Highlightsजदयू ने बिहार विधान सभा चुनाव के लिए सभी सीटों पर उम्मीवार के नाम की घोषणा कर दी है, लेकिन लिस्ट में गुप्तेश्वर पांडे का नाम नहीं है। भाजपा ने बक्सर सीट से अपने उम्मीदवार के नाम की घोषणा कर दी है। इससे पहले भी लोकसभा चुनाव 2009 से पहले भी चुनाव लड़ने के लिए गुप्तेश्वर पांडे ने वीआरएस लिया था, लेकिन भाजपा ने उन्हें टिकट नहीं दिया था।

नई दिल्ली:बिहार के सीएम नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू ने लगभग सभी सीटों पर अपने उम्मीदवारों के नाम की घोषणा कर दी है। बक्सर से पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे के चुनाव लड़ने की चर्चा चल रही थी। लेकिन, एनडीए गठबंधन में भाजपा के हिस्से में यह सीट आई है। 

बता दें कि बक्सर से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने श्री परशुराम चतुर्वेदी को अपना उम्मीदवार बनाया है। इस तरह अब साफ है कि एक बार फिर से गुप्तेश्वर पांडे का सपना पूरा नहीं हो सका। क्योंकि भाजपा के खाते में बक्सर की सीट चली गई। 

पार्टी ने बक्सर विधानसभा क्षेत्र से परशुराम चतुर्वेदी और अरवल से दीपक शर्मा को अपना उम्मीदवार बनाया है। पार्टी की ओर से जारी एक विज्ञप्ति में कहा गया कि केंद्रीय चुनाव समिति ने इन दोनों नामों को अपनी स्वीकृति दी है।

हाल ही में बिहार के पूर्व पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) पद से अपनी निर्धारित सेवानिवृति से पहले ही ऐच्छिक सेवानिवृत्ति (वीआरएस) लेने वाले गुप्तेश्वर पांडेय को लेकर कयास लगाए जा रहे थे कि उन्हें बक्सर से चुनाव लड़ाया जा सकता है। बक्सर पांडेय का पैतृक जिला है। 

इससे पहले भी लोकसभा चुनाव 2009 से पहले भी चुनाव लड़ने के लिए गुप्तेश्वर पांडे ने वीआरएस लिया था, लेकिन भाजपा ने उन्हें टिकट देने से इनकार कर दिया था।

मंगलवार रात भाजपा ने 27 उम्मीदवारों की सूची जारी की थी लेकिन बक्सर जिले की दो सीटों- बक्सर और ब्रह्मपुर को छोड़ दिया गया था। हालांकि, बाद में इस सीट पर भाजपा ने अपने उम्मीदवार के नामों की घोषणा कर दी है।

Bihar DGP Gupteshwar Pandey to contest in upcoming Assembly election | english.lokmat.com

पूर्व डीजीपी ने एक मीडिया को बताया कि उन्हें इस बारे में कोई जानकारी नहीं है। पांडे ने बुधवार सुबह कहा, ‘मैं कॉल का इंतजार कर रहा हूं।’ संयोग से ब्रह्मपुर सीट बीजेपी के द्वारा विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) को देने की संभावना है- बॉलीवुड सेट डिजाइनर मुकेश साहनी की पार्टी जिन्होंने पिछले हफ्ते ही विपक्षी गठबंधन छोड़ दिया था।

Sushant Singh Rajput death case: Bihar DGP accuses Mumbai Police of being unprofessional | english.lokmat.com

दरअसल, बीते दिनों बिहार के पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय पटना स्थित मुख्यमंत्री आवास पर सीएम नीतीश कुमार की मौजूदगी में जनता दल यूनाइटेड में शामिल हुए थे। सीएम नीतीश कुमार ने उन्हें जेडीयू की सदस्यता दिलाई थी। सदस्यता लेने से कुछ दिन पहले ही पूर्व डीजीपी ने कुछ ही दिन पहले वीआरएस लिया था।

Bihar Governor approves DGP Gupteshwar Pandey

इसके बाद सीएम आवास से निकलकर पूर्व डीजीपी ने कहा था कि मुझे सीएम नीतीश कुमार जी ने खुद फोन कर बुलाया था। इसके बाद सीएम आवास पर मैं जदयू का हिस्सा हो गया हूं। अब पार्टी मुझे जो भी जिम्मेदारी देगी मैं उसे लेने के लिए तैयार हूं। उन्होंने कहा था कि मैं राजनीति को ज्यादा नहीं समझता हूं। मैं बेहद समान्य इंसान हूं। मैंने समाज के गरीब व पिछड़े लोगों के लिए पुलिस विभाग में रहकर लंबे समय तक काम किया है।

Web Title: Bihar: Former DGP Gupteshwar Pandey did not get ticket from JDU, know who made BJP candidate from Buxar
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे