कई लोग सुहागरात में इस इरादे से विशेष पान का सेवन करते हैं कि सेक्स के दौरान इतनी ताकत पैदा होगी कि वे छा जाएंगे। हकीकत यह है कि इसमें नशीली दवा मिली होती है जिसके सेवन से या तो आदमी सहवास से पहले ही सो जाता है य नशे की वजह से उसे आधे या एक मिनट के सहवास की अवधि घंटों जैसी लगती है।

हमारे देश में पान खाना एक बहुत ही सामान्य बात है। बारातियों का स्वागत करना हो या फिर पूजा, पान के पत्ते को हर रूप में इस्तेमाल किया जाता है। पान की पत्ती खाने में थोड़ी कसैली होती है लेकिन इसे खाने वाले इसमें सुपारी, कत्था, चूना और दूसरी कई चीजें मिलाकर खाते हैं। आमतौर पर लोग इसे गलत आदत मानते हैं लेकिन हर चीज की तरह इसके भी कुछ फायदे भी हैं। पान के पत्तों को कामोत्तेजना बढ़ाने के लिए भी जाना जाता है। यही वजह है कि कुछ कपल्स अंतरंग पलों को और खुशनुमा बनाने के लिए पान के पत्तों का इस्तेमाल करते हैं। 

पान को लेकर क्या कहता है आयुर्वेद? 
आयुर्वेद के अनुसार, खाना खाने के बाद और सहवास से पहले पान खाया जा सकता है। पान पाचन को बेहतर बनाने में सहायक है। यह मुंह की बदबू दूर करता है और इसमें कुछ पदार्थ ऐसे होते है जो कामेच्छा बढ़ाने में योगदान देते हैं। कई बार पान का लाल रंग कुछ लोगों के आकर्षण में इजाफा कर सकता है। कामोत्तेजना बढ़ाने के लिए कपल्स 'कोहिनूर पान' का इस्तेमाल करते हैं। चलिए जानते हैं कि कोहिनूर पान क्या होता है और इसे कैसे तैयार किया जाता है।

50 हजार रुपये में मिलता है कोहिनूर पान
आमतौर पर आप एक पान के लिए कितने पैसे खर्च करते हैं? आपका जवाब हो सकता है 10 या 20 रुपये। अगर किसी महंगी जगह पर भी स्पेशल पान खाएंगे तो हो सकता है कि आपको 100 रुपये तक खर्च करने पड़ जाएं। हम आपको एक स्पेशल पान के बारे में बता रहे हैं जिसकी कीमत है 50 हजार रुपये। क्यों उड़ गए न होश? जी हां, यह महंगा पान औरंगाबाद में मिलता है। चलिए जानते हैं इस पान की क्या खासियत है। 

कोहिनूर पान की खासियत
बताया जाता है कि यह पान कामोत्तेजक के रूप में काम करता है और इसे कपल्स को जोड़े में बेचा जाता है। आमतौर पर इस पान को तीन डिब्बों में कलरफुल तरीके से पैक करके बेचा जाता है। यह पान कई तरीके का होता है यानी महिलाओं के लिए अलग होता है और पुरुषों के लिए अलग। पुरुषों के लिए बनाए जाने वाले पान में कस्तूरी, अगर (पश्चिम बंगाल में मिलने वाला एक सुगंधित तरल पदार्थ), केसर, गुलाब और कोलकाता की कुछ स्पेशल सामग्री मिलाई जाती है। महिलाओं के लिए बनाए जाने वाले पान में गुलाब, सफेद मूसली (एक जड़ी बूटी जिसे कामोत्तेजक के रूप में जाना जाता है), केसर और अन्य सामग्री मिलाई जाती हैं। इस पान को इतर की खुशबूदार बोटल में रखा जाता है। पान विक्रेता बताते हैं कि इस पान को यौन संबंध से दो घंटे पहले खाना चाहिए। 

क्या सच में कामेच्छा बढ़ाता है कोहिनूर पान?
दिल्ली के मशहूर सेक्सोलॉजिस्ट विनोद रैना के अनुसार, कोहिनूर पान का सेवन कई लोग सुहागरात में इस इरादे से करते हैं कि सहवास के दौरान इतनी ताकत पैदा होगी कि वे छा जाएंगे। हकीकत यह है कि इसमें नशीली दवा मिली होती है जिसके सेवन से या तो आदमी सहवास से पहले ही सो जाता है य नशे की वजह से उसे आधे या एक मिनट के सहवास की अवधि घंटों जैसी लगती है। महंगे कोहिनूर पान का फायदा तो होता है, लेकिन खाने वाले को नहीं सिर्फ बेचने वाले को। 

पान खाने के अन्य फायदे
पान के पत्ते में डाएस्टेस नाम का एंजाइम होता है, जो स्टार्च को पचाने में मदद करता है। पान में इस्तेमाल होने वाला कत्था एक एंटिसेप्टिक होता है जो दांत की बीमारियों को दूर रखता है। विश्व प्रसिद्ध हेल्थ मैग्जीन लैंसेट का कहना है कि चूना भी एंटीसेप्टिक होता है और इसमें मौजूद कैल्शियम की वजह से यह हड्डियों और प्रेग्नेंसी में फायदेमंद होता है। अगर सुपारी इसमें डालें तो भुनी हुई ही डालें। यह कफ के रोगों का नाश करती है और खाने में रुचि पैदा करती है। पान में अगर मुलेठी डालें तो गला साफ रहता है और स्वर बेहतर होता है, साथ ही एसिडिटी में भी फायदा होता है। इलाइची मुंह में स्वाद पैदा करती है और बदबू खत्म करती है।


Web Title: sex tips : is chew paan or betel leaf good for better sex and libido boosting food for Sex, longer erection and fertility
स्वास्थ्य से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे