Highlightsस्वादिष्ट होने के साथ ये पौष्टिक गुण से भरपूर शरीर की गांठ से मिलेगा छुटकारापोषक तत्वों का भंडार है बथुआ

सर्दियों के मौसम में कई नए फल और सब्जियां बाजार में आ जाते हैं। विभिन्न पोषक तत्वों से भरपूर इन फल-सब्जियों के सेवन से कई मौसमी बीमारियों से बचने में मदद मिलती है। 

सर्दी में मिलने वाली इन सब्जियों में से एक बथुआ भी है। बताया जाता है कि स्वादिष्ट होने के साथ ये पौष्टिक गुण से भरपूर होती है। नियमित रूप से इसके सेवन से इम्यून सिस्टम को स्ट्रांग बनाने, खून की कमी से बचने, कैंसर और पथरी जैसी गंभीर बीमारी का इलाज करने में मदद मिल सकती है। 

शरीर की गांठ से मिलेगा छुटकारा
कई बार किसी वजह से शरीर में गांठ बनने लगती है, जो अक्सर किसी बड़ी बीमारी का रूप ले सकती है। ऐसा लक्षण दिखने या इससे बचने के लिए बथुआ बेहतर उपाय है। कई बार लीवर के अंदर भी गांठ हो जाती है। शरीर में कहीं भी गांठ हो, तो बथुए को तोड़कर जड़ सहित डब्बे में भरकर सुखाकर पाउडर बना लें। इस पाउडर को पानी में पकाएं और छानकर इस काढ़े को पियें। माना जाता है कि नियमित रूप से ऐसा करने से शरीर के अंदर की गांठ घुल जाएगी।

If You Have Long Had A Hard Knee, Pain And Swelling In The Body - शरीर में लंबे समय से सख्त गांठ, दर्द और सूजन तो सचेत हो जाएं | Patrika News

पोषक तत्वों का भंडार
सर्दी में बथुआ खाने के फायदे मेथी की तरह ही बथुआ भी सर्दियों में सबसे अधिक पाया जाता है। इसमें विटामिन-ए, फॉस्फोरस, पोटैशियम, आयरन आदि स्वास्थ्यवर्धक गुण होते हैं। बथुआ का साग सर्दियों में खाने से पेट संबंधी रोग कम हो जाते हैं।  

किडनी की पथरी के लिए बथुआ
अगर आपको किडनी की पथरी की समस्या है तो आपके लिए बथुआ बेहद लाभदायक है। इसके सेवन के लिए आप बथुआ के रस में शक्कर मिलाकर रोजाना सेवन करें। लगातार ऐसा करने से कुछ ही समय में ही पथरी पिघलकर यूरिन के रास्ते निकल सकती है। 

तेजी से ठीक होती है चोट और घाव
अगर आपको चोट लग गई है या काम करते हुए अचानक हाथ जल गया है तो भी बथुआ काम आएगा। इस स्थिति में आप बथुए का लेप बनाकर लगा लें। इससे जलन से आराम मिलेगा और चोट भी जल्दी ठीक हो सकती है।

इम्यून सिस्टम होता है मजबूत
सर्दी के मौसम में लोगों को कई तरह की शारीरिक परेशानियां हो जाती हैं क्योंकि इस मौसम में आपका इम्यून सिस्टम कमजोर हो जाता है। ऐसे में आप बथुए का सेवन करें। आपको शायद पता न हो लेकिन बथुए के सेवन से आपका इम्यून सिस्टम मजबूत होता है, जिससे आपको बैक्टीरियल इंफैक्शन से लड़ने में मदद मिलती है।

पाचन रहता है दुरुस्त
जिन लोगों को पाचन संबंधी परेशानियां होती हैं, जैसे कब्ज या एसिडिटी तो आपको बथुए के पत्तों का रस निकालकर पीना चाहिए। आप चाहें तो बथुए को पानी में उबालकर पी सकते हैं।

कैंसर का खतरा होता है कम
बताया जाता है कि नियमित रूप से बथुआ खाने से कैंसर होने की संभावना भी कम होती है। बथुए को 4-5 नीम की पत्तियों के रस के साथ खाया जाए तो खून अंदर से शुद्ध हो जाता है। साथ ही ब्लड सर्कुलेशन भी ठीक रहता है।

चर्म रोग के लिए अचूक उपाय
बथुए को उबालकर इसका रस पीने और सब्जी बनाकर खाने से चर्म रोग जैसे सफेद दाग, फोड़े-फुंसी, खुजली में भी आराम मिलता है। इसके अलावा बथुए के पत्तों को पीसकर इसका रस निकालें। अब 2 कप रस में आधा कप तिल का तेल मिलाएं और इसे धीमी आंच पर पकाएं। इसके पानी को पिएं।

Web Title: healthy diet tips during coronavirus and winter: include vitamin and calcium ric food Bathua or White goosefoot in your diet to boost immunity and fight covid, anemia, cancer, kidney stone and winter diseases

स्वास्थ्य से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे