amarnath yatra: 16 people died in 17 days | अमरनाथ यात्रा में शामिल होने वालों का दिल फिर दे रहा है दगा, 17 दिनों में 16 की हो चुकी है मौत
File Photo

Highlightsअमरनाथ यात्रा में शामिल होने वालों का दिल फिर से दगा दे रहा है। नतीजतन यात्रा में शामिल होने के लिए आवश्यक स्वास्थ्य प्रमाणपत्र शक के घेरे में हैं। यह स्वास्थ्य प्रमाणपत्र कहते हैं कि मरने वाले यात्रा में शामिल होने के लिए फिट थे। तो फिर 17 दिनों में 16 की मौत कैसे हो गई।चौंकाने वाली बात यह है कि इन सभी ने अमरनाथ यात्रा में शामिल होने के लिए स्वास्थ्य प्रमाणपत्र पेश किए थे जिनमें उन्हें अमरनाथ यात्रा के लिए फिट बताया गया था।

अमरनाथ यात्रा में शामिल होने वालों का दिल फिर से दगा दे रहा है। नतीजतन यात्रा में शामिल होने के लिए आवश्यक स्वास्थ्य प्रमाणपत्र शक के घेरे में हैं। यह स्वास्थ्य प्रमाणपत्र कहते हैं कि मरने वाले यात्रा में शामिल होने के लिए फिट थे। तो फिर 17 दिनों में 16 की मौत कैसे हो गई। इस बीच यात्रा में शामिल होने वालों ने सवा दो लाख का आंकड़ा पार कर लिया है।

अब तक इस साल इस यात्रा के दौरान 16 लोगों की मौत हो चुकी है। सभी की मौत दिल द्वारा दगा दिए जाने के कारण हुई है। चौंकाने वाली बात यह है कि इन सभी ने अमरनाथ यात्रा में शामिल होने के लिए स्वास्थ्य प्रमाणपत्र पेश किए थे जिनमें उन्हें अमरनाथ यात्रा के लिए फिट बताया गया था। ऐसे में एक अधिकारी का सवाल था कि ‘सच में वे फिट थे।’

इन मौतों को रोकने की खातिर श्राइन बोर्ड ने 75 साल से अधिक आयु वालों की यात्रा पर भी प्रतिबंध लगाया है। खाने पीने के सामान में फास्ट फूड और देसी घी भी प्रतिबंधित है। जहां तक कि स्वास्थ्य प्रमाणपत्र अनिवार्य किया जा चुका है और इन सबके बावजूद होने वाली मौतें यह जरूर दर्शाती थीं कि सबकी आंखों में धूल झौंकने वाले अभी भी यात्रा में शामिल हो रहे हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि मरने वालों में कम उम्र के लोग भी शामिल थे जो चौंकाने वाला तथ्य है।

अमरनाथ यात्रा श्राइन बोर्ड द्वारा बार-बार यह प्रचारित किया जाता रहा है कि अमरनाथ यात्रा में वे ही लोग शामिल हों जो शारीरिक तौर पर स्वस्थ हों लेकिन बावजूद इसके इसे मोक्ष प्राप्ति की यात्रा के रूप में प्रचारित करने का परिणाम यह है कि कई बुजुर्ग अपनी उम्र को छुपा कर भी इसमें शामिल हो रहे हैं और सबसे अधिक चिंता की बात यह है कि ‘नकली’ स्वास्थ्य प्रमाण पत्रों के सहारे उनके द्वारा मोक्ष की तलाश की ला रही है।

इस बीच अमरनाथ दर्शन के मामले में पिछले 4 साल का रिकॉर्ड टूट गया है। करीब सवा 2 लाख से ज्यादा श्रद्धालुओं ने पिछले 17 दिनों में बाबा बर्फानी के दर्शन कर लिए हैं। बुधवार को जम्मू से 4,584 श्रद्धालुओं का एक और जत्था रवाना हुआ। श्राइन बोर्ड ने बताया कि पिछले 17 दिनों में 2,25,083 श्रद्धालुओं ने पवित्र शिवलिंग के दर्शन कर लिए हैं।

अमरनाथ यात्रा 1 जुलाई को शुरू हुई थी। अमरनाथ यात्रा से जुड़े एक अफसर ने बताया कि पिछले 4 साल के पहले हफ्ते में अमरनाथ यात्रा करने वाले श्रद्धालुओं की यह सबसे ज्यादा संख्या है।का फैसला स्वीकार करेगा।’’


Web Title: amarnath yatra: 16 people died in 17 days
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे