कैंसर एक खतरनाक बीमारी है जो दुनिया में हो रही मौत का एक बड़ा कारण है। हालांकि कैंसर के लक्षणों को सही समय पर पहचानकर इलाज शुरू करने से इससे राहत पाई जा सकती है। अलग-अलग कैंसर होने के अलग-अलग कारण हैं। लेकिन कुछ कारण ऐसे हैं जिनके लिए लोगों की गलत आदतें और ख़राब जीवनशैली सबसे कारण है। हम आपको कैंसर के कुछ ऐसे कारण बता रहे हैं, जो आप शायद ही जानते हो।

1) प्लेन में ज्यादा सफर करना
 बेस्टलाइफऑनलाइन के अनुसार, प्लेन में ज्यादा सफर करना कैंसर का कारण बन सकता है। इसका कारण यह है कि इससे आप यूवी रेडिएशन के संपर्क में आते हैं। इससे स्किन कैंसर होने का खतरा हो सकता है। जामा में प्रकाशित 2015 के एक अध्ययन ममें पाया गया कि 30,000 फीट पर, यूवी का लेवल जमीन की तुलना में दोगुना है।

2) ब्रश या फ्लॉस नहीं करना
ब्रश करना, फ्लॉस करना और माउथवॉश का उपयोग करना स्वस्थ रहने के लिए सभी आवश्यक हैं। नेशनल कैंसर इंस्टीट्यूट के जर्नल में प्रकाशित एक 2018 के अध्ययन में पाया गया कि मसूड़ों की बीमारी फेफड़े और कोलोरेक्टल कैंसर दोनों में 24 प्रतिशत की वृद्धि के साथ जुड़ी हुई है। 

3) टीवी ऑन करके सोना
कुछ लोग सोते समय टीवी ऑफ नहीं करते हैं या भूल जाते हैं। 2010 में एनवायरनमेंटल हेल्थ पर्सपेक्टिव्स नामक पत्रिका के विश्लेषण में पाया गया कि आपकी टीवी स्क्रीन से निकलने वाली कृत्रिम रोशनी स्तन और प्रोस्टेट कैंसर दोनों से जुड़ी होती है।

4) सुगंधित मोमबत्तियों का इस्तेमाल
सुगंधित मोमबत्तियां आपको सुकून देती हैं लेकिन नुकसान भी पहुंचा सकती हैं। यूनाइटेड स्टेट्स एनवायर्नमेंटल प्रोटेक्शन एजेंसी के अनुसार, सुगंधित मोमबत्तियाँ बेंजीन और टोल्यूनि जैसे संभावित खतरनाक रसायनों से भरी होती हैं, और इनके धुंए से आपको कैंसर का खतरा बढ़ सकता है। 

5) अगरबत्ती का इस्तेमाल
2008 में कैंसर के बारे में प्रकाशित एक प्रकाशित अध्ययन के अनुसार, अगरबत्ती जलाने से पैदा होने वाला धुआँ कैंसर का कारण बन सकता है। एक अध्ययन में, शोधकर्ताओं ने पाया कि अगरबत्ती का दीर्घकालिक उपयोग श्वसन पथ के स्क्वैमस सेल कार्सिनोमा, फेफड़े के कैंसर के एक प्रकार के बढ़ते जोखिम से जुड़ा था।

6) कपड़े धोने वाला सर्फ़
एनवायर्नमेंटल वर्किंग ग्रुप के अनुसार, कुछ कपड़े धोने वाले डिटर्जेंट में 1,4-डाइअक्सिन होता है, एक रासायनिक है, जो संभवतः कैंसर हो सकता है। इसलिए समझदारी से अपना डिटर्जेंट चुनना सुनिश्चित करें।

7) तनाव में रहना
नेशनल कैंसर इंस्टीट्यूट के अनुसार, तनाव सीधे तौर पर कैंसर का कारण नहीं बनता है लेकिन तनाव के कारण रक्तचाप में वृद्धि, दिल की दर और ब्लड शुगर बढ़ने से कैंसर का खतरा बढ़ सकता है। हाल के वर्षों में, मनोवैज्ञानिक तनाव और कैंसर के बीच संबंध भी खोजे गए हैं।

8) नाइट शिफ्ट में काम करना
लगभग सभी देशों में अब नाइट शिफ्ट में काम होता है। हालांकि कैंसर का खतरा काम से नहीं बल्कि अंधेरा से जुड़ा है। ब्रिटिश मेडिकल जर्नल में प्रकाशित 2013 के एक अध्ययन में पाया गया कि नाइट शिफ्ट से किसी व्यक्ति को स्तन कैंसर का खतरा बढ़ सकता है। 

9) लगातर दो घंटे बैठना
2014 में नेशनल कैंसर इंस्टीट्यूट के जर्नल में प्रकाशित एक रिपोर्ट में जर्मन वैज्ञानिकों ने 43 अध्ययनों के आंकड़ों का विश्लेषण किया और पाया कि प्रति दिन दो घंटे लगातर बैठे रहने से व्यक्ति को पेट के कैंसर, एंडोमेट्रियल कैंसर और फेफड़ों के कैंसर का खतरा बढ़ जाता है।

10) पर्याप्त पानी नहीं पीना
दिन भर में ढेर सारा पानी पीने से आपके शरीर में सब कुछ ठीक से काम करता रहता है। यह मूत्र में हानिकारक पदार्थों को भी पतला करता है, संभवतः क्लीवलैंड क्लिनिक के अनुसार, मूत्राशय के कैंसर के जोखिम को कम करने में मदद करता है।

इन कामों से भी होता है कैंसर
इनके अलावा पलास्टिक बोटल में पानी पीना, फल-सब्जियों का कम सेवन करना, ज्यादा चावल खाना, हारमोन रिप्लेसमेंट थेरेपी, ज्यादा सप्लीमेंट खाना, जला हुआ मांस खाने, प्रोसेस्ड मीट खाना, ज्यादा शराब पीना, माइक्रोवेव पॉपकॉर्न खाना, आर्टिफीसियल स्वीटनर का इस्तेमाल, डाइट सोडा पीना, डिओडोरेंट लगाना, बेबी पाउडर का इस्तेमाल, परबेंस वाला मेकअप लगाने, प्रदूषित जगह पर रहने, सनस्क्रीन लगाने, टैनिंग सैलून में जाना, सिर के पास फोन रखकर सोने आदि से भी कैंसर का खतरा होता है।

Web Title: surprising causes of cancer, daily habit that can cause different types of cancer
स्वास्थ्य से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे