब से हारे हैं, तब से हार को वे पचा नहीं पा रहे हैं. उन्होंने कहा कि शिवराज तो लगे हुए हैं कि सरकार को आउट करें और हम बैठ जाएं. सत्ता के लिए वे लगातार झटपटा रहे हैं. उन्होंने कहा कि शिवराज सिंह को कांग्रेस और कांग्रेस सरकार के काम करने के तरीकों को हजम नहीं कर पा रही है. गृह मंत्री ने कहा कि शिवराज सिंह द्वारा भोपाल कलेक्टर की नियुक्ति को लेकर जो बात कही है, उस पर मुख्यमंत्री कमलनाथ को निर्णय लेना है.


Web Title: Congress made the state indifferent and chaotic
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे