Assam State NRC Coordinator approaches Supreme Court | असम राज्य एनआरसी समन्वयक ने उच्चतम न्यायालय का रूख किया
असम राज्य एनआरसी समन्वयक ने उच्चतम न्यायालय का रूख किया

नयी दिल्ली, 13 मई असम राज्य एनआरसी समन्वयक ने उच्चतम न्यायालय से संपर्क कर राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) के मसौदे और पूरक सूची के पूर्ण, समग्र एवं समयबद्ध तरीके से पुन: सत्यापन का आग्रह किया है तथा कहा है कि इसमें ‘‘कुछ प्रत्यक्ष खामियां’’ दिखी हैं।

हितेश देव शर्मा ने उच्चतम न्यायालय के समक्ष लंबित मामले में हस्तक्षेप आवेदन दायर कर यह आग्रह भी किया कि पुनर्सत्यापन का कार्य संबंधित जिलों में निगरानी समिति की देखरेख में किया जाना चाहिए तथा इस तरह की समिति में प्राथमिकता के साथ जिला न्यायाधीश, जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक जैसे लोग शामिल होने चाहिए।

मई 2014 से फरवरी 2017 तक एनआरसी असम के कार्यकारी निदेशक रहे शर्मा को अक्टूबर 2019 में हुए प्रतीक हाजेला के तबादले के बाद 24 दिंसबर 2019 को एनआरसी का राज्य समन्वयक नियुक्त किया गया था।

शर्मा ने कहा कि खामियों को न्यायालय के समक्ष लाए जाने की आवश्यकता है क्योंकि एनआरसी अद्यतन की प्रक्रिया शीर्ष अदालत की निगरानी में हो रही है और समूची एनआरसी अद्यतन प्रक्रिया ‘‘राष्ट्र की सुरक्षा एवं अखंडता’’ से जुड़ी है।

Disclaimer: लोकमत हिन्दी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।

Web Title: Assam State NRC Coordinator approaches Supreme Court

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे