एक अध्ययन में पाया गया है कि कैंसर के मरीज यदि कम से कम तीन साल तक विटामिन डी का सेवन करें तो उनकी उम्र में कुछ साल का इजाफा हो सकता है। अमेरिका की मिशिगन स्टेट यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं का कहना है कि विटामिन डी से सिर्फ हड्डियां ही मजबूत नहीं होतीं, बल्कि कई अन्य अहम फायदे भी होते हैं। 

मिशिगन स्टेट यूनिवर्सिटी के तारिक हेयकल ने कहा, 'कैंसर से पीड़ित लोगों में मौत का जोखिम कम करने में विटामिन डी का महत्वपूर्ण प्रभाव होता है, लेकिन दुर्भाग्य से इस बात के सबूत नहीं दिखे कि इससे कैंसर से बचाव भी हो सकता है।' 

शोधकर्ताओं ने कई अध्ययनों में 79,000 से ज्यादा मरीजों से जुड़े आंकड़ों का अध्ययन किया। हालांकि, तारिक ने यह भी कहा कि अभी स्पष्ट नहीं हो पाया है कि विटामिन डी कैंसर मरीज की उम्र में कितने साल का इजाफा करता है और इसका नतीजा ऐसा क्यों होता है। उन्होंने कहा, 'अभी कई सवाल हैं और ज्यादा शोध करने की जरूरत है।'

भारत के 70 से 90 फीसदी लोग विटामिन डी की कमी का शिकार हैं। यह जानकारी एक नए अध्ययन में यह बात सामने आई है। इतना ही नहीं, देश में 84 फीसदी गर्भवती महिलाओं में विटामिन डी की कमी देखी गई है।

हड्डियों की मजबूती और बेहतर कामकाज के लिए विटामिन डी बहुत जरूरी है। विटामिन डी कमी के कारण फ्रैक्चर और हड्डियों की बीमारी ऑस्टियोपोरोसिस का खतरा बढ़ जाता है।

विटामिन डी की कमी से आपके शरीर में कई परिवर्तन आ सकते हैं जिसमें मुख्यतः मूड का बदलना, पाचन तंत्र खराब होना, लगातार वजन बढ़ना, हड्डियों में दर्द रहना और यौन स्वास्थ्य प्रभावित होना शामिल है।  

गर्भवती महिलाओं में विटामिन डी कमी का असर असर उनके नवजात शिशुओं में भी देखा जाता है। वयस्कों में, विटामिन डी की कमी लो बोन मास और मांसपेशियों की कमजोरी से जुड़ी होती है।

यह रिसर्च 1508 लोगों पर किया गया है। रिसर्चर्स के अनुसार मुंबई में 88% व्यस्क लोगों में विटामिन डी की कमी देखी गई है। उन्होंने यह भी बताया कि टाइप 2 डायबिटीज रोगियों में 84.2 प्रतिशत लोगों में विटामिन डी की कमी थी। जबकि विटामिन डी की कमी वाले हाई ब्लडप्रेशर के 82.6 प्रतिशत मरीज थे।

विटामिन-डी की कमी से होने वाली बीमारियां

शरीर में यदि विटामिन-डी का कमी हो जाए तो बॉडी जल्दी जल्दी बीमारियों की चपेट में आती है। ज़रा सा मौसम बदलते ही बीमार हो जाते हैं। हर समय थकान, कमजोरी महसूस होती है। बॉडी में कई जगह दर्द रहने लगता है, खासतौर से पीठ का दर्द। तनाव, डिप्रेशन, बालों का झड़ना भी विटामिन-डी की कमी से होता है।

विटामिन-डी के स्रोत

विटामिन डी की कमी पूरी करने के लिए आपको धूप लेनी चाहिए। इसके अलावा अपनी डाइट में सैल्मन मछली, मशरूम, ट्यूना मछली, मांस, अंडे, सलामी, दूध, संतरे का जूस, सोयाबीन, श्रिम्प (सी-फूड) और वैनिला योगर्ट जैसी चीजों को जरूर शामिल करें। 

आपको अपनी डाइट में सॉल्‍मन और टुना फिश शामिल करनी चाहिए। अगर आपको मछली खाना पसंद नहीं है तो आप अंडे भी खा सकते हैं। डेयरी प्रोडक्ट्स जैसे दूध से भी विटामिन डी की कमी पूरी हो जाती है। कॉड लिवर में भी विटामिन डी भरपूर मात्रा होता है। 

English summary :
Researchers studied data involving more than 79,000 patients in several studies. However, Tariq also said that it is not yet clear how many years Vitamin D increases the age of the cancer patient and why it results. He said, "There are many questions and more research is needed."


Web Title: Healthy diet tips : vitamin d foods and sources, eat vitamin d foods to prevent cancer and bone problems
स्वास्थ्य से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे