हॉलीवुड के मशहूर सिनेमैटोग्राफर-निर्देशक टॉम रिचमंड का 72 साल की उम्र में हुआ निधन

By आशीष कुमार पाण्डेय | Published: August 3, 2022 08:02 PM2022-08-03T20:02:39+5:302022-08-03T20:07:55+5:30

हॉलीवुड के विश्वप्रसिद्ध सिनेमैटोग्राफर टॉम रिचमंड जीवन के आखिरी दिनों में भी टॉम रिचमंड एनवाईयू के टिश स्कूल ऑफ आर्ट्स में छात्रों को कैमरे के लेंस की खूबियों के बारे में बताते रहे। वो एनवाईयू में सिनेमैटोग्राफी के टीचर थे।

Hollywood's famous cinematographer-director Tom Richmond dies at the age of 72 | हॉलीवुड के मशहूर सिनेमैटोग्राफर-निर्देशक टॉम रिचमंड का 72 साल की उम्र में हुआ निधन

फाइल फोटो

Next
Highlightsहॉलीवुड के मशहूर सिनेमैटोग्राफर टॉम रिचमंड का 72 साल की उम्र में निधन हो गया हैटॉम रिचमंड की मौत की खबर सुनकर पूरे हॉलीवुड में शोक का माहौल हैरिचमंड ने ‘द चॉकलेट वॉर’, ‘ए मिडनाइट क्लियर’, ‘मदर नाइट' जैसी कई फिल्मों को पर्दे पर उतारा था

वाशिंगटन: हॉलीवुड के विश्वप्रसिद्ध सिनेमैटोग्राफर टॉम रिचमंड का 72 साल की उम्र में निधन हो गया है। कैमरे के लेंस से ‘स्टैंड एंड डिलीवर’, ‘किलिंग ज़ो’, ‘लिटिल ओडेसा’, ‘स्लम्स ऑफ बेवर्ली हिल्स’ और ‘निक एंड नोरा की इनफिनिट प्लेलिस्ट’ जैसी फिल्मों को पर्दे पर उतारने वाले रिचमंड की मृत्यु न्यूयर्क में हुई।

जीवन के आखिरी दिनों में भी टॉम रिचमंड एनवाईयू के टिश स्कूल ऑफ आर्ट्स में छात्रों को कैमरे के लेंस की खूबियों के बारे में बताते रहे। वो एनवाईयू में सिनेमैटोग्राफी के टीचर थे।

रिचमंड के मौत के विषय में 'द हॉलीवुड रिपोर्टर' ने जो खबर प्रकाशित की है, उसके मुताबिक रिचमंड की मौत के संबंध में तात्कालिक तौर पर कोई स्पष्ट जानकारी नहीं मिली है लेकिन उम्मीद की जा रही है कि वृद्धावस्था के कारण ही उनकी मौत हुई होगी।

टॉम रिचमंड की मौत की खबर सुनकर पूरे हॉलीवुड में शोक का माहौल है। उसक साथ काम कर चुके कई फिल्म निर्देशकों ने इसे हॉलीवुड की बहुत बड़ी क्षति बताता हैं।

रिचमंड ने साल 1988 में कीनन आइवरी वेन्स की ‘आई एम गोना गिट यू सुका’, साल 1996 में‘स्कॉट सिल्वर जॉन्स’, साल 2003 में रॉब जॉम्बी की ‘हाउस ऑफ 1,000 कॉर्प्स’ के अलावा टॉड सोलोन्ज की ‘पैलिंड्रोम्स’ जैसी सफल फिल्मों का निर्दशन भी किया था।

हॉलीवुड में लंबे समय तक काम करने वाले टॉम रिचमंड ने लगभग चालीस फिल्मों में बतौर सिनेमौटोग्राफर काम किया। साल 2006 में उन्हें ‘राइट एट योर डोर’ नाटक को पर्दे पर फिल्माने के लिए सर्वश्रेष्ठ सिनेमैटोग्राफी का पुरस्कार मिला था।

साल 1994 में जानेमाने फिल्म निर्देशक जेम्स ग्रे की क्राइम ड्रामा ‘लिटिल ओडेसा’ के लिए उन्हें स्पिरिट अवार्ड के लिए नामांकित किया गया था। वहीं साल 1988 में फिल्म निर्देशक रेमन मेनेंडेज़ की फिल्म ‘स्टैंड एंड डिलीवर’ के लिए भी काफी सराहना मिली थी।

इसके साथ ही टॉम रिचमंड ने ‘द चॉकलेट वॉर’, ‘ए मिडनाइट क्लियर’, ‘मदर नाइट’, ‘वेकिंग द डेड’ और ‘द सिंगिंग डिटेक्टिव’ को भी सिनेमा के पर्दे पर फिल्माया था।

फिल्म निर्देशक पेरेट्ज़ ने फेसबुक रिचमंड के प्रति शोक व्यक्त करते हुए लिखा, “वो एक किशोर के साथ एक बूढ़ा आदमी भी था। वह खुद को फोटोग्राफी के कीथ रिचर्ड्स के रूप में संदर्भित करता था और एक तरह से वह बिल्कुल कीथ की ही तरह था।”

पेरेट्ज़ ने फेसबुक पर आगे लिखा, "रिचमंड ने मुझे सिखाया कि फोटोग्राफी के जरिये किस रह से फिल्म के चरित्र और कहानी को बड़ा बनाया जा सकता है।”

Web Title: Hollywood's famous cinematographer-director Tom Richmond dies at the age of 72

बिदेशी सिनेमा से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे