CBI gives notice to Abhishek Banerjee's wife in coal theft case, Bengal politics heats up | सीबीआई ने कोयला चोरी मामले में अभिषेक बनर्जी की पत्नी को नोटिस थमाया, बंगाल की राजनीति गरमाई
सीबीआई ने कोयला चोरी मामले में अभिषेक बनर्जी की पत्नी को नोटिस थमाया, बंगाल की राजनीति गरमाई

कोलकाता, 21 फरवरी केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो की एक टीम रविवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे एवं तृणमूल कांग्रेस के सांसद अभिषेक बनर्जी के कोलकाता स्थित घर पर पहुंची और उनकी पत्नी को नोटिस थमाकर कोयला चोरी मामले की जांच में शामिल होने को कहा। इस घटनाक्रम ने पश्चिम बंगाल में राजनीतिक तापमान को और बढ़ा दिया है, जहां अप्रैल-मई में चुनाव होने वाले हैं।

एक तरफ, तृणमूल कांग्रेस ने इसे राजनीतिक प्रतिशोध करार दिया, तो दूसरी तरफ भाजपा ने मामले का राजनीतिकरण नहीं करने की बात कही।

वहीं, सीबीआई की कार्रवाई के बाद ममता बनर्जी ने एक कार्यक्रम में कहा, ‘‘हमें जेल से डराने की कोशिश न करें, हमने बंदूकों के खिलाफ लड़ाई लड़ी है और हम चूहों के खिलाफ लड़ाई से नहीं डरते।’’

उन्होंने कहा कि उनकी मातृभाषा बांग्ला ने उन्हें बाघ की तरह लड़ना सिखाया है और वह चूहों से नहीं डरतीं।

किसी व्यक्ति या किसी राजनीतिक दल का नाम लिए बिना तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ने कहा कि उन्होंने हारना नहीं सीखा है।

मुख्यमंत्री ने यहां अंतरराष्ट्रीय मातृभाषा दिवस के अवसर पर आयोजित एक कार्यक्रम में कहा, ‘‘जब तक मैं जीवित हूं, मैं किसी डर या धमकी से नहीं डरने वाली।’’

अभिषेक बनर्जी ने ट्वीट किया, ‘‘आज अपराह्न दो बजे, सीबीआई ने मेरी पत्नी के नाम एक नोटिस तामील किया। हमें देश के कानून पर पूरा भरोसा है। हालांकि, यदि वे सोचते हैं कि वे हमें डराने के लिए इन हथकंडों का इस्तेमाल कर सकते हैं तो वे गलत हैं। हम वे लोग नहीं हैं, जो झुक जाएं।’’

केंद्रीय जांच एजेंसी की कार्रवाई पर तृणमूल कांग्रेस ने राजनीतिक प्रतिशोध का आरोप लगाते हुए केंद्र में सत्तारूढ़ भाजपा पर हमला बोला और कहा कि ‘‘सीबीआई इसका एकमात्र औजार है’’ जो अब उसके पास बचा है।

वहीं, भाजपा ने तृणमूल कांग्रेस पर हमला बोलते हुए आरोप लगाया कि वह मामले का राजनीतिकरण कर रही है और कानून अपना काम करेगा।

उधर, तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने आरोप लगाया कि बनर्जी की पत्नी को केंद्रीय जांच एजेंसी ने ऐसे दिन नोटिस थमाया है, जब एक दिन बाद कोलकाता की एक अदालत में बनर्जी द्वारा केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के खिलाफ दायर किए गए मानहानि के मामले में सुनवाई होनी है।

अदालत ने शाह को सोमवार को अपने समक्ष ‘‘व्यक्तिगत रूप से या वकील के जरिए’’ पेश होने को कहा है।

तृणमूल कांग्रेस के नेता कुणाल घोष ने आरोप लगाया कि अमित शाह को समन जारी करने के चलते ही भाजपा ध्यान बंटाने के लिए सीबीआई का इस्तेमाल कर रही है।

बंगाल के मंत्री फिरहाद हकीम ने कहा कि भाजपा को हार का डर सता रहा है इसलिए राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों की पत्नियों और बेटियों को निशाना बनाया जा रहा है।

भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता शमिक भट्टाचार्य ने कहा कि अगर कुछ भी गलत नहीं किया है तो तृणमूल कांग्रेस इतना भयभीत और तनाव में क्यों है?

भगवा दल के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा, ‘‘यदि किसी ने कुछ गलत किया है तो कानून अपना काम करेगा। जो दोषी हैं, उन्हें दंड मिलना चाहिए। किसी को भी मामले का राजनीतिकरण नहीं करना चाहिए।’’

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अधीर चौधरी ने कहा कि सीबीआई को बिना किसी राजनीतिक हस्तक्षेप के जांच करनी चाहिए।

Disclaimer: लोकमत हिन्दी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।

Web Title: CBI gives notice to Abhishek Banerjee's wife in coal theft case, Bengal politics heats up

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे