इंदौर, 13 जून: आध्यात्मिक गुरु भय्यू महाराज के सुसाइड के मामले में अब एक नया मोड़ आ गया है। पुलिस को इस मामले में एक और सुसाइड नोट बरामद हुए हैं। जिसमें उन्होंने अपनी सारी दौलत उनके सेवादार और सबसे करीबी विनायक के नाम की है। 

स्थानीय मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक कि विनायक पिछले 15 सालों से भय्यू महाराज के साथ रहता था। उसे भैय्यू का सबसे करीबी माना जाता है। सुसाइड नोट के दूसरे पन्ने में भैय्यू ने अपने आश्रम, प्रॉपर्टी और वित्तीय शक्तियों की सारी जिम्मेदारी विनायक को दी है। 

सुसाइड नोट में भय्यू महाराज ने लिखा है, मैं विनायक पर विश्वास करता हूं, इसलिए उसे ये सारी जिम्मेदारी सौंप रहा हूं और ये मैं बिना किसी दबाव के लिख रहा रहूं। गौरतलब है कि भैय्यू जी ने जब गोली मारी तब विनायक भी घर पर मौजूद था। 

डीआईजी हरिनारायणाचारी मिश्र के मुताबिक, 'सुसाइड नोट में विनायक के बारे में जिक्र किया गया है। यह शख्स 15-16 सालों से उनकी देखरेख करते थे। उनके ही साथ रहते थे। हालांकि पुलिस इस तथ्य के बारे में जांच कर रही है। पुलिस का कहना है कि ये दोनों इनसे काफी  भावनात्मक तौर पर जुड़े होंगे इसलिए उनका लिखा गया है। 

आत्महत्या से कुछ घंटे पहले तक एक्टिव था भैय्यू महाराज का फेसबुक, ये हैं आखिरी 5 एफबी पोस्ट

बता दें कि मध्य प्रदेश में आधात्मिक गुरु भय्यू महाराज ने 12 जून को खुदकुशी कर ली है। खबरों के मुताबिक उन्होंने खुद को गोली मारी ली है। इसके बाद उन्हें इंदौर के बॉम्बे हॉस्पिटल ले जाया गया। लेकिन वहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया है। आज उनका अंतिम संस्कार किया गया है। बता दें कि इससे पहले भी इनका एक और सुसाइड नोट बरामद किया गया है। जिसमें उन्होंने लिखा है, मैं अपनी जिंदगी से तंग आ चुका हूं। मैं बहुत स्ट्रेस में हू। इसलिए मैं ये सबकुछ छोड़ रहा हूं। इस नोट के पहले लाइन में उन्होंने कुछ परिवार की परिस्थितियों के बारे में भी जिक्र किया है।  

लोकमत न्यूज के लेटेस्ट यूट्यूब वीडियो और स्पेशल पैकेज के लिए यहाँ क्लिक कर के सब्सक्राइब करें। 


Web Title: bhaiyyu maharaj suicide case: new suicide note revealed all property of vinayak
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे