पेट की मरोड़ का घरेलू इलाज : बारिश के मौसम पेट खराब होने पर आजमाएं ये 8 उपाय, जल्दी मिल सकती है राहत

By उस्मान | Published: July 29, 2021 04:11 PM2021-07-29T16:11:55+5:302021-07-29T16:19:45+5:30

बारिश के मौसम पेट इम्यून सिस्टम कमजोर होने से पेट खराब होने का अधिक खतरा होता है

8 best and effective home remedies for abdominal cramps, loose motion and diarrhea in Hindi | पेट की मरोड़ का घरेलू इलाज : बारिश के मौसम पेट खराब होने पर आजमाएं ये 8 उपाय, जल्दी मिल सकती है राहत

पेट की मरोड़ का इलाज

Next
Highlightsबारिश के मौसम पेट इम्यून सिस्टम कमजोर होने से पेट खराब होने का अधिक खतरा होता हैपेट को स्वस्थ रखना और पाचन को मजबूत बनाना जरूरीघर में मौजूद हैं पाचन को दुरुस्त रखने के सरल उपाय

बारिश के मौसम में पेट की समस्याओं का अधिक खतरा होता है। इस मौसम में खाने-पीने से जुड़ी थोड़ी भी लापरवाही पे खराब कर सकती है। पेट से जुड़ी ऐसी ही एक समस्या से इन दिनों अधिकतर लोग परेशान रहते हैं जिसे मरोड़ कहते हैं। 

कई बार पेट में मरोड़ उठने लगती है जो काफी परेशान करती है। ऐसा होने से पेट में दर्द होने लगता है। अगर इसके साथ दस्त हो जाए तो मुश्किल और ज्यादा बढ़ सकती है। ऐसा माना जाता है की बदहजमी भी इसका एक प्रमुख कारण है। 

वैसे खराब खानपान की वजह से आपको पेट की गैस, अपच, एसिडिटी, कब्ज, पेट का फ्लू, फूड पॉइजनिंग का भी सामना करना पड़ सकता है। ऐसी स्थिति में आपको तुरंत डॉक्टर से मिलना चाहिए। 

पेट में मरोड़ होने के कारण

पेट में मरोड़ उठने के बहुत से कारण हो सकते है जैसे खराब खाना, फूड पॉइजनिंग, दस्त लगना, बिना पक्का हुआ कच्चा खाना खाने से। इन बातों का ख्याल रख कर पेट में मरोड़ का इलाज कर सकते है।

आपको नबाता दें कि लंबे समय तक पतले दस्त रहने पर शरीर में पानी की कमी होने लगती है जिससे बॉडी में डिहाइड्रेशन होने लगती है। इस समस्या से बचने के लिए जरूरी है  कि पर्याप्त मात्रा में पानी पीते रहे। हम आपको बता रहे हैं कि दस्त और मरोड़ से छुटकारा पाने के कुछ सरल घरेलू उपाय बता रहे हैं। 

पेट में मरोड़ के लिए घरेलू उपाय

मेथी के बीज
मेथी पाचन के लिए फायदेमंद होती है और इसमें फाइबर की मात्रा भी खूब होती है इसलिए ये पेट की मरोड़ में फायदेमंद होती है। इसके लिए एक कटोरी में दही लेकर उसमे मेथी के दानों को पीसकर अच्छी तरह मिला लें। स्वाद के लिए थोड़ा सा काला नमक भी डाल सकते हैं। इस दही का सेवन करने से पेट की मरोड़ में लाभ मिलेगा।

मूली
मूली का प्रयोग मूली भी पेट में मरोड़ उठने पर फायदेमंद होती है। इसके लिए मूली को अच्छी तरह धुलकर छील लें और फिर छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लें। अब इन टुकड़ों पर थोड़ा सा काला नमक या सेंधा नमक डालें और काली मिर्च छिड़क लें। इसे खाने से थोड़ी देर में ही पेट दर्द से आराम मिलेगा।

नींबू का पानी
इस समस्या से बचने के लिए जरुरी है की प्रयाप्त मात्रा में पानी पीते रहे। इसके इलावा नींबू पानी और ओआरएस का घोल पिने से भी डायरिया में राहत मिलती है। शरीर में पानी की कमी पूरा करने और दस्त से छुटकारा पाने के लिए ये जानना भी जरुरी है की दस्त लगने पर क्या करे और क्या खाये।

हींग
पेट में होने वाली मरोड़ के लिए हींग भी एक बेहतर उपाय है। इसके लिए दो ग्राम हींग को पीस लें और आधी ग्लास पानी के साथ इसे निगल लें। छोटे बच्चों को चम्मच से पिलाकर हींग का लेप नाभि पर करें। ऐसा करने से पेट में मरोड़ शांत हो जाती है।

दही और केला 
पेट दर्द में दही का इस्तेमाल काफी फायदेमंद रहता है। दही में मौजूद बैक्टीरिया संतुलन बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। जिससे पेट जल्दी ठीक होता है। केला केले में मौजूद पेक्टिन पेट को बांधने का काम करता है। इसमें मौजूद पोटै‍शियम की उच्च मात्रा भी शरीर के लिए फायदेमंद होती है। इस समस्या से राहत पाने के लिए आप काले नमक के साथ केले का सेवन कर सकते हैं।

ईसबगोल
ईसबगोल न सिर्फ दर्द बल्कि दस्त में भी राहत दिलाता है और ये आंतों की अच्छे से सफाई कर देता है। इसके लिए एक कटोरी दही में दो चम्मच ईसबगोल मिलाकर खाएं या किसी मिठाई को तोड़कर उसमें ईसबगोल मिला लें और खा लें।

अजवाइन
अजवाइन पेट की मरोड़ और एसिडिटी को ठीक करती है। इसके सेवन से पेट की लगभग सभी बीमारियों में लाभ मिलता है। पेट में मरोड़ के लिए तवे पर अजवाइन भून लें। इसके बाद आप इसमें सेंधा नमक या काला नमक डालकर तीन ग्राम की मात्रा में पानी के साथ सेवन करें। दिन में दो बार पीने से पेट में मरोड़ एकदम ठीक हो जाएगी।

सौंफ 
खाना खाने के बाद सौंफ को मिश्री के साथ मिलाकर खाया जाता है। सौंफ खाना पचाने में सहायक होता है। इसमें कई पोषक होते हैं जो दर्द को दूर करने में लाभकारी होताे हैं। इसलिए अपच के कारण होने वाले दर्द को दूर करने में सौंफ के बीज सहायक होते हैं। पेट में दर्द यो ऐंठन होने पर, एक कप पानी में एक चम्मच पिसे हुए सौंफ के बीज डालकर उसे 10 मिनट तक उबालें। फिर उसे ठंडा होने के लिए रख दें। जब मिश्रण ठंडा हो जाए तो उसे छान लें और उसमें शहद मिलाकर पिएं। इससे आपको काफी आराम मिलेगा। 

Web Title: 8 best and effective home remedies for abdominal cramps, loose motion and diarrhea in Hindi

स्वास्थ्य से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे