Bihar assembly elections 2020 RJD chief Lalu Prasad Yadav jdu bjp nitish kumar pm modi | लालू प्रसाद यादव का ट्वीट-डबल इंजन की सरकार इतनी डबल स्टैंडर्ड क्यों हैं?
सजायाफ्ता मुजरिम के साथ कोई राजनीतिक बातचीत नहीं होगी और असिस्टेंट जेलर लेवल का अधिकारी मुलाकात के दौरान मौजूद रहेगा. (file photo)

Highlightsचाहे ट्विटर के जरिए बिहार के कार्यकर्ताओं में जोश भरना हो अथवा जेल में राजद के लोगों से मिलकर राजनीति पर चर्चा करना. रिम्स के केली बंगले में बतौर कैदी रह रहे लालू प्रसाद यादव राजनीति में लगातार सक्रिए हैं. बिहार के युवा राजद नेता सैयद अली ने लालू प्रसाद यादव से रांची रिम्स में मुलाकात की.

पटनाः राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव भले ही इस समय बहुचर्चित चारा घोटाले में आरोपी के तौर पर सजा काट रहे हो, लेकिन रिम्स के केली बंगले में बतौर कैदी रह रहे लालू प्रसाद यादव राजनीति में लगातार सक्रिए हैं. वह चाहे ट्विटर के जरिए बिहार के कार्यकर्ताओं में जोश भरना हो अथवा जेल में राजद के लोगों से मिलकर राजनीति पर चर्चा करना.

वह लगातार स्थिति पर नजर बनाये हुए हैं. लालू लगातार ट्विटर के जरिए बिहार सरकार पर हमलावार हैं. इस बीच एक युवा राजद नेता की वजह से वह मुश्किल में फंसते नजर आ रहे हैं. ऐसे में अब भाजपा ने लालू यादव की घेराबंदी शुरू कर दी है और जेल मैन्युअल के उल्लंघन का आरोप लगाकर कड़ी कार्रवाई की मांग की है.

दरअसल, बिहार के युवा राजद नेता सैयद अली ने लालू प्रसाद यादव से रांची रिम्स में मुलाकात की. इसके बाद लालू के साथ एक फोटो फेसबुक पर शेयर कर दी. तस्वीरें वायरल होने के बाद झारखंड भाजपा के प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने कहा कि रिम्स निदेशक बंगला (केली बंगला) में लंबे समय से हो रहा जेल मैनुअल का उल्लंघन बिल्कुल भी नहीं रुक रहा. बिहार राजद के नेता सईद अली ने शुक्रवार को लालू प्रसाद से मुलाकात की.

मुलाकात की तस्वीरों को फेसबुक पर साझा करते हुए लिखा कि लालू प्रसाद को बिहार चुनाव की स्थिति से अवगत कराया. ऐसे में भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि जेल मैनुअल के अनुसार आप किसी सजायाफ्ता मुजरिम के साथ तस्वीर नहीं खिंचवा सकते. यहां बड़ा प्रश्न यह है कि अगर यह तस्वीर मोबाइल से ली गई है तो मोबाइल को केली बंगले के अंदर ले जाने की इजाजत किसने दी?

मैनुअल स्पष्ट करता है कि सजायाफ्ता मुजरिम के साथ कोई राजनीतिक बातचीत नहीं होगी

जेल मैनुअल स्पष्ट करता है कि सजायाफ्ता मुजरिम के साथ कोई राजनीतिक बातचीत नहीं होगी और असिस्टेंट जेलर लेवल का अधिकारी मुलाकात के दौरान मौजूद रहेगा. प्रतुल शाहदेव ने कहा कि राजद नेता के द्वारा सोशल मीडिया में डाली गई तस्वीर में तो असिस्टेंट जेलर नहीं दिख रहे हैं. मुलाकाती ने मास्क भी नहीं लगा रखा है, जबकि लालू प्रसाद को संक्रमण से बचाने के नाम पर केली बंगला में रखा गया है.

वास्तविकता में राजद के चुनावी अभियान का संचालन केली बंगला से हो रहा है. उन्होंने कहा कि बिहार के नेता लालू प्रसाद यादव को बिहार चुनाव की लगातार जानकारी दे रहे हैं. रिम्स निदेशक का बंगला राजद का प्रधान चुनावी कार्यालय बनकर कार्य कर रहा है. लालू प्रसाद यादव अपनी सुविधाओं का जमकर दुरुपयोग कर रहे हैं. राज्य सरकार को इस पर अविलंब कार्रवाई करनी चाहिए. 

इन सभी बातों से बेफिक्र राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव ट्वीट कर अपनी राजनीतिक गतिविधी को बनाये हुए हैं. उन्होंने बिहार व केंद्र की सरकार को डबल इंजन की सरकार कह लालू ने चुटकी भी ली. उन्होंने ट्वीट के जरिए हमला करते हुए लिखा कि-डबल इंजन की सरकार इतनी डबल स्टैंडर्ड क्यों हैं? वहीं बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी पर कटाक्ष करते हुए एक कार्टून शेयर की है. साथ ही लिखा है कि जनता ने आपको बहुत दिया मौका, लेकिन आपने दिया धोखा.

वहीं नोटबंदी समेत अन्य पहलुओं पर भी उन्होंने केंद्र व बिहार की सरकार के खिलाफ हमला बोला है. कहा जा रहा है कि लालू प्रसाद यादव अपने ट्विटर एकाउंट का संचालन स्वयं नहीं करते. लालू प्रसाद यादव के ट्विटर हैंडलर पर जिक्र है कि उनसे मिलने आने वाले लोगों के जरिए वह अपनी राय व विचार जाहिर करते हैं. इसके बाद उसे ट्विटर पर पोस्ट किया जाता है. लालू प्रसाद यादव के साथ एक मुलाकाती की पोस्ट सोशल मीडिया पर वारयल हो रही. 

इसबीच खबर है कि इस बार नवरात्र में 3 बकरों की बलि देने वाले हैं. कारण कि वह मां दुर्गा के अनन्य भक्त हैं. जानकारों के अनुसार पहला बकरा एनडीए की हार को लेकर दिया जाएगा, दूसरा तेजस्वी को मुख्यमंत्री बनाने के लिए तो वहीं तीसरा बकरा अपनी रिहाई के लिए देंगे. बताया जा रहा है कि राजद प्रमुख लालू यादव नवरात्र के दौरान देवी दुर्गा की उपासना में लगे हैं. यहां उल्लेखनीय है कि बिहार-झारखंड में नवमी के दिन बकरों की बलि देने की प्रथा है.

इस वक्त लालू प्रसाद यादव जेल के बदले रांची के रिम्स में स्थित 1 केली बंगले में अपनी सजा काट रहे हैं. इस बंगले के बाहर लालू प्रसाद यादव का सहयोगी इरफान दो काले बकरों के साथ अंदर जाता दिख रहा है, तभी से ये कयास लगाया जा रहा है कि लालू प्रसाद यादव नवमी के दिन बकरों की बलि देने वाले हैं.

सूत्रों के अनुसार लालू प्रसाद यादव नवमी यानी 25 अक्टूबर को तीन बकरों की बलि चढाने वाले हैं. पहले बकरे की बलि बिहार में एनडीए को हराने के लिए है, दूसरा बकरा उनकी दूसरी इच्छा की पूर्ति होने के लिए है कि उनके बेटे तेजस्वी यादव बिहार की सत्ता के केंद्र में आ जाएं मतलब बिहार के मुख्यमंत्री बन जाएं और तीसरा बकरा उनकी जेल से रिहाई के लिए है. यहां बता दें कि चारा घोटाले में सजा काट रहे लालू यादव इलाज के लिए रांची के रिम्स में भर्ती हैं. संक्रमण से बचाने के लिए उन्हें रिम्स निदेशक के 1 केली बंगले में शिफ्ट किया गया है.

Web Title: Bihar assembly elections 2020 RJD chief Lalu Prasad Yadav jdu bjp nitish kumar pm modi

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे