careless, inhuman attitude of some people has made Bihar in trouble says Minister of Nitish Kumar's government | नीतीश कुमार की सरकार के मंत्री ने कहा- कुछ के लापरवाह, अमानवीय रवैये ने बिहार को मुश्किल में डाल दिया है
नीतीश कुमार की सरकार के मंत्री ने कहा- कुछ के लापरवाह, अमानवीय रवैये ने बिहार को मुश्किल में डाल दिया है

Highlightsबिहार के जल संसाधन मंत्री संजय कुमार झा ने राष्ट्रव्यापी बंद (लॉकडाउन) के बावजूद दिल्ली और एनसीआर से बड़े पैमाने पर प्रवासी मजदूरों के पलायन पर रविवार को आरोप लगाया कि कुछ लोगों के लापरवाह और अमानवीय रवैये ने न केवल बिहार को मुश्किल में डाल दिया है। उनका आरोप है कि भविष्य में कोरोना वायरस के विस्फोटक खतरे को भी आमंत्रित किया है। 

पटनाः बिहार के जल संसाधन मंत्री संजय कुमार झा ने राष्ट्रव्यापी बंद (लॉकडाउन) के बावजूद दिल्ली और एनसीआर से बड़े पैमाने पर प्रवासी मजदूरों के पलायन पर रविवार को आरोप लगाया कि कुछ लोगों के लापरवाह और अमानवीय रवैये ने न केवल बिहार को मुश्किल में डाल दिया है बल्कि भविष्य में कोरोना वायरस के विस्फोटक खतरे को भी आमंत्रित किया है। 

झा ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और वहां सत्तासीन आम आदमी पार्टी का नाम लिए बिना उनपर परोक्ष रूप से प्रहार करते हुए रविवार को कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि कुछ लोगों की ओछी राजनीति और संकीर्ण मानसिकता के कारण अचानक ही लाखों लोग दिल्ली से पलायन करने लगे जिसकी वजह से बिहार की सीमाएं भर गयी हैं और प्रधानमंत्री का 21 दिनों का लॉकडाउन ही खतरे में पड़ गया है।'' 

उन्होंने कहा कि इससे कोरोना वायरस के विस्फोटक खतरे को भी आमंत्रित किया है क्योंकि सीमाओं पर खड़े लोग अब भी अपने गांव-घर जाने पर आमादा हैं । बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के विश्वासपात्र माने जाने वाले झा ने कहा कि 21 दिनों का लॉकडाउन इसलिए किया गया है, ताकि कोरोना वायरस ना फैले। अगर लोग एक राज्य से दूसरे राज्य आते रहेंगे तो इसके संक्रमण के फैलने का खतरा बढ़ जाएगा। 

झा ने कहा कि केंद्र सरकार ने सभी राज्य सरकारों को उनके यहां रह रहे सभी प्रवासी नागरिकों, जैसे मजदूर, विद्यार्थी, आदि को हर जरूरी सुविधा व सुरक्षा देते हुए, यातायात व लोगों के पलायन को तुरंत रोकने का निर्देश दिया है। उन्होंने लोगों से अनुरोध किया कि वे जहां हैं, वहीं रहें। सरकार आप तक हर सुविधा पहुंचाएगी। 

झा ने कहा कि हम बाहर से बिहार आने वाले लोगों का कोराना वायरस टेस्ट करवाएंगे। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के दिशानिर्देश पर राज्य के विभिन्न हिस्सों में सामुदायिक रसोई और आइसोलेशन सेंटर की व्यवस्था की गई है। 

उन्होंने कहा कि बाहर से बिहार आनेवालों को सीमा पर ही रोक कर उनकी जांच करवायी जा रही है। बिहार सीमा पर आपदा सीमा राहत केंद्र की स्थापना की जा रही है, जहां लोगो को क्वारंटाइन में रखा जा रहा है। 

Web Title: careless, inhuman attitude of some people has made Bihar in trouble says Minister of Nitish Kumar's government
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे