अमित शाह का जम्मू में कश्मीर जैसा 'जीरो टेरर प्लान', उच्च स्तरीय बैठक में गृहमंत्री ने लिया कड़ा फैसला

By रुस्तम राणा | Published: June 16, 2024 05:40 PM2024-06-16T17:40:48+5:302024-06-16T17:40:48+5:30

केंद्रीय गृह मंत्री ने तीर्थयात्रा के लिए मजबूत सुरक्षा कवर की आवश्यकता पर भी जोर दिया और अधिकारियों से सभी मार्गों और प्रमुख स्थानों की सुरक्षा सुनिश्चित करने का आग्रह किया।

Amit Shah's 'Zero Terror Plan' like Kashmir in Jammu, Home Minister took a tough decision in a high level meeting | अमित शाह का जम्मू में कश्मीर जैसा 'जीरो टेरर प्लान', उच्च स्तरीय बैठक में गृहमंत्री ने लिया कड़ा फैसला

अमित शाह का जम्मू में कश्मीर जैसा 'जीरो टेरर प्लान', उच्च स्तरीय बैठक में गृहमंत्री ने लिया कड़ा फैसला

Highlightsअमित शाह ने जम्मू-कश्मीर में हाल ही में हुए आतंकी हमलों के मद्देनजर सुरक्षा स्थिति पर एक उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता कीबैठक के दौरान शाह ने जम्मू में आतंकवाद समर्थकों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिएउन्होंने आगामी अमरनाथ यात्रा के लिए व्यापक सुरक्षा व्यवस्था करने का आह्वान किया

नई दिल्ली: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को दिल्ली में जम्मू-कश्मीर में हाल ही में हुए आतंकी हमलों के मद्देनजर सुरक्षा स्थिति पर एक उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता की। बैठक के दौरान शाह ने जम्मू में आतंकवाद समर्थकों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए और आगामी अमरनाथ यात्रा के लिए व्यापक सुरक्षा व्यवस्था करने का आह्वान किया। सूत्रों ने इंडिया टुडे टीवी को बताया कि गृह मंत्री ने तीर्थयात्रा के लिए मजबूत सुरक्षा कवर की आवश्यकता पर भी जोर दिया और अधिकारियों से सभी मार्गों और प्रमुख स्थानों की सुरक्षा सुनिश्चित करने का आग्रह किया।

उन्होंने बताया कि शाह ने शीर्ष सुरक्षा अधिकारियों को जम्मू क्षेत्र में उभरते आतंकवाद का "कड़ा जवाब" देने और किसी भी कीमत पर इसके फिर से उभरने को रोकने का निर्देश दिया। उन्होंने सुरक्षा एजेंसियों को कश्मीर घाटी में एरिया डोमिनेशन प्लान और जीरो टेरर प्लान के माध्यम से हासिल की गई सफलताओं को जम्मू में दोहराने का भी निर्देश दिया। गृह मंत्री ने वैष्णो देवी और शिवखोड़ी सहित सभी तीर्थ स्थलों की सुरक्षा के लिए समन्वित प्रयासों का भी आह्वान किया।

शाह ने निर्देश दिया कि राजमार्गों पर अतिरिक्त सुरक्षा बलों को तैनात किया जाए और जम्मू-कश्मीर में सक्रिय आतंकवादियों और उनके समर्थकों पर नज़र रखने के लिए मानव खुफिया जानकारी का लाभ उठाया जाए। उन्होंने घाटी में विदेशी आतंकवादियों द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले सभी घुसपैठ बिंदुओं को बंद करने के लिए भी कहा। बैठक में 29 जून से शुरू होने वाली और 19 अगस्त को समाप्त होने वाली अमरनाथ यात्रा के लिए बहुस्तरीय सुरक्षा कवर की आवश्यकता पर प्रकाश डाला गया।

उच्च स्तरीय बैठक के दौरान राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल, जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा, सेना प्रमुख जनरल मनोज पांडे, सेना प्रमुख मनोनीत लेफ्टिनेंट जनरल उपेंद्र द्विवेदी, केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला, खुफिया ब्यूरो के निदेशक तपन डेका, सीआरपीएफ के महानिदेशक अनीश दयाल सिंह, जम्मू-कश्मीर पुलिस के महानिदेशक आरआर स्वैन और अन्य शीर्ष सुरक्षा अधिकारी उपस्थित थे।
 

Web Title: Amit Shah's 'Zero Terror Plan' like Kashmir in Jammu, Home Minister took a tough decision in a high level meeting

भारत से जुड़ीहिंदी खबरोंऔर देश दुनिया खबरोंके लिए यहाँ क्लिक करे.यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Pageलाइक करे