लाइव न्यूज़ :

Bihar Politics News: मंत्री चौधरी की गर्दन पकड़ी, सिर प्रेम कुमार से लड़ा दी और विजय कुमार सिन्हा के सिर से..., सीएम नीतीश ने तिलक लगाए मंत्रियों का इस तरह से कराया मिलन, देखें

By एस पी सिन्हा | Published: June 18, 2024 4:26 PM

Bihar Politics News: मुख्यमंत्री ने एक बार फिर अशोक चौधरी की गर्दन पकड़ ली और पहले उनका सिर मंत्री प्रेम कुमार के सिर से लड़ाया और उसके बाद उपमुख्यमंत्री विजय कुमार सिन्हा के सिर से उनका सिर लड़ा दिया।

Open in App
ठळक मुद्देनजारा देखकर मंच पर मौजूद सभी लोग हंसने लगे।नीतीश कुमार सभी नेताओं को हाथ जोड़ कर मुस्कुराते हुए अभिनंदन किया। अशोक चौधरी और उपमुख्यमंत्री विजय सिन्हा का सिर आपस में टकरा दिया।

Bihar Politics News: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार लंबे समय बाद एक बार फिर अपने पुराने अंदाज में नजर आए। उन्होंने माथे पर तिलक लगाए तीन मंत्रियों उप मुख्यमंत्री विजय कुमार सिन्हा, पर्यावरण एवं वन मंत्री प्रेम कुमार और ग्रामीण कार्य मंत्री डॉ. अशोक चौधरी का ललाट मिलन कराया। यह मिलन मंगलवार को विधान मंडल परिसर में आयोजित एक समारोह में किया गया। मुख्यमंत्री ने एक बार फिर अशोक चौधरी की गर्दन पकड़ ली और पहले उनका सिर मंत्री प्रेम कुमार के सिर से लड़ाया और उसके बाद उपमुख्यमंत्री विजय कुमार सिन्हा के सिर से उनका सिर लड़ा दिया।

यह नजारा देखकर मंच पर मौजूद सभी लोग हंसने लगे। दरअसल, स्वतंत्रता सेनानी अनुग्रह नारायण सिंह को श्रद्धांजलि देने के लिए बिहार विधानसभा परिसर में बने मंच पर नीतीश कुमार सभी नेताओं को हाथ जोड़ कर मुस्कुराते हुए अभिनंदन किया। इसके बाद मंत्री अशोक चौधरी और उपमुख्यमंत्री विजय सिन्हा का सिर आपस में टकरा दिया।

नीतीश कुमार ने दोनों मंत्रियों को सिर आपस में इसलिए टकराया क्योंकि दोनों ने टीका लगा रखा था। विजय सिन्हा और मंत्री अशोक चौधरी का सिर टकराया, वहां इस दौरान मंत्री विजय चौधरी और मंत्री मंगल पाण्डेय वहां उपस्थित थे। विजय सिन्हा ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को भी टीका लगा दिया। इस पर अशोक चौधरी ने कहा कि 'ये तो प्यार से करते हैं नीतीश जी..कोई राजनीति नहीं है उसमें.. जो-जो चंदन लगा रखा था सबको भाव से मिलवा रहे थे मुख्यमंत्री।' वहीं, उप मुख्यमंत्री विजय सिन्हा ने कहा कि यह चंदन-तिलक के प्रति मुख्यमंत्री का प्रेम है।

वे (मुख्यमंत्री) चाहते हैं कि हर आदमी चंदन लगाए। इससे आदमी स्वस्थ रहता है। समृद्धि आती है। यह हमारे संस्कार और संस्कृति का अंग है। वैसे यह पहला वाक्या नहीं है जब दो मंत्रियों का सिर आपस में मुख्यमंत्री नीतीश ने टकराया हो। साल 2023 के सितंबर में भी मॉरीशस के पहले प्रधानमंत्री स्वर्गीय शिवसागर रामगुलाम की जयंती समारोह में मुख्यमंत्री की नजर तिलक लगाए एक पत्रकार पर पड़ी।

उन्होंने बगल में उस समय के भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी तिलक लगाए बैठे थे। मुख्यमंत्री ने चौधरी को यह कहते हुए पकड़ा कि हमारे यहां भी एक (तिलक लगाए) हैं। इतना कह कर वे चौधरी को पकड़े हुए पत्रकार की तरफ बढ़े। फिर दोनों का ललाट मिलन करा दिया। उस वक्त मुख्यमंत्री महागठबंधन में थे। तब इस बात को लेकर भाजपा ने खुब सियासत की थी, लेकिन भाजपा नीतीश कुमार के साथ है।

टॅग्स :बिहारनीतीश कुमारपटना
Open in App

संबंधित खबरें

भारतरुपौली विधानसभा सीट उपचुनावः लालू यादव और तेजस्वी से मिलीं बीमा भारती, कहा-परिवार का ही कोई सदस्य चुनाव लड़ेगा, शाम को दोबारा आकर राजद का सिंबल लेंगे

भारतBihar Politics News: बिहार के लाखों लोगों को फिर से नौकरी मिलने जा रही, तेजस्वी यादव ने लिखा- 17 महीनों में 500000 सरकारी नौकरियां दी...

भारतबिहार: जेडीयू सांसद ने मुसलमानों और यादवों के लिए काम करने से किया इनकार, सांसद ने स्पष्ट रूप से बताई वजह

क्राइम अलर्टMuzaffarpur sexual exploitation: खूब सैलरी देंगे, लालच देकर लड़कियों को दिया जॉब, गर्भवती होने पर कराया गर्भपात, दरिंदों ने बंधक बनाकर शारीरिक संबंध बनाए

भारतBihar Politics News: सीएम नीतीश कुमार के बेटे निशांत को राजनीति में लाने की मांग, विद्यानंद विकल ने फेसबुक पोस्ट लिखा, पढ़िए

भारत अधिक खबरें

भारतVIDEO: महाराष्ट्र कांग्रेस प्रमुख नाना पटोले ने पार्टी कार्यकर्ता से अपने कीचड़ से सने पैर धुलवाए, घटना का वीडियो वायरल, भाजपा ने बताया कांग्रेस की नवाबी सामंती सोच

भारतप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की वाराणसी यात्रा, कांग्रेस ने पूछे 9 सवाल, नमामि गंगे योजना में भ्रष्टाचार का आरोप

भारतNEET Exam Row: सुप्रीम कोर्ट द्वारा एनटीए को फटकार लगाने के बाद राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर साधा निशाना

भारतशहर से लेकर गाँव तक में है इन प्रोडक्ट्स की खूब डिमांड, आप भी इस बिज़नेस को अपनाएं और अपनी कमाई को लाखों में ले जाएं

भारत156 प्रचंड हेलीकॉप्टरों की होगी खरीद, 50 हजार करोड़ का है सौदा, जानें इसकी ताकत और खासियत