Highlightsहृदय संबंधी बीमारियों और दांतों के खराब होने का भी संबंध हैअगर मसूड़ों में सूजन आ जाए तो गर्म पानी में नमक डालकर कुल्ला करें

मोटापा, शिक्षा और व्यक्तित्व जैसे कई आनुवंशिक गुण और कारक दांतों के खराब होने और मसूड़ों की बीमारियों के लिए जिम्मेदार हो सकते हैं। इसका खुलासा एक अध्ययन से हुआ है। ब्रिटेन में यूनिवर्सिटी ऑफ ब्रिस्टल के अनुसंधानकर्ताओं ने कहा कि दो लोग जो एक जैसा खाना खाते हैं और अपने मुंह का ख्याल भी एक ही तरह से रखते हैं, उनमें भी दांतों की सड़न की बीमारी अलग-अलग हो सकती है लेकिन अनुसंधानकर्ता अभी तक इसके पीछे की वजह बताने में सक्षम नहीं थे। 

स्वीडन के उमिया यूनिवर्सिटी के ‘इंस्टीट्यूट ऑफ ओडोनोटोलॉजी’ के इंगेगर्ड जोनासन ने बताया, ‘‘इस अध्ययन से स्पष्ट पता चला है कि दांत भी हमारे शरीर का हिस्सा हैं। कई अन्य चीजों के साथ ही हम यह देख सकते हैं कि हृदय संबंधी बीमारियों और दांतों के खराब होने का भी संबंध है।’’

इसको लेकर पहले भी अनुसंधान हुए और उसमें यह भी सामने आया की इसमें जीन शामिल हो सकते हैं लेकिन किसी की भी पुष्टि नहीं हो पाई थी। ये बीमारियां बहुत पेचीदा होती हैं और इस संबंध को समझने के लिए बड़े अनुसंधान की जरूरत होती है।

 

मौजूदा अध्ययन ‘नेचर कम्युनिकेशन’ में प्रकाशित हुआ है और इसमें नौ अंतरराष्ट्रीय क्लिनिकल अध्ययन के आंकड़े हैं। इस अध्ययन में 62,000 लोगों ने हिस्सा लिया था। इस अनुसंधान 47 नए जीन की पहचान की गई जो दांतों के खराब होने से जुड़े हुए थे।  

दांत में कीड़े लगने के अन्य कारण

ज्यादा मीठा खाने से, दांत की सफाई ठीक से न करना, गुटखा या पान खाना, खट्टी डकार से दांतों का हानि पहुंचना, पौष्टिक पदार्थो का सेवन न करना, मुंह को ज्यादा देर तक सूखा रखना इसके प्रमुख कारण हैं।

दांत में होने वाले दर्द से राहत के लिए घरेलू उपाय

1) नमक का पानी

दर्द के कारण अगर मसूड़ों में सूजन आ जाए तो पानी को हल्का गुनगुना करके उसमें नमक डालकर कुल्ला करें। ज्यादा गर्म और ज्यादा ठंडे पानी का कभी प्रयोग नहीं करना चाहिए।

2) हींग

जब भी दांत में दर्द हो, हींग का इस्तेमाल करने से इस दर्द से तुरंत राहत मिलती है। चुटकी भर हींग लेकर मौसंबी के रस में मिलाकर उसे रूई में लेकर दांत के पास रखिए। दांत दर्द के निवारण के लिए हींग को सरल एवं कारगर माना जाता है।

3) लौंग

ऐसा माना जाता है कि लौंग में कई ऐसे औषधीय गुण होते हैं, जो कीटाणुओं को खत्म कर सकते हैं। लौंग के उपयोग से बैक्टीरिया एवं अन्य कीटाणु समाप्त होते हैं। अगर दांत में दर्द हो रहा हो तो लौंग को उसके नीचे रखिए तो आपको दांत के दर्द से तुरंत राहत मिलेगी।

4) प्याज

प्याज दांत दर्द के लिए एक उत्तम घरेलू उपचार है। जो हर रोज खाने में कच्चे प्याज का सेवन करता है उनको दांत दर्द की शिकायत कम ही होती है क्योंकि प्याज में ऐसे गुण होते हैं जो मुंह के कीटाणुओं और जीवाणुओं को समाप्त करता है।

5) लहसुन

लहसुन दांत दर्द में बहुत आराम पहुंचाता है। लहसुन में एंटीबॉयोटिक गुण होते हैं जिसे खाने से कई प्रकार के दांतों के संक्रमण नहीं होते। लहसुन में एलीसिन होता है जो दांतों के पास से बैक्टीरिया, जर्म्स और जीवाणुओं को समाप्त कर दांतो को स्वस्थ और मजबूत बनाता है। अगर दांत में दर्द हो रहा हो तो लहसुन की एक कली को दांत के नीचे रखिए इससे दांत का दर्द कम हो जाता है।

6) नीम

नीम के प्रयोग से आप अपने दांत का दर्द एक दम से ठीक कर सकता है और आप दांत में लगे कीड़े का उपचार कर सकते है। इसके लिए आपको रोज सुबह नीम का दातून करना चाहिए क्योंकि नीम में एंटीबक्ट्रियल गुण पाया जाता है जिससे दांत में लगे कीड़े धीरे-धीरे मरने लगते हैं। ऐसा करने से आपको बहुत फायदा होगा।

(समाचार एजेंसी भाषा के इनपुट के साथ) 

Web Title: Dental care tips : causes of teeth related problems and home remedies, prevention tips and food list for toothache
स्वास्थ्य से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे