Highlightsएक्सपर्ट्स मानते हैं कि कोरोना के हल्के लक्षणों का घर में इलाज संभव5 दिनों तक लक्षणों पर ध्यान देना जरूरी कुछ लोग जल्दी रिकवर हो जाते हैं जबकि कुछ को समय लगता है

कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच अधिकतर लोगों के मन में यह चल डर पैदा हो गया है कि अगर कोई कोरोना पॉजिटिव हो गया है तो क्या होगा? कोई इलाज या कोई टीका नहीं होने से कोरोना के उपचार के विकल्प क्या हैं? जाहिर है यह सवाल फिलाहल सबसे दिमाग में चल रहे हैं। हम आपको इन सवालों के जवाब दे रहे हैं। 

सबसे पहले अलग हो जायें 
यदि आप कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं, तो आपको सबसे पहले अपने घर में आइसोलेट हो जाना चाहिए। इसके बाद अपने जानने वाले डॉक्टर से सलाह और जानकारी लें कि आपको ऐसा कब तक करना है।

यदि आप कोविड-19 वाले अधिकांश लोगों की तरह हैं, तो आपको क्लिनिक या अस्पताल जाने की आवश्यकता नहीं होगी और आप घर पर बीमारी का इलाज कर सकते हैं। अगर आपके हल्के लक्षण हैं तो आप कुछ दवाओं के साथ उन्हें ठीक कर सकते हैं। अगर लक्षण गंभीर हैं तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

प्रारंभ में, आप फ्लू जैसे लक्षण अनुभव कर सकते हैं जैसे कि खांसी, गले में खराश, बुखार, दर्द, दर्द और सिरदर्द। आप अस्थायी रूप से गंध और स्वाद की अपनी भावना खो सकते हैं। कम आम लक्षणों में मतली, उल्टी और दस्त शामिल हैं। आपके जो भी लक्षण हैं इसके लिए आपको तरल पदार्थ और पेरासिटामोल की आवश्यकता होगी।

5 दिनों तक लक्षणों पर ध्यान दें
इस बात पर विशेष ध्यान दें कि आप दिन के पांच दिन से कैसा महसूस कर रहे हैं, क्योंकि यही वह समय है जब कुछ लोगों की तबीयत काफी बिगड़ने लगती है। लगभग 20% लोग इस श्रेणी में आते हैं। 

अगर कोई पुरानी बीमारी से पीड़ित हैं तो ऐसी स्थिति में आपको अस्पताल में भर्ती होना पड़ सकता है। अगर आपको इन दिनों ज्यादा थकान, सांस लेने में कठिनाई महसूस कर रहे हैं, तो सतर्क हो जाएं। ऐसे में आपको तुरंत एम्बुलेंस के लिए कॉल करनी चाहिए।

अगर तबीयत ज्यादा खराब होने लगे तो क्या करें
यदि आपको अस्पताल ले जाया जाता है, तो डॉक्टर आपके ऑक्सीजन के स्तर को मापेंगे और यह निर्धारित करने के लिए छाती का एक्स-रे और रक्त परीक्षण करेंगे कि क्या आपको निमोनिया है तो नहीं है। यदि निमोनिया, ऑक्सीजन का कम स्तर या गंभीर संक्रमण के अन्य लक्षण पाए जाते हैं, तो आपको अस्पताल में रहने की आवश्यकता होगी और ऑक्सीजन दी जाएगी। 

ठीक होने में कितना समय लगेगा
गंभीर स्थिति में अस्पताल में आपको अन्य रोगों के लिए इस्तेमाल होने वाली दवाएं दी जा सकती हैं। ऐसी स्थिति में आपका ठीक होना कई कारकों पर निर्भर करता है, जिसमें आपके पिछले स्वास्थ्य और फिटनेस शामिल हैं और आप कोरोना से कितने बीमार हो गए हैं। कुछ लोग जल्दी रिकवर हो जाते हैं जबकि कुछ लोगों को लंबे समय तक लक्षण रहते हैं जिनमें थकान, सांस की तकलीफ और छाती में दर्द शामिल हैं।

देश में कोविड-19 के संक्रमितों की संख्या 19 लाख के पार

देश में कोविड-19 के संक्रमितों की संख्या 19 लाख के पार पहुंच गयी। देश में दो दिन में मामले 18 लाख से 19 लाख के पार पहुंच गए। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि देश में अब तक 12,82,215 लोग इस संक्रमण से ठीक हो चुके हैं। देश में कोविड-19 के संक्रमित मरीजों की संख्या अब 19,08,254 हो गयी है। वहीं पिछले 24 घंटे में 857 और लोगों की जान जाने के बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 39,795 हो गई है। 

आंकड़ों के अनुसार कोविड-19 के मरीजों के ठीक होने की दर देश में 67.19 प्रतिशत है वहीं दूसरी ओर मृत्यु दर में गिरावट दर्ज की गयी है और अब यह 2.09 प्रतिशत है। कुल मामलों में से 5,86,244 मरीजों का उपचार चल रहा है, जो कुल मामलों का 30.72 प्रतिशत है। कुल मामलों में देश में संक्रमित पाए गए विदेशी नागरिक भी शामिल हैं। देश में लगातार सातवें दिन कोविड-19 के 50,000 से अधिक मामले सामने आए हैं।

English summary :
Easy Home tips for Corona Positive Patient: covid-19, you will not need to go to a clinic or hospital and you can treat the disease at home. If you have mild symptoms you can correct them with some medicines. If symptoms are severe, contact your doctor immediately.


Web Title: Coronavirus treatment: what happens if any body test positive, what are treatment options and vaccine of covid-19, how treat coronavirus at home
स्वास्थ्य से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे