सोने की स्थिति पड़ता है गंभीर प्रभाव, जानिए अलग अलग सोने की स्थिति के अच्छे और बुरे प्रभाव

By वैशाली कुमारी | Published: July 25, 2021 05:51 PM2021-07-25T17:51:20+5:302021-07-25T17:53:38+5:30

हमारे सोने की स्थिति हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत मायने रखती है अगर हम गलत स्थिति में सोते हैं तो हमे बहुत सी शरीरिक परेशानीयों का सामना करना पड़ सकता है।

Know the good and bad effects of sleeping in different positions | सोने की स्थिति पड़ता है गंभीर प्रभाव, जानिए अलग अलग सोने की स्थिति के अच्छे और बुरे प्रभाव

हम किस तरिके से सोते हैं यह भी हमारे लिए बहुत जरूरी होता है।

Next
Highlightsमानव शरीर को स्वस्थ बनाए रखने के लिए नींद बेहद आवश्यक हैगलत स्थिति में सोने से हमारी कमर, हाथ और गर्दन में दर्द हो सकता है। सही स्थिति में सोने से कई बीमारियों का खतरा कम हो जाता है।

मानव शरीर को स्वस्थ बनाए रखने के लिए नींद बेहद आवश्यक है। नींद की कमी दिल को खतरे में डाल सकती है क्योंकि इससे रक्तचाप का स्तर बढ़ सकता है। हमारे सोने की स्थिति हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत मायने रखती है अगर हम गलत स्थिति में सोते हैं तो हमे बहुत सी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। ऐसे में हम किस  तरीके से सोते हैं, यह हमारे लिए बहुत जरूरी होता है। वहीं गलत स्थिति में सोने से हमारी कमर में दर्द, हाथ में दर्द , गर्दन में दर्द और भी बहुत सी परेशानी हो सकती है। आइए जानते है तरह तरह विभिन्न स्थितियों में सोने से हमारे शरीर पर क्या प्रभाव पड़ता है।

पेट के बल सोने पर

पेट को नीचे करके सोने से आपके गर्दन में दर्द और आपकी पीठ में भी दर्द हो सकता है। इसके साथ ही सोते समय आपको बेचैनी भी हो सकती है। वहीं अगर आपको इस तरह सोने की आदत है तो आपको हल्के और मुलायम तकिए का इस्तेमाल करना चाहिए।

पीठ के बल सोने पर 

पीठ की साइड सोने से अगर आपके कमर में पहले से ही दर्द  है तो वह ठीक भी हो सकता है या फिर दर्द ज्यादा भी बढ़ सकता है। इस तरह सोने से भी आपको नींद में बेचैनी हो सकती है। वहीं इस तरह सोने से आपका सारा वजन पीठ पर आता है जिसके कारण पीठ में भी समस्या  हो सकती है।

पीठ और कंधे सीधे करके सोने पर

इस स्थिति को सोने के लिए सबसे अच्छा माना जाता है। इस स्थिति में सोने से शरीर में किसी भी प्रकार का दर्द नहीं होता और सब ठीक रहता है, इसके साथ ही आपको बेचैनी भी नही होगी। इस स्थिति में सोने से गर्दन और पीठ में दर्द भी नही होता है। यह स्थिति सोने के लिए अच्छी है।

साइड के बल सोने  पर 

एक साइड करवट लेकर हम कई तरह से सो सकते है। हम पैरो को सीधा करके भी सो सकते है। एक हाथ को सिर के नीचे लगा कर भी सो सकते है। लेकिन सबसे ज्यादा आराम घुटनों को पेट की तरफ मोड़ कर सोने में मिलता है।

साइड से दोनों हाथों और पैरों को सीधा करके सोने पर 

इस तरह से सोने वाले बहुत ही कम लोग होते है। इस तरह सोने से भी पीठ में और गर्दन में दर्द नहीं होता है और यह सोने के लिए आरामदायक स्थिति होती है ।

वहीं गर्भवती होने पर आपको घुटने मोड़ कर साइड से सोना चाहिए । इससे बच्चे को भी खून की मात्रा अच्छे से मिल जाती है और पोषक तत्व भी भरपूर मात्रा में मिल जाते है। अगर आपको किसी भी तरह की कोई समस्या है और किसी भी स्थिति में सोने से आराम नही मिलता है तो डॉक्टर से सलाह ले नहीं तो बड़ी समस्या हो सकती है।

Web Title: Know the good and bad effects of sleeping in different positions

स्वास्थ्य से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे