हर साल 15 मार्च को दुनिया भर में वर्ल्ड स्लीप डे (World Sleep Day) मनाया जाता है। लोगों को नींद की अहमियत बताने और नींद से जुड़ी परेशानियों के प्रति उजागर करने के मकसद से वर्ल्ड स्लीप कमिटी द्वारा साल का एक दिन गठित किया गया है। इसदिन कमिटी द्वारा खास वर्कशॉप और इवेंट कराए जाते हैं जिसमें नींद से जुड़ी हर छोटी-बड़ी जानकारी दी जाती है। ताकि लोग नींद की जरूरत को समझें और अपने लाइफस्टाइल की ओर ध्यान देते हुए स्वस्थ जीवन बिताएं। 

रात में पर्याप्त नींद लेने से हमारा शरीर कई रोगों से बच जाता है। लेकिन यही अगर हम रात में देरी से सोएं और सुबह जल्दी उठ जाएं, नींद पूरी ना करें, तो कुछ ही समय के अन्दर हमारा शरीर विभिन्न बीमारियों की चपेट में आ जाता है। नींद पूरी ना करने से पाचन तंत्र में कमजोरी, मानसिक रूप से तनाव और यहां तक कि सेक्स लाइफ पर भी बुरा असर पड़ता है।

जो लोग लंबे समय तक नींद पूरी नहीं कर पाते हैं, उनकी सेक्स लाइफ खराब हो जाती है। जाहिर है नींद पूरी नहीं होने से व्यक्ति चिड़चिड़ापन और थकावट महसूस करता है और इन दोनों चीजों का सेक्स लाइफ से गहरा रिश्ता होता है। थकावट और तनाव की वजह सेक्स इच्छा में भी कमी आ जाती है। व्यक्ति को ऐसा लगता है जैसे उसे अपनी नींद पूरी करनी है और सेक्स की तरफ ध्यान नहीं दे पाता है।

नींद का महत्व

दिल्ली के मशहूर साइकेट्रिस्ट डॉक्टर अभिनव मोंगा के अनुसार, बिस्तर सेक्स और स्लीप के लिए है लेकिन कुछ लोग बिस्तर पर खाना, टीवी देखना, पढ़ाई करते हैं जोकि गलत है। इसलिए बिस्तर को सेक्स और स्लीप के लिए ही इस्तेमाल करें, तो दोनों काम बेहतर तरीके से हो पाएंगे।

एक व्यक्ति को रोजाना कम से कम 8 घंटे की नींद लेनी चाहिए। नींद पूरी नहीं होने से आपको ध्यान लगाने में परेशानी, चिड़चिड़ापन, काम में मन ना लगना, गुस्सा आना, किसी चीज में दिल ना लगना या थकावट होना आदि समस्याएं हो सकती हैं। डॉक्टर के अनुसार, 10 फीसदी लोगों को नींद नहीं आने की समस्या है जिसमें 50 फीसदी लोगों को साइकोलॉजिकल प्रॉब्लम होती हैं।

यह भी पढ़ें: बस कुछ दिनों तक इस फल का पाउडर दूध में मिक्स करके पी लें, जीवन में कभी नहीं जाना पड़ेगा सेक्सोलॉजिस्ट के पास!

नींद नहीं आने के कारण

नींद नहीं के कारणों में काम का बोझ, शिफ्ट, रात के समय चाय या अल्कोहल का अधिक सेवन, डिनर में भारी खाना, जर्नल रूटीन फॉलो नहीं करना शामिल हैं। इनके अलावा कुछ शारीरिक और मानसिक बीमारियां भी कारण बनती हैं जैसे अस्थमा, सांस लेने में दिक्कत, हार्ट डिजीज, माइग्रेन शामिल हैं। लंबे समय तक नींद नहीं आने का सबसे बड़ा कारण  साइकोलॉजिकल प्रॉब्लम होती हैं।

बेहतर नींद के लिए इन बातों का रखें ध्यान

- सोने और उठने का टाइम फिक्स करें
- हैवी डिनर ना लें 
- स्मोकिंग और अल्कोहल से बचें 
- शाम को 6 बजे के बाद चाय पीने से बचें 
- सोने से 3 घंटे पहले तक हैवी एक्सरसाइज ना करें 
- दिन में सोने से बचें 
- सोने का कमरा डार्क, कूल और साउंड नहीं होना चाहिए 
- सोने से पहले रिलैक्सेशन एक्सरसाइज भी है जरूरी

English summary :
World Sleep Day is celebrated on 15th March worldwide. World Sleep Day is celebrated to highlight the importance of sleep and highlighting the issues related to sleep disorder. This special day is to people understand the need for sleep to spend a healthy life and paying attention to their lifestyle.


Web Title: World Sleep Day: Importance of sleep, how sleep disorder affect your sex life, how to get sound sleep
स्वास्थ्य से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे