CM Yogi meets Shahid inspector Subodh Singh's family, assured assurance of justice | शहीद इंस्पेक्टर सुबोध सिंह के परिवार वालों से मिले CM योगी, न्याय मिलने का दिया आश्वासन
शहीद इंस्पेक्टर सुबोध सिंह के परिवार वालों से मिले CM योगी, न्याय मिलने का दिया आश्वासन

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुलंदशहर हिंसा में शहीद हुए इंस्पेक्टर सुबोध सिंह राठौर के परिवार वालों को आज आश्वासन दिया कि उन्हें पूरा न्याय मिलेगा और घटना के आरोपियों को कड़ी से कड़ी सजा दी जाएगी।

इस मुलाकात के दौरान प्रदेश के पुलिस महानिदेशक ओ पी सिंह भी मौजूद थे। मुलाकात के बाद सिंह ने संवाददाताओं को बताया कि मुख्यमंत्री ने सरकार की ओर से परिवारजनों को आश्वासन दिया है कि परिवार एक अभिन्न अंग बनकर रहेगा और दिवंगत राठौर के दोनों बच्चों की पढाई में कोई हर्ज नहीं होगा।

उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री पहले ही सरकार की ओर से राठौर के परिवार को 40 लाख रुपये की राशि देने की घोषणा कर चुके हैं। चूंकि दिवंगत इंस्पेक्टर के माता पिता जीवित नहीं हैं इसलिए उन्हें मिलने वाली दस लाख रुपये की राशि भी पत्नी और बच्चों को मिलेगी।

सिंह ने बताया कि बच्चों की पढाई के संबंध में तय किया गया है कि इसके लिए बैंक से ली गई ऋण राशि का भुगतान सरकार की ओर से किया जाएगा।

शहीद के बड़े बेटे श्रेय ने बताया कि मुख्यमंत्री की ओर से पूरा आश्वासन मिला है कि न्याय मिलेगा। जो भी आरोपी हैं, उन्हें कड़ी से कड़ी सजा मिलेगी। संकट की इस घड़ी में वह हमारे साथ हैं और रहेंगे।

मामले की जांच कहां तक पहुंची, इस सवाल पर डीजीपी ने कहा कि जब जांच पूरी हो जाएगी तो अवगत कराया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने परिवार को असाधारण पेंशन, एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने और जैथरा—कुरावली सड़क का नाम दिवंगत अधिकारी के नाम पर रखे जाने की बात भी कही।

मुलाकात के दौरान मुख्यमंत्री आवास पर डीजीपी के अलावा कैबिनेट मंत्री रीता बहुगुणा जोशी, प्रभारी मंत्री राजेश गर्ग समेत अन्य आला अधिकारी भी मौजूद रहे।

सुबोध की पत्नी रश्मि ने मुख्यमंत्री को बताया कि उनके पति घर जल्दी नहीं आ पाते थे तो वह हमें मिलने के लिए थाने पर ही बुला लिया करते थे। कहते, तुम्हें और बच्चों को देखने का बहुत मन होता है। हिंसा से दो दिन पहले हम उनसे मिलने गए थे, तो कोतवाली में तीन लोगों को गौकशी के आरोप में पकड़कर लाया गया था।

रश्मि ने कहा,‘‘मेरे पति बहादुर इंसान थे, वह सामने से मुकाबला करते थे लेकिन उनको उनके सहयोगियों ने ही धोखा दे दिया, जब वह गांव में गौकशी की खबर के बाद हिंसा को संभालने में लगे थे।’’ इससे पहले उन्होंने कहा था,‘‘मेरे पति के हत्यारों को लाओं, मैं उन्हें अपने हाथों से सजा दूंगी। मैं इस मामले की सीबीआई जांच चाहती हूं ताकि मेरे पति की हत्या के पीछे के कारण पता चल सकें। जो पुलिसकर्मी मेरे पति के साथ थे उनकी भी जांच होनी चाहिए क्योंकि वह मेरे पति को अकेला छोड़कर चले गये थे।’’ रश्मि ने कहा था, ‘‘मेरे पति को सुनियोजित तरीके से साजिश के तहत मारा गया है, अगर दोषियों को सजा न हुई तो मैं बुलंदशहर पुलिस लाइन में अपने को गोली मार लूंगी।’’ इंस्पेक्टर के छोटे बेटे अभिषेक का कहना है कि हिन्दू मुस्लिम दंगे खत्म होने चाहिए और भीड. द्वारा मारे जाने वाली संस्कृति का खात्मा होना चाहिए। उन्होंने कहा कि दंगे और हिंसा नही होने चाहिए और लोगों को इस बात को समझना होगा और उन्हें कानून को अपने हाथ में नहीं लेना चाहिए।

मुख्यमंत्री से मिलने से कुछ घंटे पहले अभिषेक ने कहा था, ‘‘मेरे पिता मारे गये, कल कोई बड़ा पुलिस अधिकारी या मंत्री भी हो सकता है। क्या भीड. द्वारा मारे जाने की संस्कृति ऐसे ही चलती रहेगी? मेरा पिता का सपना था कि मैं एक अच्छा नागरिक बनूं।' उन्होंने कहा, 'सभी धर्म एक समान है, कोई भी धर्म छोटा या बड़ा नहीं है। कृपया समझे भीड. की हिंसा, सांप्रदायिक हिंसा, या दंगों से कुछ हासिल होने वाला नहीं है। अगर हम आपस में ही लड़ते रहे तो पाकिस्तान या चीन को हमको कोई नुकसान पहुंचाने की जरूरत नहीं है।’’ इंस्पेक्टर की बहन सुनीता ने मंगलवार को पत्रकारों से बातचीत में कहा था,‘‘मेरे भाई की हत्या एक साजिश के तहत पुलिस द्वारा की गयी है क्योंकि वह दादरी के अखलाक को भीड. द्वारा मारे जाने के मामले की जांच कर रहे थे।’’

इससे पहले दिवंगत इंस्पेक्टर की पत्नी ने आरोप लगाया था कि उनके पति को अक्सर धमकियां मिलती रहती थीं। वह अखलाक मामले की जांच कर रहे थे इसलिए उन पर हमला हुआ। यह एक सोची समझी-साजिश है।

उल्लेखनीय है कि सोमवार को बुलंदशहर के चिंगरावटी पुलिस चौकी पर भीड़ की हिंसा के दौरान इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की हत्या कर दी गई थी।


Web Title: CM Yogi meets Shahid inspector Subodh Singh's family, assured assurance of justice
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे