Bihar election: Mask, loud appeal for vote instead of following proper distance | बिहार चुनाव : मास्क, उचित दूरी के पालन के बजाए वोट के लिए जोर-शोर से हुई अपील
बिहार चुनाव : मास्क, उचित दूरी के पालन के बजाए वोट के लिए जोर-शोर से हुई अपील

पटना, छह नवंबर बिहार जब विधानसभा चुनाव के लिए तैयार हो रहा था उस वक्त कई लोग कोविड-19 का हवाला देकर इसे टालना चाहते थे। अब चुनाव का तीसरा और अंतिम चरण आ चुका है, इस दौरान महामारी के बीच भी लोग मतदान के साथ अपना कामकाज बिना किसी डर के करते नजर आए।

उचित दूरी बनाए रखने और मास्क पहनने के बारे में चुनाव आयोग के निर्देश की लोगों ने परवाह नहीं की और समूचे राज्य में विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं को सुनने के लिए भारी भीड़ जमा हुई। हालांकि, चुनाव आयोग ने मतदान केंद्रों के भीतर कोविड-19 के संबंध में सुरक्षा निर्देशों के पालन के लिए पर्याप्त व्यवस्था की।

महामारी के बीच भी लोग अपने रोजाना के कामकाज के लिए निकलते रहे। कई लोगों ने आधिकारिक आंकड़ों का हवाला दिया कि बिहार महामारी से कम प्रभावित होने वाले राज्यों में है जबकि देश के अन्य हिस्सों में जन-जीवन ज्यादा प्रभावित हुआ है।

सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, आबादी के हिसाब से देश के तीसरे बड़े राज्य में शुक्रवार को कोविड-19 के उपचाराधीन मामलों की संख्या 6356 है। देश के गरीब राज्यों में शुमार होने के बावजूद आधिकारिक आंकड़ों से पता चलता है कि यहां कोविड-19 के लिए राष्ट्रीय औसत की तुलना में ठीक होने की दर बेहतर है। मास्क नहीं पहनने या उचित दूरी का पालन नहीं करने के बारे में पूछे जाने पर राज्य में कई लोगों ने कहा, ‘‘कोरोना से हम क्यों डरे जब हमारे आसपास वायरस का कोई असर नहीं दिख रहा है।’’

विशेषज्ञ भले ही महामारी के बारे में कई तरह की सोच को खारिज कर चुके हैं लेकिन कई लोगों का मानना है ज्यादा शारीरिक मेहनत करने वालों पर संक्रमण का असर नहीं होता है।

चुनाव के दौरान उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी और चुनाव के लिए भाजपा के प्रभारी देवेंद्र फडणवीस भी संक्रमित हुए। लेकिन ज्यादातर लोगों पर इसका शायद ही कोई असर पड़ा क्योंकि लोग पहले की तरह ही कोविड-19 के दिशा-निर्देशों का पालन ना करते हुए चुनावी अभियान में शामिल हुए।

पहले दो चरण के दौरान क्रमश: 55.69 प्रतिशत और 55.70 प्रतिशत मतदान हुआ। पहले चरण में 2015 के चुनाव की तुलना में एक प्रतिशत ज्यादा मतदान हुआ जबकि दूसरे चरण में 0.50 प्रतिशत कम मतदान हुआ। राज्य की 243 सदस्यीय विधानसभा में 78 सीटों के लिए शनिवार को अंतिम चरण का मतदान होगा ।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी कई रैलियों में देशवासियों से कोविड-19 के निर्देशों के पालन की अपील की। भाजपा के कार्यकर्ता रैलियों में पहुंचने वालों को मास्क देते भी दिखे।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और राजद नेता तेजस्वी यादव समेत प्रदेश के कई नेताओं की रैलियों में लोग निर्देशों का पालन नहीं करते हुए दिखे। तेजस्वी की रैलियों में कुछ स्थानों पर उत्साही भीड़ ने समीप से अपने नेता को सुनने के लिए बैरिकेड तक तोड़ डाले।

Disclaimer: लोकमत हिन्दी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।

Web Title: Bihar election: Mask, loud appeal for vote instead of following proper distance

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे