Bihar latest corona news Nitish Kumar high level meeting regarding corona | बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने कोरोना के बढ़ते मामलों पर जताई चिंता, स्कूल-कॉलेज 18 अप्रैल तक बंद
सीएम नीतीश कुमार। (फोटो सोर्स- सोशल मीडिया)

Highlightsबिहार में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में लगातार ईजाफा होता जा रहा है। मरीजों की रिकवरी रेट भी 98 प्रतिशत से घटकर 96 प्रतिशत हो गई है।

Bihar latest corona news: बिहार में कोरोना संक्रमण की तेजी से बढ़ती दूसरी लहर के बीच भयावहता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि राजधानी पटना पूरे राज्य के सबसे बडे हॉटस्पॉट के रूप में विकसित हो चुका है। कोरोना बढ़ते कहर के मद्देनजर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज प्रेस कांफ्रेंस कर स्कूल-कॉलेज और कोचिंग संस्थान को 18 अप्रैल तक बंद करने का एलान कर दिया। उन्होंने प्रशासनिक टीम को इसे सख्ती से लागू करने का आदेश दिया है। 

इस दौरान कोविड नियमों का सख्ती से पालन किया जाएगा। सभी दुकानों में मास्क पहनना जरूरी है। दुकानकर्मियों और ग्राहकों के लिए सैनिटाइजर की व्यवस्था जरूरी होगी। सोशल डिस्टेंसिंग का खासा ध्यान रखा जाएगा। रेस्टोरेंट, भोजनालय और ढाबा में निर्धारित संख्या के 25 फीसदी ही लोगों को ही बैठाया जाएगा। उन्होंने कहा कि अब मठ मंदिर श्रद्धालुओं के लिए बंद किये गये हैं। होम डिलिवरी बंद किये गए।

दूकान-मॉल शाम सात बजे बंद हो जायेंगे। होटल में पचीस फीसदी एक साथ होंगे। सिनेमा हाल की क्षमता का 50 फीसदी ही उपयोग होगा। मंदिर, मस्जिद और सभी धार्मिक स्थल बंद रहेंगे। निजी कार्यालय भी 35 फीसदी कमर्चारी ही आएंगे। पब्लिक ट्रासपोर्ट में 50 फीसदी ही बैठेंगे। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि 11 से 14 अप्रैल तक कोरोना टीकाकरण को लेकर विशेष अभियान चलाया जाएगा।
 
मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने कोरोना को लेकर अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। उन्होंने कहा कि देश-दुनिया में कोरोना तेजी से फैल रहा है। बिहार में भी मामला तेजी से बढ रहा है। पटना में भी कोरोना की रफ्तार तेज है। बिहार के रहने वाले कई लोग बाहर भी हैं। वे लोग भी बाहर से बिहार आ रहे हैं। बिहार सरकार ने पूरी तैयारी कर ली है। सरकार ने रेलवे स्टेशन पर ही टेस्टिंग की व्यवस्था की है। जो लोग पॉजिटिव पाए जायेंगे, उनके इलाज की व्यवस्था की गई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि अभी लॉकडाउन पर विचार नहीं हुआ है। 

नाईट कफ्यू पर भी अभी कोई विचार नहीं है। तीस अप्रैल तक हमलोग देख रहे हैं। इसके बाद आगे समीक्षा करेंगे और तब निर्णय लेंगे। उन्होंने कहा कि सरकार हर स्तर पर मुश्तैद हैं। जो लोग बाहर से आ रहे हैं उसमें जो पॉजिटिव रहेंगे उन्हें उचित सेंटर पर भेजा जायेगा। बाकी लोगों को जो सुविधा देनी है वो देंगे। आज एक ट्रेन से जो लोग आये उनकी जांच की गई, उसमें 17 लोग पॉजिटिव निकले। 

महाराष्ट्र से आने वाली ट्रेन पर विशेष नजर है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमलोगों ने यह तय किया है कि टीकाकरण की रफ्तार को और बढाया जाये। 4 दिनों में 4 लाख तक टीकाकरण करेंगे। पटना से लेकर नीचे के स्तर तक टीकाकरण का प्रबंध किया जा रहा है। टीकाकरण के बाद लोग ज्यादा सुरक्षित होंगे। अगर टीका लेने के बाद पॉजिटिव हो भी जाते हैं, उन्हें ज्यादा परेशानी नहीं होगी। उन्होंने कहा कि राज्यपाल मोहदय की अध्यक्षता में एक सर्वदलीय बैठक होगी। इसकी तारीख बहुत जल्द तय हो जाएगी। 

यहां उल्लेखनीय है कि बिहार में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में लगातार ईजाफा होता जा रहा है। मरीजों की रिकवरी रेट भी 98 प्रतिशत से घटकर 96 प्रतिशत हो गई है। इसके अलावा पिछले साल की अपेक्षा इस साल ज्यादा लोगों की मौत कोरोना की वजह से हो रही है। कोरोना का यह नया स्ट्रेन युवाओं, बच्चों को अपना शिकार बना रहा है। स्व्स्थ व्यक्ति भी कब कोरोना की चपेट में आ जा रहे हैं, इसका पता उन्हें भी नहीं चल पा रहा। 

आज पटना में कोरोना से एक 11 साल के बच्चे की मौत हो गई। 11 साल के आर्यन ने इलाज के दौरान एनएमसीएच अस्पताल में दम तोड दिया। जिसके बाद से दहशत का माहौल है। ये दहशत इसलिए भी है, क्योंकि जहानाबाद का रहने वाला 11 साल का आर्यन कोरोना पॉजिटिव पाया गया था। उसे हल्का बुखार आया, सांस लेने में दिक्कत हुई

इस बीच पटना जंक्शन और पटना एयरपोर्ट (जय प्रकाश नारायण अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे) पर  मुंबई से लौटे 23 पैसेंजर्स  कोविड-19 संक्रमित पाए गए हैं। इस बाबत पटना की सिविल सर्जन डॉ विभा कुमारी सिंह ने बताया कि मुंबई से कुर्ला-पटना एक्सप्रेस से पटना पहुंचे 655 यात्रियों की कोरोना जांच की गई, इसमें 17 कोरोना पॉजिटिव पाए गए। वहीं मुंबई से पटना पहुंचे छह विमान यात्रियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमित ट्रेन यात्रियों को आइसोलेशन के लिए होटल पाटलिपुत्र अशोका में बनाए गए कोविड केयर सेंटर ले जाया गया था। 

जहां स्क्रीनिंग और कागजी कार्रवाई के बाद उन्हें सरकारी क्वारंटाइन सेंटर या घर पर ही खुद को क्वारंटाइन करने का विकल्प दिया गया। उधर, गुरूवार की देर रात पूर्व मध्य रेल के टीटीई की हुई कोरोना से मौत हो गई है। टीटीई समीर कुमार चंद्रवंशी को पिछले दिनों कोरोना हो गया था। कुछ दिन बाद उनकी तबीयत ज्यादा बिगड गई तो उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां कोरोना से लडते हुए उनकी मौत हो गई। कुछ ही दिन पहले उनकी शादी हुई थी। पहले कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद इन्हें इलाज के लिए हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। इलाज के क्रम में इनकी मौत हो गई है। टीटीई की मौत के बाद रेलवे कर्मियों में हडकंप मच गया है। पटना जंक्‍शन पर तैनात कई रेलकर्मी अब तक कोरोना संक्रमंण से संक्रमित हो चुके हैं। रेल कर्मियों के कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद रेलकर्मी काफी दहशत में हैं। 

रेलवे सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पिछले तीन से चार दिनों में पटना जंक्‍शन पर तैनात दर्जन भर रेल कर्मी कोरोना से संक्रमित हो गए हैं। कोरोना के बढते मामलों और गंभीर लक्षणों को देखते हुए सभी लोगों से खास सावधानी बरतने की अपील की जा रही है। लोगों का लगातार मास्क का प्रयोग करना चाहिए, बेवजह घरों से बाहर नहीं निकलना चाहिए। बच्चों और बुजुर्गों को खास एहतियात बरतना चाहिए। वहीं बेतिया में पुलिस हिरासत में बंद एक कैदी कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। कैदी की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद पुलिसकर्मियों के बीच हडकंप मच गया है। जो पुलिसकर्मी उसके संपर्क में आये थे, उन्हें कोविड टेस्ट कराने का निर्देश दिया गया है।

Web Title: Bihar latest corona news Nitish Kumar high level meeting regarding corona

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे