Confederation of Indian Industry adopts 100 villages in Punjab-Haryana For stop pollution caused by burning stubble | पराली जलाने से होने वाले प्रदूषण को रोकने के लिए सीआईआई ने उठाया कदम, पंजाब-हरियाणा में 100 गांवों को लिया गोद
पराली जलाने से होने वाले प्रदूषण को रोकने के लिए सीआईआई ने उठाया कदम, पंजाब-हरियाणा में 100 गांवों को लिया गोद

Highlightsसीआईआई ने कहा कि उसने पंजाब में लुधियाना, बरनाला और पाटियाला जिलों तथा हरियाणा में रोहतक, सिरसा और फतेहाबाद जिलों को गोद लिया है। उसका लक्ष्य इन जिलों में पराली जलाने की घटानाओं को समाप्त करना है।

भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) ने उत्तर भारत में विशेषकर सर्दियों के दौरान प्रदूषण के स्तर को कम करने के लिये पंजाब और हरियाणा में 100 गांवों तथा एक लाख एकड़ खेत को गोद लिया है। सीआईआई ने रविवार को इसकी जानकारी दी।

सीआईआई ने कहा कि उसने पंजाब में लुधियाना, बरनाला और पाटियाला जिलों तथा हरियाणा में रोहतक, सिरसा और फतेहाबाद जिलों को गोद लिया है। उसका लक्ष्य इन जिलों में पराली जलाने की घटानाओं को समाप्त करना है। उसने कहा कि पराली जलाने की समस्या के संभव समाधानों के क्रियान्वयन के लिये एक पारिस्थितिकी तैयार की गयी है।

इसके तहत विशेषज्ञों, कॉरपोरेट, राज्य सरकारों, ग्रामीण समुदायों और कृषक समूहों समेत विभिन्न संबंधित पक्षों को एक साथ लाया जाएगा। उद्योग मंडल ने कहा कि वह 15 हजार से अधिक किसानों को कृषि उपकरण, तकनीकी प्रशिक्षण मुहैया करा रहा है और पंजाब तथा हरियाणा के गोद लिये गांवों में जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। सीआईआई ने कहा कि इस मुहिम में उसके साथ पंजाब के तीन हजार से अधिक विद्यार्थी, युवा और कॉरपोरेट स्वयंसेवी जुड़ रहे हैं।

सीआईआई ने कहा कि इनमें से कई किसानों ने पहली बार पराली जलाने की वैकल्पिक प्रौद्योगिकी को अपनाया है। सीआईआई के महानिदेशक चंद्रजीत बनर्जी ने कहा, ‘‘सीआईआई की ‘स्वच्छ वायु, बेहतर जीवन’ मुहिम पराली जलाने की घटना को समाप्त करने में किसानों की मदद करने के लिये सक्षम समाधानों का क्रियान्वयन कर रही है। पिछले साल हमने 19 गांवों में प्रायोगिक तौर पर इस मुहिम की शुरुआत की थी, जिसे अब 100 गांवों तक विस्तार दिया गया है।’’ 


Web Title: Confederation of Indian Industry adopts 100 villages in Punjab-Haryana For stop pollution caused by burning stubble
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे