Highlightsपहली बार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सदन में इस तरह भड़के हैं.पिता को लोकदल में नेता किसने बनाया था, ये सारी बात एक-एक लोग जानते हैं.बिहार में हर दिन करीब एक लाख टेस्ट हर दिन किये जा रहे हैं.

पटनाः  17वीं विधानसभा के गठन के बाद शुरू हुआ पहला सत्र आज खत्म हो गया विधानसभा की बैठक आज राज्यपाल के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर बहस और उसे पास करने के साथ अनिश्चित काल के लिए स्थगित कर दी गई.

वहीं, तेजस्वी यादव के आरोपों से बौखलाये नीतीश कुमार ने बड़ा हमला बोला. उन्होंने सदन में बोलते हुए कहा कि हम अब तक चुप थे. यह हमारे बेटे के समान है. इसके बाप हमारे उम्र के हैं. ये बकवास कर रहा है. तुमको डिप्टी सीएम किसने बनाया था. आप चार्जशीटेड हो, तुम क्या करते हो हम सब जानते हैं.

नीतीश कुमार विधानसभा में तेजस्वी यादव पर भड़क गए. मुख्यमंत्री ने कहा कि यह बकवास कर रहा है. इसकी जांच कराई जाए. बडे़ भाई सामान दोस्त का बेटा हैं. इसलिए हम सुनते रहते हैं. लेकिन यह कुछ भी बोल देता है. ये झूठ बोल रहा है. इसको नेता प्रतिपक्ष कौन बनाया, इसको डिप्टी सीएम किसने बनाया हैं. इस पर जब आरोप लगा तो मैंने कहा कि एक्सप्लेन करो जब नहीं किया तो मैंने इसको छांट दिया.

उन्होंने कहा कि हम अब तक चुप थे. यह हमारे बेटे के समान हैं. इनके पिताजी (लालू प्रसाद) हमारी उम्र के हैं. आप चार्जशीटेड हो, तुम क्या करते हो, हम सब जानते हैं. राज्‍यपाल के अभिभाषण पर बोलने के दौरान नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर व्‍यक्तिगत टिप्‍पणी की थी. इसपर नीतीश कुमार गुस्‍से में भड़क गए.

पहली बार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सदन में इस तरह भड़के हैं

कहा जा रहा है कि शायद पहली बार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सदन में इस तरह भड़के हैं. मुख्यमंत्री ने गुस्से में सदन में खडे़ होकर कहा कि ये (तेजस्‍वी यादव) मेरे भाई समान दोस्त (लालू यादव) का बेटा है इसलिए हम बर्दाश्‍त करते रहते हैं. इसके पिता को लोकदल में नेता किसने बनाया था, ये सारी बात एक-एक लोग जानते हैं.

मगर इसपर अब कार्यवाही होनी चाहिए. यह चार्जशीटेड था, हमने कहा- जवाब दे दो तो यह आगे नहीं आया. इसपर हम महागठबंधन से अलग हो गए. नीतीश कुमार ने थोड़ी देर बाद शांत होते हुए कहा कि आगे बढ़ना है तो मर्यादा में रहना सीखना होगा. वहीं, बिहार विधानसभा सत्र के अंतिम दिन राज्यपाल के अभिभाषण पर सरकार की तरफ से चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि कोरोना का संकट फिर से बढ़ा है. बिहार में हर दिन करीब एक लाख टेस्ट हर दिन किये जा रहे हैं.

मुख्यमंत्री ने सदन में बताया कि प्रधानमंत्री मोदी के साथ कोरोना वैक्सिन पर चर्चा हुई है. अभी दवा आने वाने वाली है, इसको लेकर तैयारी की जा रही है. राज्य सरकार दवा को लेकर गाइडलाइन बना रही है. सबसे पहले स्वास्थ्य सेवा में लगे लोगों को वैक्सिन दी जाएगी.

नीतीश कुमार ने कहा कि हम तो कुछ कहने नहीं जा रहे

तेजस्वी पर हमला करते हुए नीतीश कुमार ने कहा कि हम तो कुछ कहने नहीं जा रहे. जो चार्जशीटेड है वो हम पर सवाल उठा रहा है. मेरे खिलाफ हत्या के एक मामले को लेकर सुप्रीमकोर्ट लोग गए, लेकिन वहां से भी हार का सामना करना पड़ा. भला बताइए क्या हम यह काम कर सकते हैं, जरा सोचिए...क्या हम ऐसा काम कर सकते हैं...

मुख्यमंत्री ने कहा कि नियमों का उलंघन कर काम नहीं होना चाहिए. अध्यक्ष महोदय को भी चाहिए कि नियमों का उलंघन नहीं हो ताकि सदन की गरिमा बनी रहे. अध्यक्ष महोदय को इसकी पूरी जिम्मेदारी बनती है. नीतीश कुमार ने कहा एक वोट से भी जीत जीत होती है. किसी को कोई परेशानी है तो कोर्ट जाए.

आरोप झेल चुके नीतीश कुमार अब अलर्ट मोड़ में आ गए हैं

विधानसभा चुनाव के दौरान 7 निश्चय की योजनाओं में गड़बड़ियों का आरोप झेल चुके नीतीश कुमार अब अलर्ट मोड़ में आ गए हैं. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने विधानसभा में आज इस बात की घोषणा कर दी कि 7 निश्चय की योजनाओं में अगर गड़बड़ी हुई है तो सरकार उसे गंभीरता से लेगी.

नीतीश कुमार ने कहा कि वह सभी विधायकों से 7 निश्चय की योजनाओं में चूक के बारे में जानकारी मांग रहे हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि सात निश्चय की योजना से जुड़ी किसी भी चूक के बारे में विधायक उनको जानकारी दे सकते हैं. सरकार इस मामले को लेकर बेहद गंभीर है. इतना ही नहीं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि अब विधानसभा का सत्र खत्म होने के बाद वह जिला स्तर पर विकास योजनाओं की समीक्षा करेंगे. नीतीश कुमार ने कहा कि विकास योजनाओं को लेकर सरकार की कार्य योजना तैयार है और हम जिला स्तर पर जल्द ही इसकी समीक्षा की शुरुआत करेंगे.

किसी भी कीमत पर वह विकास की धारा को रोक नहीं सकते

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने विधानसभा में चर्चा के दौरान कहा कि किसी भी कीमत पर वह विकास की धारा को रोक नहीं सकते. भले ही वह किसी भी गठबंधन के साथ सरकार में रहे हो. विकास उनकी प्राथमिकता रही है. जब वह महागठबंधन के साथ थे तब भी विकास एजेंडे में था और अब अगर एनडीए के साथ हैं, तब भी बिहार का विकास सर्वोपरि है. उन्होंने आगे कहा कि आज विधानमंडल का सत्र खत्म होने के बाद आगे कई काम करेंगे. सबसे पहला काम करेंगे कि सात निश्चय में नल-जल योजना समेत तमाम योजनाओं की समीक्षा करेंगे.

आगे की कार्ययोजना तैयार करेंगे और काम शुरू करायेंगे. नीतीश कुमार ने कहा कि काम करना नहीं छोड़ेंगे. मुख्यमंत्री ने विधायकों से आह्वान किया कि आपको नल-जल में कहीं भी गडबडी मिले तो तत्काल शिकायत करिए कार्रवाई करेंगे. आप विश्वास कीजिए किसी को छोड़ेंगे नहीं. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आगे कहा कि बताइए कि किस क्षेत्र में काम नहीं हुआ है? सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को नौकरी नहीं दी गई है क्या... स्कूल से बाहर रहने वाले बच्चों को स्कूल तक पहुंचाया.

नीतीश कुमार ने आगे कहा कि जनता मालिक है, जनता ने जो फैसला दिया है

नीतीश कुमार ने आगे कहा कि जनता मालिक है, जनता ने जो फैसला दिया है वह स्वीकार है. बिना नाम लिये तेजस्वी यादव पर अटैक करते हुए कहा कि जब सात निश्चय लागू किया गया था, तब हमारे साथ कौन लोग थे? हमने जब गडबडी करने वालों का साथ छोड़कर एनडीए के साथ मिलकर सरकार बनाई तो क्या सात-निश्चय को छोड़ दिया. हम काम करते रहे....आगे भी करेंगे. नीतीश कुमार ने कहा कि नल-जल में घोटाला हुआ है तो जानकारी दें वैसे लोगों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी.

इससे पहले राज्यपाल के अभिभाषण पर चर्चा के दौरान नीतीश कुमार पर तेजस्वी की निजी टिप्पणी के कारण सदन में जमकर हंगामा हुआ. तेजस्वी ने कहा, "मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी अपनी चुनावी सभाओं में लालू को 9 बच्चों की बात करते थे. कहते थे बेटी पर भरोसा नहीं था, बेटा के लिए 9 बच्चे हुए. क्या नीतीश जी को लडकी पैदा होने का डर था, इसलिए उन्होंने दूसरा बच्चा नहीं पैदा किया?"

Web Title: bihar cm nitish kumar gets angry in assembly rjd tejaswi yadav words vidhansabha winter session

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे