बिहारः नीतीश सरकार के खिलाफ 32 पेज का आरोप पत्र जारी, शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार में फेल, तेजस्‍वी यादव ने लुटेरी सरकार बताया

By एस पी सिन्हा | Published: June 5, 2022 06:09 PM2022-06-05T18:09:26+5:302022-06-05T18:10:58+5:30

Sampoorna Kranti Diwas:तेजस्वी यादव ने कहा कि आज देश की जनता महंगाई और बेरोजगारी से ज्यादा परेशान है. लोकतंत्र और संविधान तक सुरक्षित नहीं है.

bihar Sampoorna Kranti Diwas 32-page charge sheet issued against Nitish government failed in education, health, employment Tejashwi Yadav called robbery government | बिहारः नीतीश सरकार के खिलाफ 32 पेज का आरोप पत्र जारी, शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार में फेल, तेजस्‍वी यादव ने लुटेरी सरकार बताया

नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि बिहार में सरकार नागपुर से चलती है. उन्होंने कहा कि संघ पूरे देश को हाइजैक करना चाहता है.

Next
Highlightsसीबीआई, ईडी, आईटी से छापा मरवाने का काम किया जाता है.मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि हम इन सब चीजों पर ध्यान नहीं देते हैं.शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार जैसे कई मुद्दों पर नीतीश सरकार को घेरने की कोशिश की गई है.

पटनाः संपूर्ण क्रांति दिवस के मौके पर बिहार की राजधानी पटना के बापू सभागार में महागठबंधन (राजद और वामपंथी पार्टियों) की ओर से नीतीश सरकार के खिलाफ 32 पेज का आरोप पत्र जारी हुआ है. वाम दलों के बड़े नेताओं की मौजूदगी में तेजस्‍वी यादव ने नीतीश सरकार का रिपोर्ट कार्ड जारी करते हुए हर मोर्चे पर फेल बताया.

 

रिपोर्ट कार्ड में बिहार को विशेष राज्य का दर्जा का सवाल से लेकर, शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार जैसे कई मुद्दों पर नीतीश सरकार को घेरने की कोशिश की गई है. इस आरोप पत्र में बिहार सरकार को लुटेरी सरकार बताया गया है. इस मौके पर नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि बिहार में सरकार नागपुर से चलती है. उन्होंने कहा कि संघ पूरे देश को हाइजैक करना चाहता है.

इसकी लड़ाई हमलोगों को पूरजोर तरीके से लड़ना पड़ेगा. नेता प्रतिपक्ष ने बिहार के साथ केंद्र सरकार को आड़े हाथ लिया. उन्होंने पूछा कि हिंदू कैसे खतरे में है? सेना के तीनों अध्यक्ष हिंदू हैं. देश के राष्ट्रपति हिंदू हैं. देश के प्रधानमंत्री हिंदू हैं. देश के किसी राज्य में मुस्लिम मुख्यमंत्री नहीं है. क्या इसके बाद भी हिंदू खतरे में है?

तेजस्वी ने कहा कि हिंदू न खतरे में था, ना आगे खतरे में होगा. हिंदू के लिए खतरा होने की बात कहने वालों की कुर्सी खतरे में है. तेजस्वी ने कहा कि भाजपा के नेता विधानसभा के अंदर चिल्लाते हैं कि मुसलमानों से उनका वोट का अधिकार ले लो, तब मुख्यमंत्री चुप क्यों रहते हैं? इसका जवाब दें. उन्होंने कहा कि हम इसका जवाब चाहते हैं. 

तेजस्वी ने कहा कि मैंने उस वक्त कहा था किसी माई के लाल में दम नहीं कि वोटिंग छीन ले. ये केवल मुसलमान की बात नहीं, ये दलित, पिछड़े सबकी बात है. उन्होंने कहा कि हम कभी भी साम्प्रदायिक शक्तियों के आगे घुटने नहीं टेके है और ना कभी टेकेंगे. हमलोगों सरकार को आईना दिखाते आए हैं और दिखाते रहेंगे. यह हम सभी की ड्यूटी बनती है.

वही बोचहां उपचुनाव की जीत पर कहा कि यह महागठबंधन के साथियों की जीत है और बिहार की जनता की जीत है. तेजस्वी ने कहा कि आज देश की जनता महंगाई और बेरोजगारी से ज्यादा परेशान है. लोकतंत्र और संविधान तक सुरक्षित नहीं है. देश की संपत्तियों को बेचा जा रहा है. बिहार को आज तक विशेष राज्य का दर्ज नहीं मिल पाया है.

बिहार में 19 लाख रोजगार देने का वादा सत्ताधारी दल ने की थी उन वायदों का क्या हुआ? बिहार में कोई भी सिस्टम ढंग से काम नहीं कर रहा है. राज्य के विकास की जगह समाज में सिर्फ जगह घोलने का काम किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि आज जीतने संवैधानिक संस्थाएं है उसे अपने कब्जे में लिया जा रहा है. कोई आवाज उठाता है तो सीबीआई, ईडी, आईटी से छापा मरवाने का काम किया जाता है.

अभी हाल ही हम विदेश गये हुए थे, तब पता चला कि हमारे घर पर छापेमारी करवाई गई है. लेकिन बता देते है कि हमलोग लड़ने वालों में से है. लालू जी कहते है कि जेल जाने से डरने की जरूरत नहीं बल्कि लडने की जरूरत है, तभी हमें हमारा हक मिलेगा. उन्होंने कहा कि यदि भाजपा से हमलोग मिल जाते तो सरकार बन जाती, लेकिन ना तो लालू जी झूके और ना ही उनका बेटा ही झुका.

हम कभी भाजपा से समझौता नहीं कर सकते. साम्प्रदायिक शक्तियों के सामने हम घुटना नहीं टेक सकते. हम चोर दरवाजे से सरकार नहीं बनाते हैं. यहां बता दें कि महागठबंधन (राजद और वाम दलों) के कार्यक्रम में कांग्रेस शामिल नहीं हुई. कांग्रेस का कहना है कि उन्हें आमंत्रित नहीं किया गया है जबकि राजद का कहना है कि आमंत्रण देने के बावजूद कांग्रेस नहीं आ रही है.

राजद के प्रवक्ता शक्ति यादव ने कहा कि राजद ने कांग्रेस को आयोजन में आने का न्योता दिया था. लेकिन संपूर्ण क्रांति की तिथि को लेकर उनको दिक्कत है, शायद इसलिए नहीं आना चाहती. वहीं कांग्रेस विधायक दल के नेता अजीत शर्मा ने कहा कि ये समय विपक्ष को एकजुट होकर भाजपा से लड़ाई लड़ने का है और वे लोग कांग्रेस को छोड़कर सोच रहे हैं कि मजबूत होंगे. ऐसा नहीं है वे कमजोर ही होंगे.

महागठबंधन के इस कार्यक्रम में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव, सीपीआई के डी राजा, सीपीएम के सीताराम येचुरी और भाकपा माले के दीपांकर भट्टाचार्या सहित महागठबंधन के कई वरिष्ठ नेता शामिल हैं. हालांकि इस कार्यक्रम में कांग्रेस शामिल नहीं हुई है. उधर, विपक्ष द्वारा रिपोर्ट कार्ड जारी करने पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि हम इन सब चीजों पर ध्यान नहीं देते हैं.

हम काम करना जानते हैं, उसी पर ध्यान देते हैं. पहले और अभी की स्थिति मीडिया ही बता दे. वहीं, बिहार भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने राजद द्वारा नीतीश सरकार का रिपोर्ट कार्ड जारी करने को लेकर जमकर निशाना साधा. संजय जायसवाल ने कहा कि जयप्रकाश नारायण ने जिन चीजों का विरोध किया. आज वही चीजें राजद में हो रही हैं.

उन्होंने कहा कि वे परिवारवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ थे. ये लोग उनकी तस्वीर लगा कर जयप्रकाश नारायण का अपमान कर रहे हैं. वहीं, विपक्ष द्वारा रिपोर्ट कार्ड जारी करने पर पूर्व केंद्रीय मंत्री और सांसद रविशंकर प्रसाद ने कहा कि ये उनका काम है रिपोर्ट कार्ड देना. सरकार का काम है जवाब देना.

उन्होंने कहा कि लेकिन मैं एक बात कहता हूं जो संपूर्ण क्रांति दिवस की बात कह रहे हैं. हम भी जेपी आंदोलन के सेनानी रहे हैं. उस समय जय प्रकाश का यह भी एक नारा था-भ्रष्टाचार मिटाना है और नया बिहार बनाना है. आज जो लोग संपूर्ण क्रांति की बात कर रहे हैं इस नारे के बारे में उनको क्या कहना है? भ्रष्टाचार के मामले में उनके खिलाफ कार्रवाई भी हो रही है.

Web Title: bihar Sampoorna Kranti Diwas 32-page charge sheet issued against Nitish government failed in education, health, employment Tejashwi Yadav called robbery government

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे