ततैया और मधुमक्खी का काटना एक आम समस्या है। इन कीटों के काटने पर तेज दर्द होता है और धीरे-धीरे सूजन होने लगती है। अगर समय पर इलाज न कराया जाए, तो बुखार भी हो सकता है और सूजन कई दिनों तक रह सकती है। कई मामलों में आपको आपातकालीन उपचार की भी जरूरत पड़ सकती है।

कई बार इसका इलाज घरेलू उपायों से भी किया जा सकता है। हम आपको कुछ उपाय बता रहे हैं, जिन्हें आप ततैया और मधुमक्खी के काटने के तुरंत बाद कर सकते हैं जिससे आपको दर्द और सूजन से राहत मिल सके और शरीर में जहर को फैलने से रोका जा सके।

ततैया के काटने पर लक्षण

ततैया एक प्रकार का कीट होता है। यह पीला कलर का होता है और मधुमक्की की तरह ही दिखता है। ततैया ज्यादातर लोगों के घरों में मडराते रहते है और वहीं पर दीवारों पर छत्ता बना लेते हैं। यदि किसी भी प्रकार से उन्हे छेड़ा गया तो वह तुरंत काट लेते हैं। ततैया के डंक में जहर होता है। जब वह काट लेती है तो उस भाग पर दर्द, जलन और सूजन होने लगती है।  

ततैया के काटने का घरेलू इलाज

उपाय नंबर 1 
ततैया के काटने के बाद जिस जगह पर उसने काटा है वहां पर नीबू का रस लगा दें इससे दर्द और जलन में आराम मिलता है। बेकिंग सोडा ततैया के डंक के लिए एक प्रभावी प्राकृतिक उपचार है। बेकिंग सोडा की क्षारीय प्रकृति डंक को बेअसर करने में मदद करती है। यह दर्द और खुजली से तत्काल राहत प्रदान करता है। 

उपाय नंबर 2
समस्‍या होने पर एक चम्‍मच बेकिंग सोडा लेकर उसमें थोड़ा सा पानी मिलाकर पेस्‍ट बना लें। फिर इस पेस्‍ट को प्रभावित हिस्‍से पर दस मिनट के लिए लगा लेंऔर इसके बाद गुनगुने पानी से धो लें। अगर जरूरत हो तो इस उपाय को कुछ ही घंटों के बाद दोहराएं।

उपाय नंबर 3
जिस जगह पर ततैया ने काटा है वहां पर आक के पत्ते का दूध मलने से आराम मिलता है। ब भी ततैया काट ले तो ज्यादातर सभी को घरों में मिट्टी का तेल उपलब्ध रहता है, बगैर देर किये जिस जगह पर ततैया ने काटा है मिट्टी के तेल को लगा लेना चाहिए। इससे जलन और सूजन दोनों में आराम मिलना स्टार्ट हो जायेगा। 

उपाय नंबर 4 
ततैया के काटने के तुरंत बाद जिस जगह पर डंक लगा है वहां पर लोहे की पत्ती या कोई भी चीज हो उसे रगड़ दें और उसके ऊपर से गीले चूने का रस लगा देंगे तो जहर उतर जायेगा। 

मधुमक्खी काटने पर लक्षण

मधुमक्खी के काटने पर आपको प्रभावित हिस्से में तेज दर्द और जलन महसूस हो सकती है। प्रभावित हिस्से में लालिमा हो सकती है, हिस्से में सूजन आ सकती है।

मधुमक्खी के काटने का उपचार

मधुमक्खी का डंक बहुत ही जहरीला होता है। अगर समय पर डंक को निकाला नहीं गया तो जहर पूरे शरीर में फैलकर आपको अत्यधिक नुकसान कर सकता है। बता दे की मधुमक्खी के काटने पर आपको सारे शरीर में खुजली हऔर दर्द होने लगता है। इसलिए जितना जल्दी हो सके आप डंक को बाहर निकालें। डंक को आप कोई भी लोहे की वस्तु को डंक की जगह रगड़कर निकाल सकते है।

उपाय नंबर 1 
मधुमक्खी के काटने पर आपकी त्वचा काटी हुई जगह पर अत्यधिक गर्म हो जाती है तो उस समय ठंडा पानी बहुत ही फायदेमंद होता है। डंक लगने पर डंक वाली जगह पर उस समय आप बर्फ का सेक करें आपको बहुत राहत मिलेगी।

उपाय नंबर 2
मधुमक्खी के काटने पर मधुमक्खी का शुद्ध शहद काटी हूई जगह पर लगायें शहद में एंटी-बैक्टीरियल गुण मौजूद होते है जो डंक के असर को खत्म करता है।

उपाय नंबर 3
मधुमक्खी के जहर को उतारने में चूना एक बहुत ही कारगर होता है। चूने में अल्कोलाइड है जो जहर के असर को तत्काल कम करता है और मधुमक्खी के काटने पर शरीर में उसके जहर को फैलने से भी रोकता है।

Web Title: home remedies for bees and Wasp bite : medical treatment and first for bees and Wasp bite
स्वास्थ्य से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे