people with the SARS-CoV-2 virus infection are most likely to be highly infectious from symptom onset and the following five days | COVID-19 Effect: वैज्ञानिकों का दावा, संक्रमित होने के पहले हफ्ते में तेजी से वायरस फैला सकते हैं कोरोना के मरीज
COVID-19 Effect: वैज्ञानिकों का दावा, संक्रमित होने के पहले हफ्ते में तेजी से वायरस फैला सकते हैं कोरोना के मरीज

Highlightsसंक्रमण कई हफ्तों तक रोगियों के श्वसन या मल के नमूनों में पाया जा सकता हैलैंसेट माइक्रोएब पत्रिका में प्रकाशित शोध में दावायह वायरस अन्य वायरस की तुलना में अधिक कुशलता से फैलता है

कोरोना संकट के बीच एक नए अध्ययन में कहा गया है कि कोविड-19 का संक्रमण कई हफ्तों तक रोगियों के श्वसन या मल के नमूनों में पाया जा सकता है।

द लैंसेट माइक्रोएब पत्रिका में प्रकाशित शोध में कहा गया है कि सार्स-को-2 वायरस से पीड़ित लोगों में लक्षण शुरू होने और अगले पांच दिनों में अत्यधिक संक्रामक होने की संभावना होती है।

सेंट एंड्रयूज यूनिवर्सिटी से अध्ययन के प्रमुख लेखक मुगे केविक ने कहा, 'कोरोना वायरस के तीन प्रकार SARS-CoV-2, SARS-CoV और MERS-CoV के लोड को लेकर इस तरह का यह पहला अध्ययन है। यह वायरस अन्य वायरस की तुलना में अधिक कुशलता से फैलता है।

हिंदुस्तान टाइम्स की एक रिपोर्ट के अनुसार, शोधकर्ताओं के अनुसार, वायरल संचरण की घटनाएं बहुत पहले होती हैं, और विशेष रूप से लक्षण शुरू होने के बाद पहले पांच दिनों के भीतर।

उन्होंने कहा, 'हमें रोग के साथ जुड़े लक्षणों की सीमा के बारे में सार्वजनिक जागरूकता बढ़ाने की जरूरत है।संक्रमण के दौरान पहले खांसी या बुखार जैसे लक्षण पहले महसूस हो सकते हैं।

कोरोना वायरस के सबसे आम लक्षण (Most common symptoms of covid-19)

कोरोना के आम लक्षणों में बुखार, सूखी खाँसी, थकान आदि शामिल हैं।

कम सामान्य लक्षण (Less common symptoms of covid-19)

कोरोना के सामान्य लक्षणों में दर्द एवं पीड़ा, गले में खराश, दस्त, आँख आना, सरदर्द, स्वाद या गंध का नुकसान, त्वचा पर एक दाने, या उंगलियों या पैर की, उंगलियों के मलिनकिरण आदि शामिल हैं। 

कोरोना के गंभीर लक्षण (Serious symptoms of covid-19)

कोरोना के गंभीर लक्षणों में सांस लेने में कठिनाई या सांस की तकलीफ और सीने में दर्द या दबाव महसूस होना शामिल हैं।

लक्षण महसूस होने पर क्या करें

यदि आपको ऊपर बताये गए गंभीर लक्षण हैं, तो आप तत्काल चिकित्सा की तलाश करें। हमेशा अपने डॉक्टर या स्वास्थ्य सुविधा पर जाने से पहले फोन करें।

हल्के लक्षण वाले लोग जो अन्यथा स्वस्थ हैं उन्हें घर पर अपने लक्षणों का प्रबंधन करना चाहिए। लक्षण महसूस होने में 5-6 दिन लगते हैं। अगर कोई पीड़ित हैं तो उसके लक्षण 14 दिन में नजर आ सकते हैं।

यह भी कोरोना के लक्षण

एक्सपर्ट्स का मानना है कि बुजुर्गों में अस्पताल में भर्ती होने और मृत्यु होने की दर सबसे अधिक होती है, लेकिन उनमें सामान्य लक्षण नहीं होता है। कुछ मरीजभ्रम के साथ आते हैं जो उन्हें कोविड-19 संक्रमण होने का एकमात्र संकेत है।

अधिकतर लोग मरीजों को हार्ट अटैक और हार्ट फेलियर को कोरोना वायरस के सबसे बड़े दुष्प्रभाव के रूप में देखते हैं। लेकिन ऐसे कई मरीज हैं जो मतली, उल्टी और दस्त जैसे लक्षणों के साथ आते हैं

छ कोविड-19 रोगियों में आंखों की अभिव्यक्तियां या त्वचा पर चकत्ते दिखाई देते हैंकुछ मरीजों को बिना किसी कारण के साथ तीव्र गुर्दे की विफलता या यकृत की विफलता के साथ भर्ती किया जाता है। 

इस बात का रखें ध्यान

सर्दियों में यह समस्या अधिक होती है इसलिए आपको सतर्क रहने चाहिए कि क्या मांसपेशियों में दर्द सिर्फ ठंड की वजह से हो रहा है या फिर कोरोना का संकेत है।

कोरोना वायरस का प्रकोप अब पहले से ज्यादा बढ़ रहा है और संक्रमितों की संख्या बढ़कर 57,909,991 हो गई है और 1,377,745 लोगों की मौत हो गई है। कोरोना का अभी तक कोई स्थायी इलाज या टीका नहीं आया है।

हालांकि कई कंपनियों ने दावा किया है कि उनके टीके का अंतिम परीक्षण चल रहा है और अगले साल तक कोई न कोई टीका आ सकता है। चलिए जानते हैं कि किस टीके का काम कहां तक पहुंचा है।

Web Title: people with the SARS-CoV-2 virus infection are most likely to be highly infectious from symptom onset and the following five days

स्वास्थ्य से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे