अग्निपथ योजना के तहत रिकॉर्ड संख्या में IAF को मिले आवेदन, कहा- पिछले आवेदन के सभी रिकॉर्ड टूट गए

By अनिल शर्मा | Published: July 6, 2022 02:52 PM2022-07-06T14:52:12+5:302022-07-06T15:17:28+5:30

IAF ने केंद्र द्वारा अग्निपथ योजना शुरू किए जाने के 10 दिन बाद 24 जून को पंजीकरण प्रक्रिया शुरू की थी

Agneepath scheme Record number of applications received by IAF under Agnipath | अग्निपथ योजना के तहत रिकॉर्ड संख्या में IAF को मिले आवेदन, कहा- पिछले आवेदन के सभी रिकॉर्ड टूट गए

अग्निपथ योजना के तहत रिकॉर्ड संख्या में IAF को मिले आवेदन, कहा- पिछले आवेदन के सभी रिकॉर्ड टूट गए

Next
Highlights IAF के अनुसार, अग्निपथ योजना के तहत  7,49,899 आवेदन प्राप्त हुए हैं IAF ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है

नई दिल्ली: केंद्री की नई सेना भर्ती योजना 'अग्निपथ' के तहत भारतीय वायु सेना (IAF) को रिकॉर्ड आवेदन प्राप्त हुए हैं। भारतीय वायु सेना ने मंगलवार को कहा कि पंजीकरण की प्रक्रिया पूरी होने के बाद यह देखा गया कि पिछले सर्वश्रेष्ठ भर्ती चक्र को पार करते हुए इस बार बल में भर्ती के लिए आवेदन आए हैं। 

गौरतलब है कि IAF ने केंद्र द्वारा अग्निपथ योजना शुरू किए जाने के 10 दिन बाद 24 जून को पंजीकरण प्रक्रिया शुरू की थी। इस योजना को लेकर देशभर में हिंसक विरोध हुए थे। कई ट्रेनों को आग के हवाले कर दिया गया था। IAF ने बताया कि अग्निपथ योजना के तहत  7,49,899 आवेदन प्राप्त हुए हैं जो किसी भी भर्ती चक्र में सबसे अधिक है। इससे पहले सबसे अधिक आवेदन 6,31,528 थे।

IAF ने मंगलवार को ट्वीट किया, "अग्निपथ योजना  के लिए IAF द्वारा आयोजित ऑनलाइन पंजीकरण प्रक्रिया पूरी हो गई है। अतीत में 6,31,528 आवेदनों की तुलना में, जो किसी भी भर्ती चक्र में सबसे अधिक था, इस बार 7,49,899 आवेदन प्राप्त हुए हैं।" .

यह संख्या देश के विभिन्न हिस्सों में नई शुरू की गई योजना के विरोध के बावजूद आई है। योजना की घोषणा के बाद इसे वापस लेने की मांग को लेकर देशभर में हिंसक विरोध हुए। हालांकि, लेफ्टिनेंट जनरल अनिल पुरी, अतिरिक्त सचिव, सैन्य मामलों के विभाग MoD ने 19 जून को स्पष्ट किया कि कार्यक्रम को वापस नहीं लिया जाएगा और कहा कि यह "देश को युवा बनाने के लिए एकमात्र प्रगतिशील कदम है"।

सैन्य अधिकारियों ने सेना में युवा सैनिकों की आवश्यकता पर जोर दिया था। उन्होंने इस बात का उदाहरण दिया था कि ऊंजाई वाले क्षेत्रों  से स्वास्थ्य उद्देश्यों के लिए काफी लोग हताहत होते हैं? अधिकारियों ने कहा कि इसके बारे में पढ़ें, तब आपको पता चलेगा कि युवा क्यों महत्वपूर्ण है। उन्होंने तब युवाओं से सड़कों पर उतरकर "अपना समय बर्बाद करने" के बजाय "तैयारी शुरू" करने का आग्रह किया था।

एएनआई से बात करते हुए, सैन्य मामलों के अतिरिक्त सचिव, लेफ्टिनेंट जनरल अनिल पुरी ने कहा था, "सड़कों पर जाकर, वे केवल अपना समय बर्बाद कर रहे हैं, उन्हें इस समय को खुद को शारीरिक रूप से तैयार करने के लिए खर्च करना चाहिए। सबसे खराब मुद्दा यह है कि आज हम वे नहीं हैं जो हम 10 साल पहले थे। उन्होंने कहा था कि सब कुछ आपस में जुड़ा हुआ है। अपना भविष्य क्यों खराब करें? यह इसके लायक नहीं है। मैं उनसे तैयारी शुरू करने की अपील करता हूं।" अधिकारी ने योजना का मकसद बताते हुए कहा कि इसे युवाओं को ध्यान में रखकर बनाया गया है।

 

 

Web Title: Agneepath scheme Record number of applications received by IAF under Agnipath

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे