Early signs and symptoms of breast cancer, causes and risk factors, diagnosis and prevention tips | होशियार! ब्रेस्ट कैंसर होने से पहले शरीर देता है 8 चेतावनी, नहीं दिया ध्यान तो जीवनभर होगा पछतावा
ब्रेस्ट कैंसर के लक्षण

ब्रेस्ट कैंसर महिलाओं में सबसे अधिक होने वाला कैंसर है, जो हर साल 2.1 मिलियन महिलाओं को प्रभावित करता है। यह महिलाओं में कैंसर से संबंधित सबसे बड़ी मौत का कारण भी है। वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन के अनुसार, साल 2018 में, यह अनुमान लगाया गया है कि ब्रेस्ट कैंसर की वजह से 627,000 महिलाओं की मौत हुई। 

ब्रेस्ट कैंसर में कैंसर सेल्स ब्रेस्ट के टिश्यूज में बनती हैं। ब्रेस्ट के सेल्स से शुरू होकर ब्रेस्ट कैंसर आसपास के टिश्यूज और पूरे शरीर में फैल सकता है। ऐसा माना जाता है कि हार्मोन, जीवनशैली और वातावरण के कुछ कारक ब्रेस्ट कैंसर के खतरे को बढ़ा सकते हैं। हालांकि शुरुआत में इसके लक्षणों को पहचान लिया जाए तो इलाज आसान होता है। हम आपको ब्रेस्ट कैंसर के कुछ शुरूआती संकेत और लक्षण बता रहे हैं, जिन्हें पहचानकर आपको इलाज में मदद मिल सकती है। 

1) स्तन या बगल में गांठ
अगर आपको स्तन या बगल में किसी तरह की गांठ महसूस हो रही है, तो यह ब्रेस्ट कैंसर का पहला लक्षण हो सकता है। इस तरह की गांठ में आमतौर पर दर्द नहीं होता है हालांकि आपको बेचैनी हो सकती है। इस तरह की गांठ आमतौर पर लंबे समय तक दिखाई दे सकती है। ऐसा महसूस होने पर आपको तुरंत डॉक्टर से मिलना चाहिए।

2) बगल या गले की हड्डी के पास सूजन 
आपकी बगल या गले की हड्डी के पास सूजन होना ब्रेस्ट कैंसर का लक्षण हो सकता है। यह इस बात का संकेत हो एकता है कि कैंसर इस हिस्से में लिम्फ नोड्स में फैल गया है। यह सूजन गांठ महसूस होने से पहले आ सकती है। इसलिए ऐसी सूजन होने पर तुरंत अपने डॉक्टर को बताएं। आपके स्तन में सूजन एक आक्रामक प्रकार के कैंसर का संकेत दे सकती है जिसे इंफ्लेमेटरी ब्रेस्ट कैंसर कहा जाता है।

3) आपके ब्रेस्ट में दर्द 
आमतौर ब्रेस्ट की गांठ दर्द रहित होती है। लेकिन अगर आपको हमेशा ब्रेस्ट में दर्द रहता है, तो आपको सतर्क हो जाना चाहिए। यह ब्रेस्ट कैंसर का संकेत हो सकता है। 

4) स्तनों का सपाट होना, या ज्यादा उभरना
आमतौर पर पीरियड्स शुरू होने से पहले स्तनों में थोड़ा भारीपन महसूस होता है लेकिन अगर अचानक स्तनों में सामान्य से अधिक भार महसूस होने लगे, तो सतर्क हो जाएं, क्योंकि यह एक ट्यूमर हो सकता है। इसी तरह स्तनों का सपाट होना भी खतरे की घंटी है।

5) स्तनों में बदलाव
ऐसा होने पर आपको अपने स्तन के आकार, बनावट या तापमान में अंतर महसूस हो सकता है। स्तनों के आसपास के हिस्से की त्वचा का नारंगी या लाल होना एडवांस ब्रेस्ट कैंसर का संकेत हो सकता है।

6) निप्पल में बदलाव होना
ब्रेस्ट कैंसर के लक्षणों में निप्पल में होने वाले बदलाव भी शामिल हैं। इसमें निप्पल का अंदर धंसना, कसावट खत्म होना, जला जैसा दिखना, खुजली होना, घाव बनना आदि शामिल हैं। 

7) निप्पल डिस्चार्ज
अगर आपके निप्पल से बेवजह डिस्चार्ज होता है, तो खतरे का संकेत हो सकता है। यह साफ, खूनी, या दूसरे किसी रंग का हो सकता है। ऐसा कई स्थितियों में होता है लेकिन यह कैंसर के कारण भी हो सकता है।

8) त्वचा के नीचे बदलाव
ब्रेस्ट कैंसर होने पर प्रभावित हिस्सा ब्रेस्ट के दूसरे हिस्से से अलग महसूस हो सकता है जिसमें रंग, आकार, दर्द या बेचैनी महसूस है। ऐसा होने पर आपको जितनी जल्दी हो सके डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

Web Title: Early signs and symptoms of breast cancer, causes and risk factors, diagnosis and prevention tips
स्वास्थ्य से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे