Monsoon Health Tips: Risk of vaginal yeast infection increases in rainy season, causes, how it spreads, prevention, treatment | मानसून में बढ़ जाता है 'वेजाइनल यीस्ट इन्फेक्शन' का ख़तरा, महिलाएं ऐसे करें बचाव
मानसून में बढ़ जाता है 'वेजाइनल यीस्ट इन्फेक्शन' का ख़तरा, महिलाएं ऐसे करें बचाव

बारिशों का मौसम अमूमन सभी को पसंद होता है। खासतौर से महिलाएं बारिश को देखकर बेहद खुश होती हैं। उन्हें बारिश में भीगना, लॉन्ग ड्राइव पर जाना, शाम के समय चाय पकौड़े खाते हुए बारिश का मजा लेना बहुत अच्छा लगता है। लेकिन अगर आप भे यूं महिलाओं में से हैं जिन्हें बारिश में भीगना अच्छा लगता है तो आपको बता दें कि आपका ऐसा करना आपको वेजाइनल यीस्ट इन्फेक्शन दे सकता है।

क्या है वेजाइनल यीस्ट इन्फेक्शन? (What is Vaginal Yeast Infection)

यह महिलाओं में योनी से जुड़ा संक्रमण हैजो मानसून के दिनों में सबसे अधिक होता है। वेजाइनल यीस्ट इन्फेक्शन कैंडीडा नामक फंगस के कारण होता है। यह इन्फेक्शन अगर एक बार महिला को हो जाए तो इसे दूर करने में काफी दिन लग जाते हैं। वैसे तो यह कोई गंभीर बीमारी नहीं है, लेकिन इससे पीछा छुड़ा पाना मुश्किल हो जाता है।

वेजाइनल यीस्ट इन्फेक्शन में क्या होता है? (Vaginal Yeast Infection causes, how it spreads)

बारिश के मौसम में भीगने से जब गीले कपड़े और पानी योनी के संपर्क में आते हैं तो यह दूषित पानी यहां आकर रुक जाता है। अगर बारिश बंद होने के बाद इसे अच्छी तरह साफ ना किया जाए तो योनी संक्रमण की चपेट में आ सकती है। साथ ही बारिश के समय आसपास का वातावरण भी इन तरह के इन्फेक्शन को बढ़ावा देने में साथ देता है। वेजाइनल यीस्ट इन्फेक्शन के कारण महिलाओं को योनी में निरंतर खुजली और इन्फेक्शन की समस्या रहने लगती है।

वेजाइनल यीस्ट इन्फेक्शन के लक्षण (Vaginal Yeast Infection symptoms)

- योनी में बार बार खुजली होना
- योनी में जलन होना
- यूरीन करते हुए योनी में जलन
- सेक्स के दौरान योनी में दर्द होना
- इन्फेक्शन बढ़ जाने से चलने में भी दिक्कत होना

यह भी पढ़ें: लू लगने पर तुरंत करें ये 5 काम वरना पड़ जाएंगे बहुत बीमार

वेजाइनल यीस्ट इन्फेक्शन से ऐसे करें बचाव (Vaginal Yeast Infection prevention, treatment)

1) वेजाइना की सफाई

बारिश से लौटे ही जब पूरा बदन साफ करें तो वगिना को भी क्लीन करना ना भूलें। बारिश में भीगे या ना भीगें, मगर मानसून शुरू होते ही वेजाइना की रोजाना सफाई करना ना भूलें

2) ऐसे करें वेजाइना की सफाई

वेजाइना की सफाई करते समय उसे आगे से पीछे की दिशा में साफ करें। इसके लिए कॉटन के कपड़े या फिर सॉफ्ट तौलिये का ही इस्तेमाल करना चाहिए। कपड़ा साफ होना चाहिए नहीं तो इन्फेक्शन बढ़ सकता है

3) सेक्स के बाद योनी साफ करें

सेक्स सेशन के तुरंत बाद यूरीन पास करें और योनी को आगे से पीछे तक अच्छी तरह साफ करें। उसपर ठंडा पानी डालें। संभव हो तो शावर ले लें। इससे इन्फेक्शन का ख़तरा कम हो जाता है

4) कॉटन का अंडरवियर पहनें

मानसून में गलत फैब्रिक का अंडरवियर पहनने से भी वेजाइनल यीस्ट इन्फेक्शन बढ़ता है। इसलिए सिर्फ कॉटन का अंडरवियर पहनें। ये सॉफ्ट होता है और अनावश्यक पानी को अपने भीतर सोख लेता है

5) अधिक टाइट कपड़े ना पहनें

अगर यीस्ट इन्फेक्शन की चपेट में आ जाएं तो कुछ दिन अधिक टाइट कपड़े ना पहनें। ये वेजाइना में पसीना बनाकर इन्फेक्शन को बढ़ावा देते हैं

6) साबुन का इस्तेमाल ना करें

वेजाइना की सफाई के लिए साबुन का या बाजारी उत्पादों का भी इस्तेमाल ना करें। इनमें केमिकल होता है जो इन्फेक्शन बना सकता है। इसकी जगह ठंडे पानी में कुछ बूंद डेटोल की मिलाकर क्लीन करें

7) सेनेटरी पैड जल्दी जल्दी बदलें

सेनेटरी पैड 8 घंटे के इस्तेमाल के बाद बदला जाना चाहिए लेकिन मानसून में 5 घंटे बाद ही इसे बदल देना चाहिए। अधिक देर तक इस्तेमाल करने से इन्फेक्शन का ख़तरा बढ़ता है

English summary :
Vaginal infection associated with women, which is the highest in monsoon days. Vaginal yeast infection is caused by a fungus called Candida. Once the infection occurs, it takes a lot of time to remove it.


Web Title: Monsoon Health Tips: Risk of vaginal yeast infection increases in rainy season, causes, how it spreads, prevention, treatment
स्वास्थ्य से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे