COVID prevention: वैज्ञानिकों का नए अध्ययन में दावा, कोरोना की रोकथाम के लिए टीके से भी ज्यादा असरदार है यह खास उपाय

By उस्मान | Published: November 20, 2021 01:04 PM2021-11-20T13:04:20+5:302021-11-20T13:06:33+5:30

ब्रिटिश मेडिकल जर्नल (बीएमजे) में प्रकाशित विश्लेषण में पाया गया है कि कोरोना से बचाव के लिए वैक्सीन से से बेहतर उपकरण मास्क पहनना है

COVID prevention: researcher claim, aside from vaccination, mask-wearing seems the most effective tool for combating COVID-19 | COVID prevention: वैज्ञानिकों का नए अध्ययन में दावा, कोरोना की रोकथाम के लिए टीके से भी ज्यादा असरदार है यह खास उपाय

कोरोना से बचाव के उपाय

Next
Highlightsमास्क पहनना कोरोना से बचाव का बेहतर तरीकाब्रिटिश मेडिकल जर्नल (बीएमजे) में प्रकाशित विश्लेषण में दावाकोरोना के मामले कम हुए लेकिन खतरा अभी टला नहीं

कोरोना के मामले बेशक कम हो गए हैं लेकिन इसका खतरा अभी टला नहीं है। भारत में भले ही नए मामलों में कमी देखी जा रही है लेकिन जापान और यूरोप के कुछ देशों में मामले फिर बढ़ रहे हैं।

कोरोना के खिलाफ टीकाकरण भी जारी है जिसे वायरस के खिलाफ बड़ा हथियार माना जा रहा है लेकिन वैज्ञानिकों को अभी भी लगता है कि कोरोना से बचाव में मस्स्क पहनने से ज्यादा असरदार कुछ नहीं है।

एक बड़े वैश्विक विश्लेषण के अनुसार, मास्क पहनना कोरोना वायरस का मुकाबला करने के लिए सबसे प्रभावी सार्वजनिक स्वास्थ्य उपाय है। अध्ययन में पाया गया है की इससे कोरोना के मामलों में 53% की कमी आई है।

ब्रिटिश मेडिकल जर्नल (बीएमजे) में प्रकाशित विश्लेषण के अनुसार, हाथ धोने और शारीरिक दूरी बनाए रखने से कोविड-19 के नए मामलों की संख्या में भी कमी आ सकती है। शोधकर्ताओं के मानना है कि मास्क पहनने को कोरोना से बचाव के लिए सबसे बेहतर उपाय माना जाता है।

यूके, ऑस्ट्रेलिया और चीन के वैज्ञानिकों ने दुनियाभर से 70 से अधिक प्रकाशित अध्ययनों का विश्लेषण किया। उन्होंने पाया कि कोरोना होने वाले लोगों को रोकने के लिए टीके अत्यधिक प्रभावी साबित हुए हैं, लेकिन अन्य सार्वजनिक स्वास्थ्य उपायों के प्रभाव कम स्पष्ट हैं।

वैज्ञानिकों ने कहा कि वे क्वारंटाइन और आइसोलेशन, लॉकडाउन, और सीमाओं, स्कूलों और कार्यस्थलों को बंद करने जैसे उपायों की प्रभावशीलता के बारे में दृढ़ निष्कर्ष निकालने में असमर्थ थे, क्योंकि अध्ययन इतने विविध थे।

भारत में कोविड-19 के 10,302 नए मामले, उपचाराधीन मरीजों की संख्या घटी

भारत में एक दिन में कोविड-19 के 10,302 नए मामले आने से संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 3,44,99,925 पर पहुंच गयी जबकि इस अवधि के दौरान उपचाराधीन मरीजों की संख्या कम होकर 1,24,868 रह गयी है। 

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, 267 और मरीजों के जान गंवाने से मृतकों की संख्या बढ़कर 4,65,349 हो गयी है। पिछले 24 घंटों में उपचाराधीन मरीजों की संख्या में 1,752 मामलों की कमी आयी है और यह संक्रमण के कुल मामलों का 0.36 प्रतिशत है जो मार्च 2020 के बाद से सबसे कम है। 

कोविड-19 से स्वस्थ होने वाले लोगों की राष्ट्रीय दर 98.29 प्रतिशत है जो पिछले साल मार्च के बाद से सबसे अधिक है। आंकड़ों के मुताबिक, कोरोना वायरस के रोज आने वाले नए मामले लगातार 43वें दिन 20,000 से कम और लगातार 146वें दिन 50,000 से कम है। दैनिक संक्रमण दर 0.96 प्रतिशत दर्ज की गयी, जो पिछले 47 दिनों से दो प्रतिशत से कम है। 

साप्ताहिक संक्रमण दर 0.93 फीसदी दर्ज की गयी और यह पिछले 57 दिनों से दो प्रतिशत से कम है। इस बीमारी से स्वस्थ होने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 3,39,09,708 हो गयी है जबकि मृत्यु दर 1.35 प्रतिशत है। अभी तक देशव्यापी कोविड-19 रोधी टीकाकरण अभियान के तहत 115.79 करोड़ से अधिक खुराक दी गयी है।

Web Title: COVID prevention: researcher claim, aside from vaccination, mask-wearing seems the most effective tool for combating COVID-19

स्वास्थ्य से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे